Brahman Shayari in Hindi | Pandit Shayari in Hindi | ब्राह्मण शायरी | पंडित शायरी

Brahman Shayari

Brahman Shayari in Hindi ( Pandit Shayari in Hindi ) – ब्राह्मण या पंडित को दया, उपकार, सत्य, ज्ञान आदि गुणों से परिपूर्ण माना जाता हैं. व्यक्ति ब्राह्मण जन्म और कर्म दोनों से होता हैं, परन्तु कर्म की महत्ता अधिक मानी जाती हैं. एक इंसान की पहचान उसके कर्म के द्वारा ही होती हैं.

इस पोस्ट में बेहतरीन Brahman Shayari, ब्राह्मण शायरी, Pandit Shayari, पंडित शायरी आदि दी गयी हैं. इन शायरी को जरूर पढ़े, आशा करता हूँ ये शायरी आपको पसंद आयेंगे.

ब्राह्मण शायरी | Brahman Shayari in Hindi | Pandit Shayari in Hindi

Personality थोड़ी Leak है,
English भी थोड़ी Weak है,
भगवान BHi चाहते है,
Yu ब्राह्मण Desi ही Thik है.


ब्रह्म से ब्राह्मण की उत्त्पति हैं,
इसलिए इनमें असीम शक्ति हैं.

Pandit Shayari

जलते है तो जलने दो,
बुझाना मेरा काम नही,
जलाकर राख न कर दु,
तो ब्राह्मण मेरा नाम नहीं.


ब्राह्मण पर शायरी | Shayari on Brahman

Brahman Shayari Hindi

जब-जब लोगों ने ब्राह्मणों का किया उपहास हैं,
तब-तब ब्राह्मणों ने रच दिया इतिहास हैं.


ब्राह्मणों को कभी कम मत आकना,
जब-जब इनको क्रोध आया है तो
अच्छों-अच्छों को पड़ा है भागना.

Brahman Shayari

पंडित का बेटा हूँ,
रखता हु जान हथेली पर,
अगर मिलना हो तो,
आ जाना हवेली पर।


पंडित पर शायरी | Shayari on Pandit

चाणक्य का दिया ज्ञान,
ब्राहमण को दिया सम्मान,
वक्त पर ही काम आता हैं.


ऐ दोस्त, ये ब्राह्मण के ही बस की है बात,
भृगु ने भगवान विष्णु को मारी थी लात.

Pandit Shayari

कोशिश तो सब करते है,
पर सबको हासिल तख्तो-ताज नही होता,
शोहरत तो कोई भी कमा ले,
पर पंडितों वाला अंदाज नहीं होता।


पत्थर नही फौलाद हैं,
ब्राह्मण की औलाद हैं.


ब्राह्मण शायरी इन हिंदी

थोड़ी Style क्या मारी, इतने में रोता है,
ये तो ब्राह्मण की एंट्री है आगे देख क्या होता हैं.


सत्य, धर्म और ज्ञान की बातें कहता हैं,
ब्राह्मण पूरे जीवन इसी पथ पर चलता हैं.


धर्म की रक्षा के लिए ब्राह्मण का स्वरूप बदल जाता हैं,
कभी चाणक्य तो कभी परशुराम के रूप में नजर आता हैं.


पंडित ऐटिटूड शायरी हिंदी | Pandit Attitude Shayari in Hindi

राज करना पंडितों के खून में होता हैं,
चाहे किलो पर हो या दिलो पर हो.


ब्राह्मण बदलते हैँ तो नतीजे बदल जाते हैँ,
सारे मंजर, सारे अंजाम बदल जाते हैँ,
कौन कहता है परशुराम फिर नहीं पैदा होते..?
पैदा तो होते है बस नाम बदल जाते हैँ.


शांत स्वभाव और हृदय से चीते हैं,
धर्म की रक्षा के लिए ब्राह्मण जीते हैं.


त्याग दी सारी ख्वाहिशें निष्काम बनने के लिए,
राम ने बहुत खोया, श्री राम बनने के लिए.


रॉयल पंडित शायरी | Royal Pandit Shayari

जब तक रगो में आखिरी कतरा हैं, शरीर पर रूह का कब्जा रहेगा,
हम पंडित जी हैं, और यही पंडितों वाला जज्बा रहेगा।।


तुम ब्राह्मण को सिर्फ मान दो,
वो वक्त आने पर जान तक देगा।


पंडित है दौलत थोड़ा कम रखते है,
पर इतिहास-भूगोल बदलने का दम रखते है.


शेरो के पुत्र ही शेर ही जाने जाते है,
लाखों के बीच ब्राह्मण ही पहचाने जाते है.


Pandit Quotes in Hindi

वो ब्राहमण ही किस काम का,
जो नाम ना ले परशुराम का


ये आवाज नही ब्राह्मण कि दहाड़ हैं,
अकेले भी खडे सामने हो जाये तो पहाड़ हैं.


ब्रामण का बेटा हूँ,
दिल में जिगर रखता हूँ,
इरादों में तेज धार रखता हूँ,
इसलिए ब्रामण होने पर गर्व करता हूँ.
Pandit Shayari


इन बेहतरीन ब्राह्मण शायरी, Brahman Shayari in Hindi, पंडित शायरी, Pandit Shayari in Hindi, आदि दिए हुए है. इन्हे व्हाट्सऐप स्टेटस बनाएं और फेसबुक, ट्विटर पर शेयर करें।

इसे भी पढ़े –