What is Hyperloop in Hindi | हाइपरलूप क्या हैं

What is Hyperloop in Hindi

What is Hyperloop in Hindi ( हाइपरलूप ट्रेन क्या हैं ) – तकनीकी दिनों-दिन विकसित हो रही है और नये-नये आविष्कार हो रहे हैं. हाइपरलूप एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसकी मदत से व्यक्ति और वस्तुओ को कम समय में सुरक्षित तरीके से एक स्थान से दूसरे स्थान भेजा जा सकता है.

हाइपरलूप क्या है | What is Hyperloop

हाइपरलूप ट्रेन चुम्बकीय शक्ति पर आधारित तकनीकी है जिसके अंतर्गत खम्भों के ऊपर पारदर्शी ट्यूब बिछाई जाती हैं. इसके भीतर बुलेट या कैप्सूल जैसी शक्ल की लम्बी ट्रेन हवा में तैरती हुई चलती हैं.

हाइपरलूप ट्रेन ( Hyperloop Train ) एक ‘ट्यूब मॉड्यूलर ट्रांसपोर्ट सिस्टम‘ है जो कि घर्षण से मुक्त होकर चलेगा, जिसकी वजह से इसकी स्पीड हवाई जहाज से अधिक होगी.

हाइपरलूप का इतिहास | Hyperloop History in Hindi

सर्वप्रथम Sci-Fi लेखको ने कम दबाव वाले ट्यूबों के माध्यम से उच्च गति पर यात्रा करने के तरीके की व्याख्या की. 1909 में रॉकेट प्रणेता “रॉबर्ट गोडार्ड” ने हाइपरलूप की अवधारणा में समान वैक्यूम ट्रेन का प्रस्ताव रखा. 1972 में, रैंड कॉर्प ( RAND Corp. ) ने एक सुपरसोनिक भूमिगत रेलवे की कल्पना की जिसे वैक्ट्रेन कहा जाता है. परन्तु इनमें कहीं न कहीं प्रतिभा, प्रौद्योगिकी और तकनीकी की कमी थी.

क्यूबा के लिए एक मानवीय मिशन पर एक साथ यात्रा करते हुए इन्वेस्टर और इंटरप्रेन्योर शेरविन पिशेवर ( Shervin Pishevar ) और एलोन मस्क हाइपरलूप तकनीकी के बारें में बात किया और कुछ महीने बाद एक तकनीकी सम्मेलन में शेरविन ने मस्क से अपने विचारों को जनता के साथ साझा करने का आग्रह किया. टेस्ला के संस्थापक एलोन मस्क ने 2013 में इसके मूल डिजाइन का श्वेतपत्र दिखाया था.

हाइपर लूप के बारें में रोचक जानकारी | Interesting Facts about Hyperloop

  • Hyperloop तकनीकी के माध्यम से 1150-1250 किमी. प्रति घंटा से यात्रा कर सकते हैं जबकि हवाई जहाज से 850-950 किमी. प्रति घंटा से यात्रा करते हैं.
  • हाइपरलूप तकनीकी के माध्यम से मुंबई को पुणे से जोड़ने की बातें हो रही हैं, अभी मुंबई से पुणे की दूरी ट्रेन या कार के माध्यम से लगभग 2.30 से 3 घंटे लगते हैं. हाइपरलूप तकनीकी के माध्यम से यह दूरी महज 15 मिनट में तय की जा सकेगी.
  • यह बुलेट ट्रेन से दोगुनी स्पीड से चलेगी.
  • हाइपरलूप ट्रेन चुम्बकीय तकनीकी से लैस पॉड (ट्रैक) पर चलेगी.
  • हाइपरलूप तकनीकी में सबसे अग्रणी कम्पनी “Hyperloop One” हैं.
  • इसके संचालन में बिजली (विद्युत्) का खर्च न्यूनतम होगा.

हाइपरलूप ट्रेन अंदर से कैसा दिखता है?

इसे भी पढ़े –