आलसी पर शायरी | Aalsi Shayari

Aalsi Shayari

Aalsi Shayari – आलस्य मनुष्य के अंदर का सबसे बड़ा दुश्मन हैं, जब तक किसी के अंदर इसका वास होता हैं तब तक वो इंसान दुःखी, असफ़ल और उदास रहता है. सफ़लता प्राप्त करने में आलस्य एक बहुत बड़ा बाधक है, इलसिए अपने अंदर से आलस्य को त्याग कर, अपने लक्ष्य के लिए प्रयत्न करों.

इस पोस्ट में बेहतरीन आलस्य पर शायरी, आलसी शायरी, Aalsi Shayari, Laziness Shayari, Lazy Shayari आदि दिए हुए हैं. इस पोस्ट को जरूर पढ़े और शेयर करें.

आलस्य और आलसी पर बेहतरीन शायरी | Best Aalsi Shayari

आलस्य की बीमारी का कोई तो इलाज होना चाहिए,
इसके लिए हर व्यक्ति को स्वयं ज़िम्मेदार होना चाहिए.
Laziness Shayari in Hindi


कभी तो अपने आलस्य का हिसाब करो,
सफल क्यों नहीं हुए? खुद से सवाल करों.


सच कहूँ तो यहीं आलस्य का फ़साना हैं,
परीक्षा और नींद दोनों को एक साथ आना हैं.


ख़ुदा ने सबकों सफ़लता का किताब दे दिया,
आलसी कौन कितना है वक्त ने हिसाब दे दिया.
Lazy Shayari in Hindi


सच्चाई जमाने को स्वीकार नहीं,
और झूठ कहने को ये दिल तैयार नहीं,
माना थोड़े आलसी और मनमौजी है,
पर हुए अभी तक हम गुनहगार नहीं.
Sachnin Pandey


हर सुबह आपनी ख्वाहिशों को लेकर जगा कर,
सफलता का दीप जलाया कर, आलस्य को भगा कर.


सफलता पाना हैं तो आलस्य को मिटाना हैं
इस कमजोरी को हर सुबह उठकर हराना हैं.