हिंदी दिवस (Hindi Divas)

Hindi Divas

14 सितम्बर को हर वर्ष “हिंदी दिवस” के रूप में मनाया जाता हैं. 14 सितम्बर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से हिंदी को भारत की राजभाषा घोषित किया. राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा के आग्रह पर 1953 से सम्पूर्ण भारत में 14 सितम्बर को हर साल हिंदी दिवस के रूप में याद करते हैं. हिंदी दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य हिंदी भाषा के प्रति लोगो में प्रेम और सास्कृतिक प्रेम बढ़ाना भी होता हैं.

मातृभाषा के प्रति अपने प्रेम को भारतेन्दु हरिश्चन्द्र के कुछ इस प्रकार कहा हैं –

निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल,
बिन निज भाषा-ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल.

हिंदी साहित्य सम्मेलन में महात्मा गाँधी जी ने हिंदी भाषा को राष्ट्रभाषा कहा था. बापू इसे जनमानस की भाषा भी कहते थे.

पिछले कुछ दशको से साइंस, टेक्नोलॉजी और बिज़नस के आयाम बदले हैं वैसे ही हमारी सोच भी बदल गयी. इस वजह से हर भारतीय अपने बच्चे को इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढ़ते हैं और अग्रेजी भाषा सीखने पर ज्यादा जोर देते हैं. साइंस, टेक्नोलॉजी और बिज़नस से सम्बंधित अधिकतर क़िताबे अंग्रेजी में ही होती हैं. अब तो भारत में हिंदी की साथ अंग्रेजी को मिला कर बोला जाता हैं और हिंदी के कई शब्द विलुप्त भी हो गये हैं.

हिंदी भाषा हमें भारतीय होने का एहसास कराती हैं. हिंदी भाषा की काव्य, कहानी, व्यंग और अनेको रचनाएँ, हमें हमारी संस्कृति से जोडती हैं. हिंदी दिलों को दिलों से जोडती हैं. हिंदी भाषा हमें एक सूकून देती हैं. यह व्यक्ति के सोच पर निर्भर करता हैं कि आप किसी भी चीज को “सकारात्मक या नकारात्मक” किस नाजरियें से देखते हैं. हिंदी भाषा का ज्ञान होने पर भी आप बहुत कुछ कर सकते हैं. आपको नये तरीके से सोचने की जरूरत हैं.

हिंदी दिवस में स्कूलों में छात्र-छात्राओं में निबंध लेखन, वाद-विवाद, हिंदी प्रतियोगिता होती हैं इन सबका मुख्य उद्देश छात्र-छात्राओं की भावनाओं में हिंदी के प्रति सम्मान और दैनिक व्यवहार में लाने की शिक्षा दे जाती हैं. हिंदी विश्व की तीसरी ऐसी भाषा हैं जिसको सबसे अधिक बोला जाता हैं.

हिंदी दिवस कोट्स और शायरी (Hindi Divas Quotes and Shayari)

हिंदी हम सबकी मातृभाषा हैं, इसे हर दिन बोले…
और हिंदी दिवस पर सबको बोलने के लिए उत्साहित करे…
हिंदी दिवस की शुभकामनाएँ


हिंदी में वह भाव है जो सीधे हृदय में उतर जाती हैं.


एकता में हमारी शान हैं, हिंदी देश की जान हैं.


गर्व से बोलें हिंदी – हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ


हिंदी और हिन्दुस्तान हर दिल में हो – हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ


हिंदी का सम्मान, राष्ट्र का सम्मान हैं.
राष्ट्रभाषा जहाँ हैं, स्वतंत्रता वहाँ हैं.


हिंदी से हिन्दुस्तान हैं,
तभी तो यह देश महान हैं,
निज भाषा की उन्नति के लिए
अपने सब कुछ कुर्बान हैं.


हिंदी भाषा नही भावों की अभिव्यक्ति हैं,
यह मातृभूमि पर मर मिटने की भक्ति हैं.


हिंदी मेरा ईमान हैं, हिंदी मेरी पहचान हैं,
हिंदी हूँ मैं, वतन भी मेरा प्यारा हिन्दुस्तान हैं.