शिक्षक दिवस पर कविता | Teachers Day Poem in Hindi

Teachers Day ( Shikshak Diwas ) Poem Kavita Poetry Image Photo in Hindi – इस आर्टिकल में शिक्षक दिवस पर कविता दी गई है. इन्हें जरूर पढ़े.

शिक्षक और शिक्षा का जीवन में बड़ा ही महत्व है। जीवन में सफलता पाने के लिए और एक बेहतर जिंदगी जीने के लिए शिक्षा का महत्वपूर्ण योगदान है. शिक्षा ग्रहण करना और सीखना मानव स्वभाव है. हर व्यक्ति जीवन के हर पड़ाव में कुछ ना कुछ, किसी ना किसी से सीख रहा होता है. कभी माँ-बाप से सीखते है। कभी शिक्षक (गुरु ) से सीखते है। कभी किताब से सीखते है। कभी जीवन की गलतियों से सीखते है। जीवन में दोस्त, पत्नी, बहन, भाई भी कुछ ना कुछ सिखाते है. आज शिक्षक दिवस के शुभ अवसर सभी गुरुजनों को हार्दिक शुभकामनाएं।

Teachers Day Poem in Hindi

कोई शिल्पकार मानो
पत्थर को देता आकार
कोई कच्ची मिट्टी तपाकर
मिटाता हो विकार।

भाग्य विधाता कहूँ तुम्हें
या भाग्य रचयिता
ज्ञान का अविरल स्त्रोत
जिसमें हो बहता।

- Advertisement -

जो निस्वार्थ पथ दिखलाता
किसी को बनाने में
जो स्वयं मिट जाता
वो ऐसा ज्ञान का भंडार है
जिस पर हर निष्ठावान
का अधिकार है।

जहाँ गुरु रूप प्रकाश
विद्यमान हो
वहां कैसे अज्ञानता
का अन्धकार हो।

ब्रह्मा, विष्णु, महेश
का प्रारूप है,
वह गुरु धरती पर
देव् स्वरूप है.
सविता पाटिल


शिक्षक दिवस पर कविता

शिक्षा का सार है शिक्षक,
जीवन का आधार है शिक्षक,
खुशियों का द्वार है शिक्षक
विद्यार्थी का संसार है शिक्षक।

सत्य का ज्ञान कराये
ऐसे असरदार है शिक्षक
नीति और संस्कार का पाठ पढ़ाये
ऐसे दमदार है शिक्षक।

हर रोज मेहनत करते है
तुम्हें सफल बनाने के लिए शिक्षक,
अगर कभी डांटते भी है
तो सही राह पर लाने के लिए शिक्षक।

युवाओं और देश को मजबूत बनाते है
अपनी शिक्षा से हर रोज शिक्षक,
जीवन के उच्चतम शिखर पर पहुंचना है
तो जिंदगी के हर पड़ाव में खोज शिक्षक।
शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं


Poem on Teachers Day in Hindi

फूल की तरह खिलना सिखाती है,
नन्ही उँगलियों से लिखना सिखाती है,
मेरी तोतली बोली को भी समझ जाती है
माँ सुबह-शाम मुझे पढ़ना सिखाती है।

माँ बच्चों को भरपूर प्यार देती है,
माँ ही बच्चों को संस्कार देती है,
माँ अनगिनत उपकार करती है
माँ पूरे जीवन को आकार देती है।

माँ बच्चों के भाग्य बनाती है,
जीवन में सुंदर सपने सजती है,
बच्चों को जरा सा दुःख हो जाएँ
तो पूरी दुनिया से लड़ जाती है।

कभी ख़ुशी में, कभी दुःख में रोती है,
माँ अपने बच्चों के आँखों में सपने बोती है,
माँ के आगे मुसीबतों की कद बड़ी छोटी है
माँ सबके जीवन में पहली शिक्षक होती है।
जीवन के प्रथम शिक्षक “माँ” को शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं


Poem for Teachers Day Celebration in Hindi

अपने ज्ञान के प्रकाश से
जीवन का अन्धकार मिटाता है शिक्षक,
अपने ज्ञान का सदाबहार फूल खिलाकर
पूरी दुनिया महकाता है शिक्षक।

उत्साह और साहस भरकर
जीवन को अर्थपूर्ण बनाता है शिक्षक,
ज्ञान का अमूल्य रत्न देकर
अपनी कृपा बरसाता है शिक्षक।

नीति और संस्कार की सीख देकर
धर्म के मार्ग पर चलाता है शिक्षक,
देश की हिफाजत के लिए
जीवन बलिदान की राह दिखाता है शिक्षक।

ज्ञान को जीवन का आधार बनाकर
अपना कर्तव्य निभाता है शिक्षक,
जिंदगी के हर मोड़ पर एक चुनौती होगी
उस चुनौती से लड़ना सिखाता है शिक्षक।
Happy Teachers Day 2022


टीचर्स डे पर एक छोटी-सी कविता

शिक्षक है शिक्षा का सागर,
शिक्षक बांटे ज्ञान बराबर,
शिक्षक मंदिर जैसी पूजा,
शिक्षक भगवान का नाम है दूजा।

प्यासे को जैसे मिलता पानी,
शिक्षक है वो जिंदगानी,
शिक्षक ना देखे जात-पात
शिक्षक न करता पक्षपात।

निर्धन हो या धनवान,
शिक्षक देते सबको ज्ञान,
शिक्षक का इस जग में बड़ा सम्मान
शिक्षक इस धरती के है भगवान।
हैप्पी टीचर्स डे 2022


Teachers Day Poem in Hindi for Nursery

शिक्षक ज्ञान का दीप है,
शिक्षक ज्ञान का है भंडार,
उनके चरणों के आशीष से
हम जीतेंगे हर बार।

शिक्षक की ज्ञान भरी बातें
कर देगी जीवन की नैया पार ,
उनके ज्ञान रुपी वरदान से
रौशन होता सारा संसार।

कर लो अपने शिक्षक की भक्ति
भव सागर से हो जाओगे पार,
मिलेगा ज्ञान ही ज्ञान तुमको
बदल जाएगा ये संसार।
Happy Teachers Day 2022


Teachers Day Poem in Hindi 2022

बच्चों के भविष्य को
सजाते है शिक्षक
ज्ञान के प्रकाश को
जलाते है शिक्षक।

सही-गलत के फर्क को
बताते है शिक्षक,
शिष्यों को सही शिक्षा
दे पाते हैं शिक्षक।

ऊँचे शिखर पर शिष्यों को
चढ़ाते है शिक्षक,
बच्चों के जीवन में
और निखार लाते है शिक्षक।
शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं


गुरु पर कविता हिंदी में

विद्या देते दान गुरूजी।
हर लेते अज्ञान गुरूजी।।

अक्षर अक्षर हमें सिखाते,
शब्द शब्द का अर्थ बताते,
कभी प्यार से कभी डाँट से,
हमको देते ज्ञान गुरूजी।

जोड़ घटाना गुणा बताते,
प्रश्न गणित के हल करवाते,
हर गलती को ठीक कराते,
पकड़ हमारे कान गुरूजी।

धरती का भूगोल बताते,
इतिहासों की कथा सुनाते,
क्या कब क्यों कैसे होता है,
समझाते विज्ञान गुरूजी।

खेल खिलाते गीत गवाते,
कभी पढ़ाते कभी लिखाते,
अच्छे और बुरे की हमको,
करवाते पहचान गुरूजी।
Happy Teachers Day 2022


शिक्षक सम्मान गीत

शिक्षा का मोल अनंत यहाँ,
शिक्षक इसके ध्वजवाहक है
जीवन की अँधेरी राहों में,
शिक्षा की मशाल के वाहक है।

काला अक्षर भैंस हो जब,
वो अक्षरज्ञान कराते है
साक्षर से शिक्षित की हर डगर,
धर हाथ वो पार कराते है।

जननी और जनक देते जीवन,
शिक्षक जीवन दिखलाते है
जीवन की मुश्किल राहों पर,
टिककर लड़ना सिखाते है।

है ज्ञान भरा पुस्तक में बहुत,
पर ज्ञान ग्रहण वो कराते है
कोई एक पीढ़ी को सजाता है,
शिक्षक हर युग को सजाते है।

हो छात्र प्रखर या हो उदंड,
सूरज सम शिक्षक की छाया
प्रत्येक को समुचित ज्ञान मिले,
उद्देश्य यही एक अपनाया।

है कार्य क्षेत्र में कठिन डगर,
शिक्षक शिक्षण में लीं मगर
एकमात्र लक्ष्य है जीवन भर
शिक्षा की ज्योति हो दीप्त प्रखर।
शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं 2022


शिक्षक पर हास्य कविता

स्कूल में पढ़ाते है,
कॉलेज में पढ़ाते है,
गुरूजी कहलाते है,
लड़कियों पर रहम
लड़को को मुर्गा बनाते है
वो गुरु जी कहलाते है।

गुरुजी कितना देते है
सबको पढ़ने का काम,
खेलने कूदने का वक्त ना मिले
नींद हो जाती है हराम,
जब काम नहीं होता है पूरा
लेते है ईश्वर का नाम
आज गुरूजी ना आएं
कृपा करो हे भगवान।
हैप्पी टीचर्स डे 2022


Teachers Day Poetry in Hindi

जब जिंदगी में मुसीबतें आती है,
उलझने और उलझ जाती है,
मन के चारों तरफ निराश छाता है,
हर तरफ अन्धकार हो जाता है,
तब इक उम्मीद दिखाई देती है,
तब ज्ञान ताकत बन जाती है,
तब गुरुजी की बातें याद आती है।

ज्ञान वो धन है जिसे कोई
चुरा नहीं सकता है,
ज्ञान वो धन जो बांटने पर
बढ़ता है,
ज्ञान वो धन जिसे पाकर
इंसान धन्य हो जाता है,
गुरुजी के इन बातों का सार
अब समझ में आता है,
गुरु ही इंसान को महान बनाता है।

मन में यह कसक रह जाती है,
काश !! गुरूजी की बातों को
मान लिया होता।
ज्ञान की ताकत को मैं
पहचान लिया होता।
तो दुनिया मेरा मजाक
बनाकर हंसती नहीं,
जीवन के दुःख को देखकर
आँखे बरसती नहीं,
गुरूजी की महिमा को जान गया,
गुरु के ताकत को पहचान गया.
शिक्षक दिवस की ढेरों शुभकामनाएं


Shikshak Diwas Par Hindi Mein Kavita

शिक्षक कब सामान्य व्यक्ति है
वो तो शिल्पकार होता है,
गीली मिट्टी को संवारने हेतु
कुम्भकार होता है।

वह साँचा होता है जिसमें
महामानव वाले जाते है,
और राष्ट्र के नव रत्नों के
सुखद स्वप्न पाले जाते है।

शिक्षक दिवस तभी सार्थक है,
जब शिक्षक अपना मूल्य बढ़ाएं
जनमानस भी श्रद्धानत हों
और उनके प्रति आभार जताएं।


शिक्षक पर कविता

यदि गुरु न होते इस जीवन में,
हमको राह दिखाता कौन
काले काले कक्षर किताब के
पढ़ना हमें सिखाता कौन ?

काँटों भरी कठिन डगर में,
चलना हमें सिखाता कौन
श्रम की भट्टी में तपा सोने को
कुंदन हमें बनाता कौन ?

जब डूब जाता मन निराश में
आशा के दीप जलाता कौन
देकर भीतर से मजबूत सहारा
आगे हमें बढ़ाता कौन ?

अनुशासन के महत्व को
प्यार से हमें समझाता कौन
परोपकार की सार्थकता से
परिचित हमें कराता कौन ?


आशा करता हूँ यह लेख Teachers Day ( Shikshak Diwas ) Poem Kavita Poetry Image Photo in Hindi आपको जरूर पसंद आया होगा। इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर साझा करें।

इसे भी पढ़े –

Latest Articles