हिंदी दिवस पर शायरी | Shayari on Hindi Diwas

Shayari on Hindi Diwas

हिन्दी दिवस प्रत्येक वर्ष 14 सितम्बर को मनाया जाता है, एक प्रश्न हमे ख़ुद से करनी चाहिए. क्या हिंदी भाषा और हिंदी बोलने पर आप गर्व करते हैं? अग्रेजी सीखने की ललक और न सीख पाने की लज्जा से तुलना की जाय तो हिंदी काफी पीछे दिखाई देती हैं. आगे बढ़ने की पहली शर्त होती हैं अपने कमियों को मानना और उसमें सुधार करना. जिस भाषा के पास तुलसीदास, सूरदास और अन्य महान कवि हो, उस भाषा की शक्ति का पता उनकी रचनाओं को पढ़कर आप लगा सकते हैं.

अब हम हॉलीवुड की मूवी को हिंदी में देख सकते हैं इसका मुख्य कारण यह है कि विदेशी लोगो को भी पता हैं यदि भारत में बिज़नस को एक नये आयाम पर ले जाना हैं तो हिंदी भाषा को हमें अपने बिज़नस के साथ मिलाना होगा. गूगल जैसे अन्य बड़ी कंपनी भी हिंदी भाषा को बढ़ावा देने के लिए नए-नए कदम उठा रही हैं और अपनी पहुँच उन लोगो तक बना रही हैं जो लोग केवल हिंदी जाते हैं.

बहत से ऐसे लोग है जो अपनी अच्छी हिंदी के बल पर काफी लोकप्रियता पायी हैं जैसे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद मोदी जी, कुमार विश्वास जी – हिंदी कवी और कपिल मिश्रा शायद आप इस सब नामो को जरूर जानते होंगे.

हमें अपने भाषा का सम्मान करना चाहिए और इसके प्रति खुद को और दूसरो को भी जागरूक करना चाहिए. इस पोस्ट में नीचे कुछ हिंदी दिवस पर शायरी दिया गया हैं इसे आप अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे.

हिंदी दिवस शायरी | Hindi Diwas Shayari

निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल,
बिन निज भाषा-ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल.

New Shayari on Hindi Diwas

हिंदी मेरा ईमान हैं, हिंदी मेरी पहचान हैं,
हिंदी हूँ मैं, वतन भी मेरा प्यारा हिन्दुस्तान हैं.

हिन्दुस्तानी हैं हम गर्व करो हिंदी भाषा पर,
सम्मान देना और दिलाना दायित्व हैं हम पर.

एकता ही है देश का बल,
जरूरी हिं हिंदी का संबल.

होठ खामोश थे सिसकियाँ कह गयी,
द्वार बंद थे खिड़कियाँ कह गयी,
कुछ हमने कहा कुछ हिंदी कह गयी,
जो न कह पायें वो हिचकियाँ कह गयी.

वक्ताओं की ताकत भाषा,
लेखक का अभिमान हैं भाषा,
भाषाओं के शीर्ष पर बैठी,
मेरी प्यारी हिंदी भाषा.

अंग्रेजी पढ़ि के जदपि, सब गुन होत प्रवीन,
पर निज भाषा-ज्ञान बिन, रहत हीन के हीन.

आज स्याही से लिख दो तुम अपनी पहचान,
हिंदी हो तुम, हिंदी से सीखो करना प्यार.

Best Shayari on Hindi

हिंदी और हिन्दुस्तान हमारा हैं और हम इसकी शान हैं,
दिल हमारा एक हैं और एक हमारे जान हैं.
हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

हिंदी हमारी मातृभाषा हैं, मात्र एक भाषा नही
हिंदी दिवस की शुभकामनाएँ

एकता की जान है,
हिंदी भारत की शान हैं.