Character Quotes in Hindi | चरित्र पर अनमोल विचार

Character Quotes in Hindi

Character Quotes in Hindi ( Charitr Par Anamol Vichaar ) – ‘चरित्र गया तो सबकुछ गया‘ – यह कहावत अक्सर हम सुनते हैं. लेकिन चरित्र शब्द को समझने में अक्सर हमसे भूल होती है. स्त्री-पुरूष के आपसी संबंधो के सन्दर्भ में ही अक्सर इस शब्द की चर्चा की जाती हैं, जबकि यह शब्द सम्पूर्ण मानवीय मूल्यों के ओर संकेत करता हैं.

चरित्र को ही कुछ मनीषियों ने जीवन की सर्वोच्च उपलब्धि बताया हैं, क्योकि परमात्मा भी उसी को अपनाता है जिसमें सद्गुण होते हैं. इस पोस्ट में बेहतरीन Character Quotes, Charitr Par Anamol Vichaar, करैक्टर कोट्स , चरित्र पर अनमोल विचार, Human Character in Hindi, Character Status in Hindi आदि दिए हुए हैं. इन कोट्स को जरूर पढ़े.

Best Character Quotes | बेस्ट करैक्टर कोट्स

चरित्र के बजाय महानता को कपड़ो से आंकने वाले सर्वथा मूर्ख होते हैं. – महात्मा गांधी

चरित्र की शिक्षा घटिया प्राणी से भी मिले तो ग्रहण करनी चाहिए. – चाणक्य

चरित्रवान बनो, संसार स्वयं तुम पर मुग्ध होगा. फूल खिलने दोगे तो मधुमक्खियाँ स्वतः ही चली आयेंगी. – राकृष्ण परमहंस

जिस मनुष्य को अपने पर काबू नहीं है, वह दुर्बल चरित्र वाला हैं. – कन्फ्यूशियस

जो कुछ हमने अपने चरित्र में संचित किया है, वह हम पाने साथ ले जायेंगे. – हेमबोर्ड

चरित्र निमार्ण के तीन आधार स्तम्भ है – अधिक निरिक्षण करना, अधिक अनुभव करना एवं अधिक अध्ययन करना. – कैथराल

चरित्र की शिक्षा पाए हुए के लिए सभी देश और सभी नगर पराये होकर भी अपने बन जाते हैं. – तिरूवल्लुवर

चरित्र की शिक्षा जीवन के ऊँचे मानदंडो के लिए हैं, जीविका उपार्जन करने के लिए नही. – अरस्तु

चरित्र के बिना मानव पशु से एक सीढ़ी नीचे गिर जाता हैं. – महात्मा गांधी

चरित्र का सीधा सम्बन्ध हमारे हृदय से निकले उन विचारों से है जो कल्याण की खोज करते हैं. – चिदानन्द

चारित्रिक गठन इंसान की प्रथम आवश्यकता है. – स्वामी विवेकानन्द

चरित्र की शुद्धि तक आकर ज्ञान के सारे मार्ग रूक जाते हैं. – राजा ठाकुर

चरित्र वृक्ष के समान होता है और यश उसकी छाया के समान. अतः हम किसी विषय में जो सोचते हैं, वह तो छाया है, वास्तविक वस्तु तो वृक्ष हैं. – अब्राहम लिंकन

चरित्र मानव जीवन के लिए एक परम पावन और आवश्यक निधि है. उसका निवास संसार में नहीं, हृदय में होता हैं. – महात्मा गांधी

चरित्र जब गिरता है तब मिट्टी के बर्तन की भांति चकनाचूर हो जाता हैं. – माघ

चरित्र वही है जो कि आप जानते हैं कि आप है, वह नहीं है जो दुसरे लोग सोचते हैं कि आप हैं. – कॉलिन्स

चरित्र वह श्वेत कागज है जिस पर कलंक लगने के पश्चात उसका साफ़ होना असम्भव होता हैं. – जे हॉवेज

चरित्रवान को सब कुछ उपलब्ध है और चरित्रहीन उपलब्ध को भी खो देते हैं. – गोलवल्कर

चरित्र की पहचान के लिए संगति की आवश्यकता नहीं. वार्तालाप से ही उसका ज्ञान हो जाता हैं. – जेम्स शर्मन

चरित्र के दर्पण में छोटी-छोटी बातों से इंसान का व्यवहार झलकता है न कि लम्बी-चौड़ी बातों से. – सैमुअल स्माइल्स

चरित्र का हीरा विपदाओं के तमाम पाषाण खंडो को भी काट देता है. – बार्टल

चरित्र निर्माण ही शिक्षा का उद्देश्य होना चाहिए. इससे साहस का विकास होगा, गुणों में वृद्धि होगी और उद्देश्यों के प्रति लग्न जागृत होगी. – महात्मा गांधी

चरित्र विचारों के तानेबानों से बुना जाता हैं. – जेम्स एलन

चरित्र निर्माण हो गया तो बाकी निर्माण स्वतः हो जायेंगे. – स्वामी विवेकानन्द

चरित्र परिवर्तनशील नहीं बल्कि उसका विकास होता हैं. – डिजरायली

चरित्र के दर्पण में छोटी-छोटी बातें शोभा पाती हैं और लम्बी-चौड़ी बातें विकृत नजर आती हैं. – सैमुअल स्माइल्स

चरित्र साथ नहीं है तो हाथ की वस्तु भी खो देंगे. चरित्र है तो सब कुछ पा लेंगे. – मा. स. गोलवलकर

चरित्र निर्माण हो गया तो साहस, धन, लगन और दुनिया की सफलताएं दौड़ी चली आएँगी. – महात्मा गांधी

कुल की प्रशंसा करने से क्या? उस लोक में चरित्र ही महानता का कारण बनेगा. – शूद्रक

आदमी की ख़ुशियाँ उसकी सच्चरित्रता का फल हैं. – इमर्सन

अभेद्य दीवारों से मार्ग बना लेने की शक्ति चरित्र में हैं. – स्वामी विवेकानन्द

मनुष्य का चरित्र वह वस्त्र है जो विचारों के धागों से बनता है. – जेम्स एलन

अपना चरित्र निर्मल होने पर भी सज्जन अपने दोष ही सामने रखते है, अग्नि का तेज उज्ज्वल होने से पूर्व धुआं ही उगलता है. – कर्णपूर

मनुष्य के चरित्र को पहचानने के लिए उसकी संगति आवश्यक नहीं, उसकी बातचीत से भी चरित्र जाना जा सकता हैं. – वार्टल

जिसमें दया नहीं, धर्म नहीं, निज भाषा से प्रेम नहीं, चरित्र नहीं, आत्मबल नहीं, वे भी कोई आदमी हैं? – प्रेमचंद

नोट – इन कोट्स को “महापुरूषों के 5001 अनमोल वचन” से लिया गया हैं, इसके संकलन कर्ता “चेतन प्रकाश” हैं.