Steps to Achieve Goals | लक्ष्य हासिल करने के लिए सही कदम

Steps to Achieve Goals

Steps to Achieve Goals – हर व्यक्ति के जीवन में लक्ष्य होता हैं, हममें से हर व्यक्ति कुछ ना कुछ प्राप्त करना चाहता हैं. हर व्यक्ति का लक्ष्य उसकी क्षमता के अनुसार होता हैं. बहुत से ऐसे लोग भी होते हैं जो अपना लक्ष्य ही नही निर्धारित कर पाते हैं, और बहुत से ऐसे भी लोग होते हैं तो बार-बार अपना लक्ष्य बदलते रहते हैं. मन की अस्थिरता और मन की चंचलता की वजह से ऐसा होता हैं. इसी वजह से ऐसे लोगो को लक्ष्य प्राप्त करने में बड़ी कठिनाई होती हैं.

जब आप अपना लक्ष्य निर्धारित करे तो आप सबसे पहले ख़ुद के बारे में, लक्ष्य के बारे में और लक्ष्य को प्राप्त करने वाले साधनों के बारें में पूरी और सही जानकारी रखें. लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए पूरी ईमानदारी से प्रयत्न करें. आपके लिए आपका लक्ष्य सर्वोपरि होना चाहिए. इस पोस्ट में कुछ टिप्स दिए गये हैं जिसके माध्यम से आप अपने जीवन में एक सही लक्ष्य चुन सकेंगे और समुचित प्रयासों से उसे प्राप्त कर सकेंगे.

Write down your goal | अपना लक्ष्य लिखें

सबसे पहले आप अपना एक लक्ष्य निर्धारित करे और उसे अपने दिमाग में सेट कर ले और उसी के लिए ही प्रयत्न करें. आपको सफलता जूर मिलेगी. बहुत से लोग (ज्यादातर विद्यार्थी) ऐसे होते हैं जिनके दिमाग में एक से ज्यादा लक्ष्य होते हैं या वो अपने लक्ष्य को बार-बार बदलते रहते हैं जिसकी वजह से उन्हें लक्ष्य को प्राप्त करने में बहुत कठिनाई होती हैं इसलिए यह जरूरी हैं कि आप पाने एक लक्ष्य बनाएं और उसे पाने के लिए ही प्रयास रत रहे.

लक्ष्य निर्धारण में इन बातों को जरूर ध्यान रखे

  1. दूसरों से प्रभावित होकर अपना लक्ष्य न तय करें.
  2. दूसरों से प्रभावित होकर अपना लक्ष्य न बदले.
  3. दूसरों के द्वारा बढ़ा-चढ़ाकर कही गयी बातों पर न जाए, उसकी सत्यता जानने का प्रयास करे.
  4. लक्ष्य निर्धारण में दूसरों से सलाह ले पर निर्णय खुद ले.

सफ़लता का एक मन्त्र धैर्य

गीता के 10 अनमोल वचन स्टूडेंट के लिए

Set a Deadline | एक समयसीमा निर्धारित करें

लक्ष्य निर्धारित करने के समय ही लक्ष्य को प्राप्त करने की समय-सीमा भी तय करें. लक्ष्य प्राप्ति के समय सीमा निर्धारित करने से आप अपने समय का सदुपयोग कर सकेंगे. ज्यादातर विद्यार्थी अपना लक्ष्य तो निर्धारित करते हैं पर समय सीमा नही निर्धारित करते हैं जिसकी वजह से उन्हें लक्ष्य प्राप्त करने में ज्यादा समय लगता हैं.

Pick goals that are achievable | ऐसे लक्ष्य चुनें जो प्राप्त करने योग्य हो

लक्ष्य को अपनी क्षमता के अनुरूप चुने और वहीं लक्ष्य चुने जिसे आप प्राप्त कर सके. कई बार हम अपनी क्षमता को नजर अंदाज करके ऐसा लक्ष्य चुन लेते हैं जिसे हम प्राप्त नही कर सकते हैं और यह बात हमें पता भी होता हैं पर अपनी झूठी शान बनाएं रखने के लिए झूठा प्रयत्न जारी रखते हैं. आप खुद के साथ ईमानदारी रखे. लोग क्या सोचेंगे इसके बारें में आप न सोचें. आपने समय और अपने सामर्थ्य का सार्थक उपयोग करें.

प्रत्येक व्यकित को ईश्वर ने इतनी शक्ति दी हैं कि वह अपने निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त कर सके.

Evaluate your progress | अपने कार्य की समीक्षा करें

आप जो भी कार्य, लक्ष्य की प्राप्ति के लिए कर रहे हैं उसकी समीक्षा जरूर करें. यदि आपका कार्य सही दिशा में जा रहा हैं तो उसे उसी निरंतरता के साथ करते रहे यदि आपके कार्य का प्रोग्रेस अच्छा नही हैं या कोई और समस्या आ रही हैं तो उसका समाधान करे. अपने कार्य करने की शैली पर विचार करे. खुद से ज्यादा जानकार लोगो से सलाह लें. कार्य में निरंतरता का होना बहुत ही आवश्यक हैं.

Develop your skills | अपने स्किल्स को बढायें

जीवन में हर दिन कुछ नया जरूर सीखे. इससे आप उत्साहित होंगे और आपके कौशल का भी विकास होगा. इससे दिमाग तेज होता हैं. यदि आप कोई कार्य करते हैं या पढ़ाई करते हैं तो हर दिन कुछ नया करने या सीखने का प्रयत्न जरूर करें. यह लक्ष्य को प्राप्त करने में मदत करेगा.

7 चीजें हर स्टूडेंट को सुबह 7 बजे से पहले करनी चाहिए

असफलता से सीखे और आगे बढे – Motivation For Student

Take the first step | पहला कदम बढायें

जब आप लक्ष्य का निर्धारण कर ले तो उसे शुरू भी जल्द करें. कई बार हम पाने मन में ही लक्ष्य पर लक्ष्य बनाते रह जाते हैं और वास्तविक जीवन में कुछ होता ही नही हैं. सोच और कार्य में समानता का होना अति आवश्यक हैं. यदि आप जो सोचते हैं और वही करते हैं तो लक्ष्य को प्राप्त करने में बड़ी आसानी होगी और आपका जीवन सुख-शांति से भरा होगा.

Continue to completion | लक्ष्य प्राप्त करने के लिए लगातार प्रयत्न करते रहे

लक्ष्य प्राप्ति में कार्य की निरंतरता बहुत ही आवश्यक हैं. कुछ अवसर ऐसे आते हैं जब हम अपने कार्य पर ध्यान नही दे पाते हैं लेकिन आपका यह प्रयास होना चाहिए कि आपकी की कार्य या पढाई में निरंतरता हो तभी आप अपने लक्ष्य को आसानी से पा सकते है.

सही सोच-समझ के साथ निर्धारित लक्ष्य सफलता की मंजिल तक पहुँचा ही देता हैं, इसलिए लक्ष्य को अपने दिलो-दिमाग में लिख ले और आपकी आत्मा की आँखों से केवल लक्ष्य दिखाई देना चाहिए और आपका प्रत्येक कार्य और समय लक्ष्य के लिए समर्पित होना चाहिए.