शायरी की डायरी | Shayari Ki Diary

Shayari Ki Diary

Shayari Ki Diary ( Shayari Ki Dayri ) – इस पोस्ट में कुछ बेहतरीन डायरी की शायरी दी गयी हैं. इन्हें जरूर पढ़े और दोस्तों के साथ शेयर करें.

न्यू शायरी की डायरी | New Shayari Ki Diary

कोई बेटा कभी न कहे ख़ुदा के लिए,
माँ-बाप ने क्या किया है उसके लिए.


हार-जीत के चक्कर में यहाँ हर कोई परेशान हैं,
“ख़ुशी से जीना” भी सफ़लता का दूसरा नाम हैं.


ना जाने वो बच्चा किस खिलौने से खेलता हैं,
जो दिन भर मेले में खिलौना बेचता हैं.


हम सब की जो दुआ थी उसे सुन लिया गया
फूलों की तरह आप को भी चुन लिया गया
मुनव्वर राना


नदी जैसी जिन्दगी,
दो किनारों जैसे हालात हैं,
एक किनारें ख्वाहिशें
और दुसरे किनारे औकात हैं.


डरना क्या जीवन में हार आयें बार-बार,
एक दिन तो सबको मरना ही है यार.


हार और असफलताओं के बाद,
मुस्करा दो तो ख्वाहिशें फिर से जिन्दा हो जाती हैं.


सच कह रहा हूँ दोस्त, डर केवल दिमाग के अंदर है,
इसे एक बार निकाल दिया तो तू भी सिकन्दर हैं.


मेरी डायरी सैड शायरी | Meri Diary Sad Shayari

ख़ूबसूरत से लम्हें और सुनहरे से पल हैं,
अब तो बता दो तुम्हें किस बात का गम हैं.


आशिक के जख्मों का हिसाब कौन करेगा,
वो शायर न बने तो बयान कौन करेगा.


वो ही मेरा ख्वाब था,
वो ही मेरा जज्बात था,
दिल के जर्रें-जर्रें में बसा था वो,
बस उसी को ये एहसास न था.


मेरी खुशियों से क्या दुश्मनी है, ये जिन्दगी तेरी
हम तो हरदम यूँ ही मुस्कुराते रहेंगे, ये आदत है मेरी.


सच ही लोग कहते है, इश्क़ यूँ आसान नहीं होता हैं,
वो इश्क़ ही क्या जिसमें दिल परेशान नहीं होता हैं.


शायरी की डायरी 2019

हमसे अब वफा भी नहीं होती,
सच बोलने पर भी वो खफा नहीं होती.


इस कदर तेरी ख्यालों में यूँ डूब जाएँ,
कि सारी दुनिया को भूल जाएँ.


उसने दिल पर लगा रखे पहरे हैं,
पर उसने दिल पर खाए घाव भी गहरे हैं.


ना जाने क्यों वो हमे बेवफ़ा कहते हैं,
अब तो मुस्कुराने पर होठ जलते हैं.


Shayari Ki Dayri Love

तू मेरे दिल के इतने पास हैं,
जैसे धड़कन दिल के साथ हैं.


जी चाहता है एक गजल लिख दूँ,
तुम्हारी मुस्कुराती होठों को कमल लिख दूँ.


इंतजार के लम्हें जब पिघलने लगते हैं,
गली के लोग मेरे दिल पर चलने लगते हैं.
इसलिए मैं परिंदों से दूर भागता हूँ
कि इनमें रह कर मेरे पर निकलने लगते हैं.


इसे भी पढ़े –