Hindi Diwas Slogans | हिंदी दिवस स्लोगन्स

Hindi Diwas Slogans

Hindi Diwas Slogans in Hindi ( 14 September ) – हिंदी दिवस हर साल 14 सितम्बर को मनाया जाता हैं. 14 सितम्बर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से यह निर्णय लिया कि हिंदी ही भारत की राष्ट्रभाषा (राजभाषा) होगी. इसी महत्वपूर्ण निर्णय के महत्व को प्रतिपादित करने तथा हिन्दी को हर क्षेत्र में प्रसारित करने के लिये राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर वर्ष 1953 से पूरे भारत में 14 सितम्बर को प्रतिवर्ष हिन्दी-दिवस (Hindi Diwas) के रूप में मनाया जाता है. वर्ष 1918 में महात्मा गांधी जी ने हिन्दी साहित्य सम्मेलन में हिन्दी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने को कहा था. इसे गांधी जी ने जनमानस की भाषा भी कहा था.

इस पोस्ट में आपको Hindi Diwas पर बेहतरीन स्लोगन्स दिए गये हैं. इन स्लोगन्स को जरूर पढ़े और इसे फेसबुक और ट्विटर पर शेयर करें . इन स्लोगन्स को अपना व्हाट्सऐप स्टेटस जरूर बनाएं.

Best Hindi Diwas Slogans | बेस्ट हिंदी दिवस स्लोगन्स

हिंदी प्रेम की है भाषा,
यहीं है इसकी परिभाषा.


जो स्थान बिंदी का है,
वही स्थान भाषाओँ में हिंदी का हैं.


जब तक सूरज चाँद रहेगा,
हिंदी का दिल में सम्मान रहेगा.


हिंदी, हिंदी, हिंदी,
भारत माँ की बिंदी.


भारत की आशा हैं,
हिंदी दिल की भाषा हैं.


हिंदी हमारी सांस हैं,
क्योंकि इसमें एहसास हैं.


हिंदी होठों की शान हैं,
हमारे दिल का अभिमान हैं.


इंग्लिश तो केवल आशा हैं,
हिंदी तो राष्ट्र्भाषा हैं.


हिंदी मेरी आन हैं,
हिंदी में मेरे प्राण हैं.


हिंदी है तो आजादी हैं,
हिंदी के बिना सब बर्बादी हैं.


हर भाषा में कुछ न कुछ सार हैं,
पर हमको तो सिर्फ़ हिंदी से प्यार हैं.


विश्व के पटल पर हिंदी को पहुँचाओ,
इसकी पहचान पूरी दुनिया में बनाओ.


भारत की शान हैं,
हिंदी से हिन्दुस्तान हैं.


हम सभी भाषाओँ का करते सम्मान हैं,
पर हिंदी का थोड़ा अधिक मान हैं.


भाषा ज्ञान का सूचक नहीं,
हिंदी बोलने में कोई शर्म नहीं.


अंग्रेजी को मात दो,
हिंदी का साथ दो.


हिंदी को सम्मान दिलाना हैं,
उन्नति की राह ले जाना हैं.


हिंदी का सम्मान,
भारत का सम्मान.


आप क्यों परेशान हैं,
हिंदी तो आसान हैं.


हिंदी मेरे दिल का अरमान हैं,
हिंदी मेरे होठों की शान हैं.


हिंदी का बात तो निराली हैं,
हिंदी से ही दिल में हरियाली हैं.


हिंदी मेरा अभिमान हैं,
हिंदी मेरे चेहरे की मुस्कान हैं.


स्वतंत्रता कहाँ तक हैं,
हिंदी जहाँ तक हैं.


हिंदी मेरा ईमान हैं,
हिंदी मेरा पहचान हैं.


हिंदी हम सब की है शान,
हिंदी अपनाकर तुम बनों महान


इसे भी पढ़े –