बेहतरीन देसी शायरी | Desi Shayari

Desi Shayari in Hindi – देसी लोग हो, देसी बातें हो या देसी शायरी इनका कोई जबाब नही होता हैं ये लाजबाब होते हैं. इस पोस्ट में बेहतरीन Desi Shayari दिए गये हैं इसे एक बार जरूर पढ़े, आशा करता हूँ कि आपको ये शायरी पसंद आयेंगे.

Desi Shayari

Best Desi Shayari | बेस्ट देसी शायरी

दूर रहकर भी आपको याद किया हमने,
दिल के रिश्तों का हर फर्ज अदा किया हमने,
कभी भी मत सोचना आपको भुला दिया हमने,
आज फिर सोने से पहले आपको याद किया हमने.


हर पल ने कहा हर पल से,
पल भर के लिए आप मेरे सामने आ जाओ,
पल भर का साथ कुछ ऐसा हो,
कि हर पल तुम ही याद आओ.


इश्क़ के जंजीर से डर लगता हैं,
कुछ अपनी तकलीफ से डर लगता हैं,
जो मुझे तुझसे जुदा कर दे,
हाथ के उस लकीर से डर लगता हैं.


वो सफ़र ही क्या जिसमें तुम हमसफ़र ना हो,
वो मंजिल ही क्या जिसमें तेरा साथ ना हो,
वो यादें ही क्या जिसमें तेरा एहसास ना हो,
वो साँसे ही क्या जिसमें तेरा नाम ना हो…


इन्तजार रहता हैं हर शाम आपका,
राते कटती हैं लेकर नाम आपका,
मुद्दत से बैठा हूँ पाल के ये आस,
कभी तो आएगा कोई पैगाम आपका.


हर एक से अच्छी बात करना फितरत है हमारी,
हर एक ख़ुश रहे ये हसरत है हमारी,
कोई हमको याद करें या न करे,
हर एक को याद करना आदत है हमारी…


मुकर जाने का कातिल ने निराला ढंग निकाला हैं,
हर एक से पूछता हैं उसको किसने मार डाला हैं…


धड़कते दिल के फ़साने बहुत हैं,
ज़िन्दगी जीने के बहाने बहुत हैं,
आप सदा यूँ ही मुस्कुराते रहें,
आपकी मुस्कराहट के दीवाने बहुत हैं…


जब भी किसी को करीब पाया हैं,
कसम खुदा की वहीं धोखा खाया हैं,
क्यों दोष देते हो काँटों को,
ये ज़ख्म तो हमने फूलों से पाया हैं..


कितना भी रोको इसे हाथों से फ़िसल जाता हैं,
ये वक्त हैं साहिब पल भर में बदल जाता हैं…


अपने अन्दर ही सिमट जाऊं तो ठीक,
मैं हर एक रिश्ते से कट जाऊ तो ठीक,
तुमने भी कब वादें निभाएं हैं अपने
मैं भी वादों से पलट जाऊं तो ठीक…


उतना ही प्यार करना जितना तू सह सके,
बिछड़ना भी पड़े तो जिन्दा रह सके…