Subh Vichar in Hindi | शुभ विचार हिंदी में

Subh Vichar in Hindi

Subh Vichar in Hindi – सुभ विचार ही जीवन में आगे बढ़ने और लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए प्रेरित करते हैं. सरल और सुलझी सोच व्यक्ति को जीवन में सफलता प्राप्त करने में मदत करते हैं. इस पोस्ट में दिए महान लोगो के विचारों को जरूर पढ़े और जो आपका अच्छा लगे उसे अपने जीवन में उतारें.

Best Subh Vichar in Hindi | बेष्ट सुभ विचार

बदला लेकर नहीं खुद को बदल कर देखिये! – ब्रह्माकुमारी शिवानी

आज भगवान का दिया हुआ एक उपहार है, इसीलिए इसे ‘PRESENT’ कहते हैं. – श्री श्री रवि शंकर

इन्सान मृत्यु से नहीं मरता भय से मरता हैं. – मुरारी बापू

वैसा मजाक किसी के साथ मत कीजिये जैसा आप सह नही सकते. – मुनि श्री तरूण सागर

अगर आप किसी की खुशियाँ लिखने वाली पेन्सिल नहीं हो सकते हैं तो एक अच्छा सा इरेजर बनिए जो उनका दुःख मिटा सके. – ब्रह्माकुमारी शिवानी

अस्वीकृति का मतलब अपने आप में ही सिमित रहना है. – श्री श्री रवि शंकर

गणित ठीक से सिखा नहीं मगर इतना मालूम हैं की खुशियां बांटने से बढाती हैं. – मुरारी बापू

भले ही लड़ लेना, झगड़ लेना पिट जाना या फिर पीट देना मगर कभी बोलचाल बंद मत करना क्योंकि बोलचाल के बंद होते ही सुलह के सारे दरवाजे बंद हो जाते हैं. – मुनि श्री तरूण सागर

कभी भी घमंड या अहंकार में अपना सर ऊँचा ना उठाएं. याद रखिये स्वर्ण पदक विजेता भी तभी पदक पाता है जब वो अपना सर झुकाता है. – ब्रह्माकुमारी शिवानी

कार्य करना और आराम करना जीवन के दो मुख्य अंग है। इनमे संतुलन स्थापित करने के लिए अपनी योग्यता का उपयोग करना चाहिये. – श्री श्री रवि शंकर

भगवान हमको दिखाई नहीं देता इसलिए वह मूल्यवान है. – मुरारी बापू

संघर्ष के बिना मिली सफलता को संभालना बड़ा मुश्किल होता हैं. – मुनि श्री तरूण सागर

हर कोई कहता है गलती सफलता का पहला कदम है लेकिन हकीकत में गलती को सुधारना सफलता का पहला कदम है. – ब्रह्माकुमारी शिवानी

चिंता करने से आपके जीवन में कोई बदलाव नही होंगा लेकिन काम करने से जरुर आप अपने आप को मजबूत बना सकते हो. – श्री श्री रवि शंकर

प्रामाणिक प्रेम प्रसन्नता की जननी है. – मुरारी बापू

दूसरों के भरोसे जिंदगी जीने वाले लोग हमेशा दुखी रहते हैं, इसलिए अगर हम जीवन में सुखी होना चाहते हैं तो हमें आत्मनिर्भर बनने की कोशिश करनी चाहिए. – मुनि श्री तरूण सागर

विज्ञान और आध्यात्मिकता जुड़े हुए हैं. दोनों एक ही चीज कहते हैं – विश्वास मत करो, अनुभव करो. – ब्रह्माकुमारी शिवानी

जीवन प्रकृति के बनाये नियमो पर चलता है. – श्री श्री रवि शंकर

पत्नी का अर्थ होता है जो पति को पतन होने से बचाए और नारी का अर्थ है न अरि अर्थात जो आपका दुश्मन नहीं है. – मुरारी बापू

जब “i” को “we” से बदल दिया जाता है तो ‘illness’ भी ‘wellness’ में बदल जाती है. – ब्रह्माकुमारी शिवानी

यदि कोई आपको सबसे ज्यादा ख़ुशी दे सकता है तो वह आपको दुःख भी दे सकता है. – श्री श्री रवि शंकर

अपने विचारों का दान करना सबसे बड़ा दान है. – मुरारी बापू

अमीर होने के दो तरीके हैं. पहला है वो सब कुछ पा लेना जो आप चाहते हैं, दूसरा है जो कुछ आपके पास है उससे संतुष्ट हो जाना. – ब्रह्माकुमारी शिवानी

प्यार में कभी गिरना नही चाहिये, प्यार में हमेशा आगे बढ़ना चाहिये. – श्री श्री रवि शंकर

भाग जाना बहुत ही आसान है पर जाग जाना बहुत कठिन है. आप भागो मत बल्कि जागो. – मुरारी बापू

हर सुनी-सुनाई बात पर यकीन मत करिए. एक कहानी के हमेशा तीन पहलू होते हैं. आपका, उनका और सच. – ब्रह्माकुमारी शिवानी

मै आपको बताता हु की, आपके मस्तिष्क के अलावा कोई भी दुसरी चीज़ आपको परेशान नही कर सकती. हा, भले ही आपको ऐसा दिखाई देंगा की दुसरे आपको परेशान कर रहे हो लेकिन वह आपका मस्तिष्क ही होंगा. – श्री श्री रवि शंकर

अत्यंत सुख से ही विपत्ति का जन्म होता हैं. – मुरारी बापू

इतने खुश रहे कि जब दूसरे आपको देखें तो वो भी खुश हो जाएं. – ब्रह्माकुमारी शिवानी

हमारे अन्दर के लोह तत्व को मजबूत रखने के लिए तीन चीजे दी गयी हैं : संयम, तप और श्रम. – मुरारी बापू