शहीद दिवस | Martyrs Day in Hindi

Shaheed Diwas

Martyrs Day in Hindi ( Shaheed Diwas in Hindi ) – क्या आप जानते हैं कि भारत में शहीद दिवस कब मनाया जाता हैं? शहीद दिवस किसकी याद में मनाया जाता हैं? इन प्रश्नों के उत्तर के लिए इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े.

शहीद दिवस उन वीरों की आड़ में मनाया जाता है जिन्होंने भारत की आजादी में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया हैं. शहीद दिवस हर भारतीय को भारत की आन, मान और शान की गौरव गाथा को बताती हैं. किसी विद्वान् ने ठीक ही कहा हैं – “शहीद कभी मरते नहीं हैं इतिहास के पन्नो में अमर हो जाते है.

शहीद दिवस कब मनाया जाता है? | शहीद दिवस 2019

भारत में मुख्य रूप से 30 जनवरी को शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता हैं. परन्तु कुछ अन्य तिथियाँ भी हैं जिन्हें शहीद दिवस के रूप में याद जाता हैं.

30 जनवरी, 23 मार्च, 13 जुलाई, 17 नवम्बर और 19 नवम्बर को शहीद दिवस मनाया जाता हैं. क्या आप जानते हैं इन मुख्य तिथियों को शहीद दिवस के रूप में क्यों याद करते हैं?

भारत में शहीद दिवस भिन्न तिथियों को मनाने के कारण

30 जनवरी – 30 जनवरी को भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को नाथूराम गोडसे ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. गांधी जी पूरे विश्व को सत्य, अहिंसा और शन्ति का सन्देश दिया और भारत की आजादी में भी उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा. महात्मा गांधी के पुन्य तिथि पर “शहीद दिवस ( Shaheed Diwas )” को मनाते हैं और उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी जाती हैं.

23 मार्च – 23 मार्च को भगतसिंह, सुखदेव और राजगुरू को अंग्रेजों ने फांसी पर लटका दिया गया था जिनकी स्मृति में पूरे भारत में शहीद दिवस मनाया जाता हैं.

13 जुलाई – 13 जुलाई 1931 में कश्मीर के राजा हरि सिंह की अंग्रेजी सैनिकों ने हत्या कर दी थी. इसमें 22 लोग मारे गये थे. राजा हरिसिंह और उन 22 लोगों की याद में हर वर्ष 13 जुलाई को, जम्मू और कश्मीर में शहीद दिवस के रूप में मनाय जाता हैं.

17 नवम्बर – शेरे पंजाब के नाम से मशहूर महान स्वतंत्रता सेनानी लाला लाजपत राय की मृत्यु “साइमन कमीशन” के विरूद्ध के समय प्रदर्शन करते समय अंग्रेजी पुलिस के लाठियों के प्रहार से हुआ था. यह दिन 17 नवम्बर का था. उड़ीसा में इनकी पूण्यतिथि के दिन 17 नवम्बर को शहीद दिवस मनाया जाता हैं.

19 नवम्बररानी लक्ष्मीबाई का जन्मदिवस 19 नवम्बर हैं जिसे झांसी, मध्य प्रदेश में शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता हैं. 1857 की क्रान्ति के दौरान जिन वीर शहीदों ने अपना बलिदान दिया, उनके सम्मान में भी यह शहीद दिवस मनाय जाता हैं.

शहीद दिवस कैसे मनाया जाता हैं?

शहीद दिवस के दिन भारत के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, अन्य मंत्री आदि राजघाट जाकर महात्मा गांधी की समाधि पर पुष्प की माला चढ़ाते हैं. शहीदों को सम्मान देने के लिए भारतीय जवानों के द्वारा सम्मानीय सलामी दी जाती हैं. इसके बाद वहाँ उपस्थिति सभी लोग बापू और देश के अन्य शहीदों के याद और सम्मान में दो मिनट का मौन धारण करते हैं.

स्कूलों में शहीद दिवस के दिन महात्मा गांधी पर विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं. कई स्कूलों में गांधी जी के ऊपर नाटक का भी आयोजन होता हैं. युवा एक दूसरे को बधाई संदेश भेजकर शहीद दिवस को मनाते हैं.

इसे भी पढ़े –