Brahman Shayari | Pandit Shayari | ब्राह्मण शायरी | पंडित शायरी

Brahman Shayari

Brahman Shayari in Hindi (Pandit Shayari in Hindi) – ब्राह्मण या पंडित को दया, उपकार, सत्य, ज्ञान आदि गुणों से परिपूर्ण माना जाता हैं. व्यक्ति ब्राह्मण जन्म और कर्म दोनों से होता हैं, परन्तु कर्म की महत्ता अधिक मानी जाती हैं. एक इंसान की पहचान उसके कर्म के द्वारा ही होती हैं.

इस पोस्ट में बेहतरीन Brahman Shayari, Pandit Shayari, ब्राह्मण शायरी, पंडित शायरी आदि दी गयी हैं. इन शायरी को जरूर पढ़े, आशा करता हूँ ये शायरी आपको पसंद आयेंगे.

बेस्ट ब्राह्मण शायरी | Best Brahman Shayari

ब्रह्म से ब्राह्मण की उत्त्पति हैं,
इसलिए इनमें असीम शक्ति हैं.


जब-जब लोगों ने ब्राह्मणों का किया उपहास हैं,
तब-तब ब्राह्मणों ने रच दिया इतिहास हैं.


ब्राह्मणों को कभी कम मत आकना,
जब-जब इनको क्रोध आया है तो
अच्छों-अच्छों को पड़ा है भागना.


चाणक्य का दिया ज्ञान,
ब्राहमण को दिया सम्मान,
वक्त पर ही काम आता हैं.


ऐ दोस्त, ये ब्राह्मण के ही बस की है बात,
भृगु ने भगवान विष्णु को मारी थी लात.


पत्थर नही फौलाद हैं,
ब्राह्मण की औलाद हैं.


सत्य, धर्म और ज्ञान की बातें कहता हैं,
ब्राह्मण पूरे जीवन इसी पथ पर चलता हैं.


धर्म की रक्षा के लिए ब्राह्मण का स्वरूप बदल जाता हैं,
कभी चाणक्य तो कभी परशुराम के रूप में नजर आता हैं.


शांत स्वभाव और हृदय से चीते हैं,
धर्म की रक्षा के लिए ब्राह्मण जीते हैं.


इसे भी पढ़े –