Sundar Vichar | सुन्दर विचार

Sundar Vichar

Sundar Vichar in Hindi ( Beautiful Thoughts in Hindi ) – व्यक्ति के जीवन में सुख-दुःख का सम्बन्ध सीधा उसके विचारों से हैं, जिसके हृदय में जैसा विचार होता हैं वो वैसा ही बन जाता हैं. गलत विचार दुःख का कारण बनता हैं और अच्छा विचार (सुन्दर विचार) सुख का कारण बनता हैं.

इस पोस्ट में बेहतरीन सुंदर विचार ( Beautiful Thoughts ) दिए हुए हैं. इन विचारों को जरूर पढ़े और दोस्तों के साथ शेयर करें.

खुशियाँ कम और अरमान बहुत है,
जिसे भी देखो परेशान बहुत हैं,
करीब से देखा तो निकला रेत का घर,
मगर दूर से इसकी शान बहुत हैं.

अतिसुन्दर विचार | Sundar Vichar

जीवन में सब कुछ मिल सकता है, किन्तु सब कुछ देकर भी जीवन नहीं मिलता.

धन तो संसार में बहुत लोग छोड़ जाते हैं, किन्तु अच्छा नाम विरले ही छोड़ते हैं.

सिर का झुकना नमन हैं, दिल का झुकना समर्पण हैं.

रूपये पैसे ही नहीं, कुछ पूण्य भी कमाओ ताकि मृत्यु के बाद भी लोगों के दिल में जिन्दा रह सको.

बदला लेने की ख़ुशी एक बार होती हैं, लेकिन माफ़ करने का गौरव सदा बना रहता हैं.

बच्चे तुम्हारी शिक्षाओं से नहीं सीखतें, वे तुम्हारे आचरण से सीखते हैं.

शिक्षा जीवन के लिए दी जाती हैं, ना कि मात्र जीविका के लिए.

हमेशा अच्छे लोगो की संगत में रहो, सुनार का “कचरा” भी बनिये के “बादाम” से महंगा होता हैं.

ब्रह्मांड में सबसे तीव्र गति प्रार्थना की है, हृदय से मुख तक पहुँचने से पहले ये भगवान तक पहुँच जाती हैं.

चाहे फेरे ले लो या कहो कबूल हैं, अगर दिल में प्यार नहीं तो सब फ़िजूल हैं.

हम जिस चेहरे के साथ पैदा होते है वो हमारा चयन नहीं होता, मगर जिस चरित्र के साथ हम मरते हैं उस फसल के हम ख़ुद जिम्मेदार होते हैं. वह हमारे शब्दों, विचारों और कार्यों का दर्पण होता हैं.

किसी की भूल पर नाराज होने से पहले, अपनी दस भूलों को भी गिल लो… वो कब और किन परिस्थितियों में हुई थी.

डोर लम्बी हो इसका मतलब यह नही की पतंग बहुत ऊपर तक जायेगी… उड़ाने का तरीका आना चाहिए. दौलत ज्यादा का मतलब सफ़ल जीवन नहीं… जीने का सलीका आना चाहिए.

एक दिन शिकायत तुम्हें ‘वक्त’ और जमाने से नहीं खुद से होगी… कि जिन्दगी सामने थी और तुम दुनिया में उलझे रहें.

औरत खुद एक बहुत बड़ी ताकत है. इतनी बड़ी कि “मर्द” पैदा करती हैं.

नादान लोग ही जीवन का आनन्द लेते है, हमने ज्यादा समझदारो को मुश्किल में ही देखा हैं.

जिन्दगी में दो लोगों का होना बहुत जरूरी है… एक कृष्ण जो ना लड़े फिर भी जीत पक्की कर दे, दूसरा कर्ण जो हार सामने हो फिर भी साथ ना छोड़े.

जब तक तुम दूसरों को प्रभावित करना चाहते हो… समझो अहंकार में हो.

उस रास्ते पर मत चलो जिस पर डर तुम्हें ले जाएं, बल्कि उस रास्ते पर चलो जिसपर प्रेम ले जाए, उस रास्तें पर चलो जिस पर ख़ुशी ले जाए.

विधाता की आदालत की वकालत बड़ी न्यारी हैं, तू खामोश रह… कर्म कर… तेरा मुकदमा जारी हैं.

अक्ल कितनी भी तेज हो नसीब से जीत नहीं सकती, बीरबल अक्लमंद होने के बावजूद कभी बादशाह नहीं बन पाया.

मेरी जेब में जरा सा छेड़ क्या हो गया… सिक्के से ज्यादा तो रिश्तें गिर गये.

“गृहिणी” बड़ा ही मामूली सा शब्द पर इसका अर्थ है बहुत ही ख़ास – “सारा घर जिसका ऋणी वही है गृहिणी”

जीवन एक यात्रा है. इसे जबरदस्ती तय न करें. इसे जबरदस्त तरीके से तय करें.

अगर कोई व्यक्ति बहुत हंसता है, बेकार की बातों पर ज्यादा हंसता है तो वह भीतर ही भीतर अकेला है.

कोई मामूली बातों पर गुस्सा हो जाता हैं, तो उसको प्यार की जरूरत हैं.

किसी को छोटी बात पर भी अगर रोना आता है तो वह मासूम और साफ दिल का हैं.

मन में जो है साफ़-साफ़ कह देना चाहिए क्योंकि सच बोलने से फैसले होते हैं और झूठ बोलने से फ़ासले.

“नहीं” और “हाँ” यह दो छोटे शब्द है लेकिन जिनके लिए बहुत सोचना पड़ता है, हम जिन्दगी में बहुत सी चीजें खो देते है, “नहीं” जल्दबाजी में बोलने पर और “हाँ” देर से बोलने पर.

मैं खुश हूँ कोई मेरी बात तो करता है, बुर कहता है तो क्या हुआ वो याद तो करता हैं.

ये सुन्दर विचार – कभी न भूले | Sundar Vichar – Never Forget

मैंने भगवान सी मांगी शक्ति,
उसने मुझे दी कठिनाईयाँ,
हिम्मत बढ़ाने के लिए.

मैंने भगवान से मांगी बुद्धि,
उसने दी उलझने
सुलझाने के लिए.

मैंने भगवान से मांगी समृद्धि,
उसने दी मुझे समझ,
काम करने के लिए.

मैंने भगवान से माँगा प्यार,
उसने दिए मुझे दुःखी लोग,
मदद करने के लिए.

मैंने भगवान से मांगी हिम्मत,
उसने दी परेशानियां,
हिम्मत बढ़ाने के लिए.

मैंने भगवान से माँगा वरदान,
उसने दिए मुझे अवसर,
उन्हें पाने के लिए.

वो मुझे नहीं मिला जो मैंने माँगा था,
मुझे वो मिल गया जो मुझे चाहिए था.


गरीब मीलों चलता है
भोजन पाने के लिए,
अमीर मीलों चलता है
उसे पचाने के लिए.

किसी के पास खाने के लिए
एक वक्त की रोटी नहीं,
किसी के पास एक रोटी
खाने के लिए वक्त नहीं.

कोई अपनों के लिए
अपनी रोटी छोड़ देता हैं,
कोई रोटी के लिए
अपनों को छोड़ देता हैं.

कोई दौलत के लिए
सेहत खो देता हैं,
कोई सेहत पाने के लिए
दौलत खो देता है.

कोई ऐसे जीता है जिसे कभी मरेगा नहीं,
और कोई ऐसे मर जाता है जैसे कभी जिया ही नहीं.

दुखी होने के 10 रास्तें | Sundar Vichar

देरी से सोना और देरी से उठना,
लेन-देन का हिसाब न रखना,
किसी के लिए कुछ ना करना,
हमेशा स्वयं कल इए ही सोचना,
स्वयं की बात को ही सत्य बताना,
किसी का विश्वास न करना,
बिना कारण झूठ बोलना,
कोई भी काम समय से न करना,
बिना मांगें सलाह देना,
भूतकाल के सुख को याद करना.

इसे भी पढ़े –