अनमोल विचार | Anmol Vichar in Hindi

Anmol Vichar in Hindi

Anmol Vichar in Hindi – इस पोस्ट में महापुरूषों के बेहतरीन अनमोल विचार दिए हुए हैं, जो आपको अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए प्रेरित करेगा. इस लेख को जरूर पढ़े. यदि आपको को पसंद आये तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें.

बेस्ट अनमोल विचार | Best Anmol Vichar

पवित्र और दृढ़ इच्छा सर्वशक्तिमान है. – स्वामी विवेकानंद

सरलता और परिश्रम का मार्ग अपनाओ, जो सफलता का एक मात्र रास्ता हैं. – डॉ. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम

विश्वास करना एक गुण हैं. अविश्वास दुर्बलता की जननी हैं. – महात्मा गाँधी

जिस अभिलाषा में शक्ति नहीं उसकी पूर्ति असम्भव हैं. – अज्ञात

निरंतर अभ्यास योग्यता से भी अधिक श्रेष्ठ हैं. – सिसरो

बुद्धिमान व्यक्ति को जितने अवसर मिलते हैं, उससे अधिक वह बनाता है. – फ्रांसिस बेकन

का वर्षा जब कृषि सुखाने, समय चूंकि पुनि का पछताने. – तुलसीदास

सम्भव, असम्भव से पूछता है -“तुम्हारा निवास स्थान कहाँ है?”. उत्तर मिला – निर्बल के स्वप्न में. – रवीन्द्रनाथ टैगोर

जीवन की प्रारंभिक असफलताएँ हमें व्यवहारिक ज्ञान देती हैं. – टी. एच. हक्स्ले

चतुर व्यक्ति व्यक्तिगत अनुभव से लाभ उठाता है, एक ज्ञानवान व्यक्ति दूसरों के अनुभवों से लाभान्वित होता हैं. – डॉ. जोसफ़ कॉलिन्स

अहंकार समस्त महान गलतियों की तह में होता हैं. – रस्किन

अधिक हर्ष और अधिक उन्नति के बाद ही अधिक दुःख और पतन की बारी आती हैं. – जयशंकर प्रसाद

श्रेष्ठ पुरूष जो-जो करता है एनी पुरूष भी उसके अनुसार व्यवहार करते हैं. वह जो आदर्श स्थापित कर देता हैं, लोग उसके अनुसार आचरण करते हैं. – श्रीकृष्ण गीता

सुख भोग की लालसा आत्मसम्मान का सर्वनाश कर देती है. – प्रेमचंद

यदि तुम सर्वोच्च शिखर पर पहुँचने के आकांक्षी हो तो सबसे नीचे से चढ़ना शुरू करो. – साइरस

आपत्ति के लिए धन की रक्षा करनी चाहिए, धन से स्त्री की रक्षा करनी चाहिए, किन्तु धन और स्त्री दोनों की अपेक्षा पहले अपनी रक्षा करनी चाहिए. – चाणक्य

आत्म-विश्वास बढ़ाने का मूल मन्त्र यह है कि तुम वह काम करो जिसे तुम करते हुए डरते हो. इस प्रकार ज्यों-ज्यों तुम्हें सफलता मिलती जायेगी तुम्हारा आत्म-विश्वास बढ़ता जाएगा. – डेल कार्नेगी

धीरज, धर्म, मित्र अरू नारी, आपत काल परखिये चारी. – तुलसीदास

दुःख का मूल कारण आसक्ति है. – महाभारत

किसी कार्य का आरम्भ उसका सबसे महत्वपूर्ण अंग होता हैं. – प्लेटो

मनुष्य स्वतंत्र जन्म लेता है, तब भी वह हर जगह जंजीरों से जकड़ा हुआ रहता है. – रूसो

जहाँ कोई आशा नहीं है, वहाँ कोई प्रयत्न नहीं हो सकता. – डॉ. जॉनसन

जिस परिश्रम के करने से हमें आनंद आता है, वह हमारे रोगों का अमृत है. – शेक्सपियर

मित्र को उधार देना मित्रता को खोना हैं. – सुकरात

हमारी सबसे बड़ी शान कभी न गिरने में नहीं है, बल्कि जब-जब हम गिरें, हर बार उठने में है. – कन्फ्यूशियस

चींटी से अच्छा उपदेशक और कोई नहीं है, वह काम भी करती है और खामोश भी रहती हैं. – बेंजामिन फ्रैंकलिन

उत्तरदायित्व, योग्यता और शक्ति के साथ-साथ चलता हैं. – जे. जी. हॉलैंड

बीते कल से सीखो, आज के लिए जियो और आने वाले कल से उम्मीद रखो. – आइन्स्टाइन

एकता का किला बड़ा मजबूत है. इसके भीतर रहकर कोई प्राणी दुःख नहीं भोगता. – हितोपदेश

पवित्रता के बिना एकाग्रता का कोई मूल्य नहीं होता. – स्वामी शिवानन्द

इसे भी पढ़े –