हिंदी दिवस पर कविता | Hindi Diwas Poem in Hindi

Hindi Diwas Poem Kavita Poetry in Hindi for Students – इस आर्टिकल में हिंदी दिवस पर कविता दी गई है. हिंदी भाषा की शक्ति को जो पहचानता है उसे हिंदी बोलने पर गर्व होता है. इस बेहतरीन कविता को जरूर पढ़े.

Hindi Diwas Poem in Hindi

पूरा भारत वर्ष 14 सितम्बर को हिंदी दिवस मनाता है. कुछ लोग पूरा वर्ष हिंदी दिवस मनाते है जो अपने परिश्रम से अपने हिंदी के ज्ञान से विभिन्न कहानियों, रचनाओं, लेख, कविताओं और गीतों को हमारे सम्मुख लाकर हमारे आनंद की अनुभूति को हजार गुना बढ़ा देते है. हिंदी की सेवा करने वाले वीरों को हिंदी दिवस के शुभ अवसर पर मेरा शत-शत नमन है.

हिंदी का फुलफॉर्म कविता

इस कविता के माध्यम से हिंदी का फुल फॉर्म ( Hindi Ka Full Form ) बताने का प्रयास किया हूँ. मेरी जानकारी के अनुसार हिंदी का कोई फुलफॉर्म नहीं होता है. हिंदी के प्रति अपने प्रेम को जाहिर करने के लिए मैंने हिंदी का फुल फॉर्म बनाया है. आशा करता हूँ कि यह कविता आपको पसंद आएगी।

हिंदी की जो बिंदी है,
जब औरत के माथे
पर जाकर लगती है
तो सुंदरता को बढ़ा देती है,
नारी हर किसी के जीवन को
माँ, बहन, बेटी, पत्नी, मित्र और
प्रेमिका बनकर छूती है.

- Advertisement -

अगर हिंदी के “ह” का मतलब हल
समझा जाएँ तो जीवन के सारे
समस्यों का हिंदी हल बताती है,
जब कोई किसान घर
को चलाने के लिए हल
उठाता है और ऊसर जमीन
पर अपने मेहनत का पसीना
गिराता है तब धरती पर
फसले लहलहाती है.
परिश्रम करने वालों के
जीवन में ही खुशियाँ आती है.

अगर हिंदी के “द” का मतलब
दवात समझा जाएँ तो दवात
की स्याही कलम को ताकत
देती है और वो कलम सोचिये
आपको कितनी ताकत देता है.
जो कलम और दवात
की ताकत को समझ लेता है
वो इतिहास बदल देता है.


हिंदी के सम्मान में कविता | Hindi Diwas Poetry 2021

हर भारतीय को हिंदी जरूर आनी चाहिए और इसके साथ ही क्षेत्रीय भाषाओं का ज्ञान भी महत्व रखता है। एक से अधिक भाषा का ज्ञान आपकी रचनाओं को ताकत प्रदान करता है. जब आप किसी भाषा को जानते है तो आप उस भाषा को बोलने वाले व्यक्ति के दिल की बात को समझ पाते है. कई भाषाओं का ज्ञान एक अच्छे वक्ता की एक निशानी भी होती है. अपने बच्चों को अंग्रेजी सिखाये पर इस अंग्रेजी के सिखाने में हिंदी का महत्व कम ना होने पाये।

कभी खत्म ना होने वाला
माँ जैसा प्यार है हिंदी,
जीवन में तरक्की के लिए
पिता की फटकार है हिंदी।

हर मुसीबत में जो सहारा बन जाएँ
वो भाई के ताकत जैसी एहसास है हिंदी,
हर सुख-दुःख और मुसीबत में साथ हो
उस मित्र जैसा विश्वास है हिंदी।

जिसने सबसे ज्यादा
हंसाया वो है हिंदी,
जिसने दुःखो पर मौन रहना
सिखाया वो है हिंदी,
जिसने कई भाषा को
खुद में शामिल कर लिया,
जिसने इसकी खूबसूरती को जाना
उसे काबिल कर दिया।

बचपन में खूब हिंदी बोला
बोलने से पहले कई बार तोला
गाँव के देशी खेल को खेला
खुश हुआ देख गाँव का मेला
हिंदी में ही बचपन की बातों को गढ़े
हिंदी बोलते ही जवानी की तरफ बढ़े
बहुत डराया लोगो ने अंग्रेजी का नाम लेकर
पर हिंदी बोलते-बोलते
सफलता के आकाश पर चढ़े

हिंदी का सम्मान करोगे
तो ताकत बन जायेगी हिंदी,
अगर दिल में देशप्रेम होगी
तो भारत बन जायेगी हिंदी।


दुनियाहैगोल की तरफ से आप सभी को हिंदी दिवस की अग्रिम शुभकामनाएं एवं बधाई.

इसे भी पढ़े –

Latest Articles