Hindi Diwas 2020 – Interesting Facts About Hindi Language in Hindi

Interesting Facts About Hindi Language in Hindi

Hindi Diwas 2020 : Interesting Facts About Hindi Language in Hindi – 14 सितम्बर को प्रतिवर्ष ‘हिंदी दिवस’ मनाया जाता है, लेकिन मुझे कोई ऐसा विशेष कार्यक्रम नजर नही आता है जिससे हिंदी भाषा का विकास हो सके. सरकार की उदासीनता का पता आप इससे लगा सकते है कि ट्विटर पर हिंदी दिवस की बधाई देने के सिवा, कुछ कहने के लिए होता ही नही है. अगर नेताओं, स्कूल में हिंदी के अध्यपकों और बड़े सरकारी अफसर को शुद्ध हिंदी में 10 मिनट तक बोलने के लिए कह दिया जाए तो शायद गिने-चुने लोग बोल सके.

हिंदी भाषा के भविष्य को लेकर सरकार और युवा को जागना होगा क्योंकि हिंदी की अस्मिता खतरे में है. कई हिंदी शब्दों की जगह को अंग्रेजी शब्दों ने लिए है. कई हिंदी शब्द तो विलुप्त से हो गये है. लोगो को अंग्रेजी शब्द तो पता होता है मगर हिंदी नही. जागरूक बने हिंदी ब्लॉग, हिंदी समाचार पत्र, हिंदी पत्र-पत्रिकाओं को पढ़े. बच्चों को हिंदी पढ़ने, सीखने, बोलने के लिए प्रोत्साहित करें.

Interesting Facts About Hindi Language in Hindi

फिलहाल तो ये राजकाज है चलता रहता है. इस आर्टिकल में “हिंदी दिवस” के शुभ अवसर पर हिंदी भाषा के बारें में कुछ रोचक तथ्य दिए हुए है. इन्हें जरूर पढ़े. आशा करता हूँ आपको पसंद आयेंगे.

शुद्ध हिंदी कितने लोग बोलते है?

क्या आपने कभी सोचा है कि पूरी दुनिया में कितने लोग शुद्ध हिंदी बोलते है? मेरा यह अनुमानित आकड़ा है कि पूरे विश्व में लगभग 1% या अपवाद मात्र के बराबर लोग होंगे जो शुद्ध हिंदी बोलते होंगे. ज्यादातर लोग हिंदी भाषा के साथ अंग्रेजी, उर्दू, फ़ारसी, अवधी, भोजपुरी आदि भाषा को मिलाकर बोलते है.

क्या आपने शुद्ध हिंदी में कोई गाना सुना है?

हिंदी दिवस‘ के शुभ अवसर पर सुनिए फिल्म “हम तुम और वो” का गाना “प्रिये प्राणेश्वरी” किशोर कुमार की आवाज में. यह गाना शुद्ध हिंदी में है. यह काफी पुराना है पर आपको सुनकर मजा आ जायेगा. गाने को आप नीचे विडियो में सुन सकते है.

Video Credityoutube.com/Ultra Bollywood

विश्व हिन्दी दिवस

विश्व हिन्दी दिवस ( World Hindi Day ) हर साल 10 जनवरी को मनाया जाता है. जिसका मुख्य उद्देश्य पूरी दुनिया में हिन्दी भाषा का प्रचार-प्रसार करने के लिये जागरूकता बढ़ाना और हिन्दी को अन्तरराष्ट्रीय भाषा के रूप में पेश करना है. विश्व हिन्दी सम्मेलन हिन्दी भाषा का सबसे बड़ा अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन है, जिसमें विश्व भर से हिन्दी विद्वान, साहित्यकार, पत्रकार, भाषा विज्ञानी, विषय विशेषज्ञ तथा हिन्दी प्रेमी एकत्रित होते है. पहला विश्व हिन्दी सम्मेलन 10 जनवरी से 14 जनवरी, 1975 तक नागपुर में आयोजित किया गया.

विदेशों में प्रकाशित हिंदी पत्र-पत्रिकाएं

विदेशों में रहने वाले भारतीय अपनी मिट्टी और हिंदी भाषा से जुड़े रहने के लिए विदेश में प्रकाशित हिंदी पत्रिकाओं में अपने विचारों की अभिव्यक्ति करते है. भिन्न-भिन्न देशों में निकलने वाली पत्र-पत्रिकाएं इसका प्रमाण है.

  • भारत दर्शन – न्यूजीलैण्ड से प्रकाशित हिन्दी साहित्यिक पत्रिका है.
  • सरस्वती पत्र – कनाडा से प्रकाशित होती है.
  • अन्यथा – अमेरिका स्थित भारत के मित्रों द्वारा प्रकाशित किया जाता है.
  • अभिव्यक्ति़ – संयुक्त अरब अमीरात से प्रकाशित
  • और भी कई देशों में हिंदी पत्र-पत्रिकाएं प्रकाशित की जाती है.

हिंदी और अंग्रेजी को मिलाकर क्यों बोलते है?

लोग शुद्ध हिंदी बोलने की जगह हिंदी और अंग्रेजी को मिलाकर बोलना ज्यादा पसंद करते है. स्कूल में छात्र हिंदी पढ़ाने पर भी नही सीख पा रहे है और हिंगलिश बिना पढ़ाये ही सीखे जा रहे है.

हिंदी दिवस के अन्य रोचक तथ्य

  • बोलने वालों की संख्या के अनुसार अंग्रेजी और चीनी भाषा के बाद हिन्दी भाषा पूरे विश्व में तीसरी सबसे बड़ी भाषा है.
  • पूरे विश्व में 150 देश ऐसे है, जहाँ हिंदी बोलने वाले लोग रहते है.
  • विश्व हिन्दी सचिवालय मॉरीसस के मोका गाँव में स्थित है. यह सचिवालय 11 फरवरी, 2008 से औपचारिक रूप से कार्यरत है.
  • भारत में लगभर 56 करोड़ लोग ऐसे है जो हिंदी को मुख्य या दूसरी भाषा के रूप में इस्तेमाल करते है.
  • हिंदी के विकास में Google का योगदान महत्वपूर्ण है. क्षेत्रीय भाषाओ को गूगल काफी बढ़ावा देता है.

आलोचना

अगर हकीकत में सच्चाई के साथ कहा जाएँ तो “हिंदी दिवस” मनाने से हिंदी भाषा का कोई विकास नही होता है. मैंने बहुत से लोगों को “हिंदी दिवस” की शुभकामनाएँ अंग्रेजी में देते हुए देखा है. यह तो मात्र हिंदी भाषा का उपहास है. सरकार केवल दिखावा करती है, क्योंकि सरकारी ऑफिस में भी अधिक्तर कार्य अंग्रेजी में होते है.

इसे भी पढ़े –