एकता शायरी | Ekta Shayari | Unity Shayari

Ekta Shayari

Ekta Shayari ( Unity Shayari in Hindi ) – एकता में बड़ी ताकत होती हैं इस बात को हम सभी जानते हैं पर अपने वास्तविक जीवन में इसका उपयोग बहुत कम करते है. इसी वजह व्यक्ति अपने जीवन में असफल और उदास होता है. एकता सफलता और तरक्की का मार्ग हैं.

इस पोस्ट में बेहतरीन एकता शायरी, Ekta Shayari, Unity Shayari आदि दिए हुए हैं. इन शायरी को जरूर पढ़े और दोस्तों के साथ शेयर करें.

बेस्ट एकता शायरी | Best Ekta Shayari | Best Unity Shayari

ताकत बढ़ती है जहाँ होती है एकता,
इसी से मिलती है दुनिया में सफलता.


सारी उँगलियाँ समेटों तो मुट्ठी बन जाती हैं,
यहीं ताकत की निशानी कहलाती हैं.


अकेले में अक्सर हम अपनी परछाइयों से डर जाते हैं,
साथ मिले गर किसी का तो हम दुनिया जीत जाते हैं.


पहले जमीं बँटी फिर घर भी बँट गया,
इंसान अपने आप में कितना सिमट गया.


जमीनें बाँटते फिरते हो, आसमान बाटों तो माने,
अलग किये इंसान बड़े, परिंदे छाटों तो माने,
जब पैदा हुआ था आदम तो क्या था
हिन्दू या मुसलमान, मजहब बताओ तो माने.


ईमानदारी, खुद्दारी, स्वाभिमान, परिश्रम
खुद में इन्हें मिला लो ताकत बन जाएँ.


मुश्किलों में अक्सर अपने ही अपनो के लिए तकलीफ सहते है,
इसलिए इस को हम एकता की मिसाल कहते हैं.


प्रेम जोड़ती है इसलिए प्रेम से ताकत बढ़ती हैं,
नफ़रत तोड़ती है इसलिए नफ़रत से ताकत घटती है.