आत्मसम्मान पर अनमोल विचार | Self Respect Quotes in Hindi

Self Respect Quotes in Hindi

Self Respect Quotes in Hindi – जब व्यक्ति में आत्मसम्मान की भावना जागृति होती हैं तो उसके अंदर कई और अन्य गुण अपने आप आ जाते हैं, जिस व्यक्ति के अंदर आत्मसम्मान की भावना का विकास हो जाता हैं वो जीवन में महान और अच्छे कार्य ही करता हैं. इस पोस्ट में आत्मसम्मान पर बेहतरीन विचार दिए हुए हैं. इन्हें जरूर पढ़े. आत्मसम्मान आत्म निर्भरता के साथ आता हैं.

बेस्ट सेल्फ रेस्पेक्ट कोट्स | Best Self Respect Quotes in Hindi

बिना अपनी स्वीकृति के कोई मनुष्य आत्मसम्मान नहीं गंवाता. – महात्मा गांधी

जिस व्यक्ति के अंदर आत्मसम्मान की कमी होती हैं वह अक्सर दूसरों की बुराई करता हैं. – अज्ञात

सम्मानित व्यक्ति के लिए अपकीर्ति मृत्यु से भी अधिक बुरी होती हैं. – नीतिशास्त्र

अपने आत्मसम्मान की रक्षा जरूर करें, पर दुसरे के आत्मसम्मान को कभी ठेस न पहुंचायें. – दुनियाहैंगोल

आत्मसम्मान यह सुनिश्चित करता है कि मेरे प्रति किसी को किसी प्रकार का संदेह नहीं हैं. – मैंकन

मान-सम्मान तभी तक है, जब तक किसी के सामने मदद के लिए हाथ न फैलाया जाए. – प्रेमचंद

बुरी आदतें आत्मसम्मान के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं. – अज्ञात

सुख-भोग की लालसा आत्मसम्मान का सर्वनाश कर देती हैं. – प्रेमचंद

आत्मसम्मान के लिए मर मिटना ही दिव्य जीवन हैं. – जयशंकर प्रसाद

आत्मसम्मान के साथ समझौता करके जीवन जीना हमेशा कष्ट देता हैं. – अज्ञात

आत्म सम्मान की रक्षा हमारा सबसे पहला धर्म हैं. – प्रेमचंद

प्रायः आत्मसम्मान लाभकारी होता हैं, बशर्ते वह न्यायोचित एवं उपयुक्त हो. – जॉन मिल्टन

आत्मसम्मान समस्त गुणों की आधार-शिला हैं. – सर जॉन हरशल

जिसे आत्मसम्मान का आभास रहता है, वह किसी चीज को मुफ्त पा जाने की बजाए उसे अपने पौरूष से प्राप्त करता हैं. – स्वामी रामतीर्थ

आत्मसम्मान पहला रूप है जिसमें महानता प्रकट होती हैं. – एमर्सन

किसी व्यक्ति का व्यवहार अन्य व्यक्तियों के प्रति कैसा भी हो, परन्तु अपने को प्रशंसनीय समझ लेने के कारण ढूंढ लेना उसके लिए सरल होता हैं. – सैमुअल जॉनसन