मौन रहने के फायदे | Power of Silence in Hindi

Power of Silence in Hindi

Power of Silence in Hindi – मौन रहने से आतंरिक और मानसिक रूप से हमें शान्ति मिलती हैं. मौन रहने के फायदें बहुत सारे हैं जिसे जानना जरूरी हैं. यदि आप अपने आस-पास किसी पढ़े-लिखे और सुखी इंसान को देखेंगे तो आप को उसमें यह गुण जरूर नजर आएगा.

मौन दो प्रकार के होते है.

  1. वाणी से मौन – इसके अंतर्गत कम-से-कम बोलना, जिभ्वा या वाणी को वश में रखना, नहीं बोलना, जरूरत भर बोलना आदि आते हैं.
  2. मन से मौन – इसके अंतर्गत मन को शांत रखना, मन में बुरे विचार न आने देना, मन को वश में रखना, मन में अध्यात्मिक विचार को लाना आदि आते हैं.

चुप रहने के फायदे – मौन का महत्व

  • मौन रहने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इससे आत्मविश्वास, आत्मशक्ति, एकाग्रता और मन की शान्ति बढ़ती हैं. मौन रहने से व्यक्ति के सकारात्मक सोच को बल मिलता हैं.
  • मौन रहने से शरीर ऊर्जावान बना रहता है और हम अपने कार्य को बेहतर तरीके से करते हैं. बोलने में भी ऊर्जा लगती हैं. अगर आप बिना वजह बोल रहे है तो अपनी ऊर्जा और क्षमता का दुरूपयोग कर रहे हैं
  • मौन रहने से हम दूसरों की बातों को अच्छी तरह सुनते हैं और समझते हैं जिसके कारण हमारे सोचने और समझने की शक्ति बढ़ती है.
  • मौन रहने से ऑफिस के दोस्त, दोस्त, रिश्तेदार और व्यक्तिगत रिश्तों में सुधार महसूस करेंगे.
  • शहर में अधिक्तर लोग शोर की वजह से तनाव ग्रस्त रहते हैं. इस तरह के तनाव को कम करने के लिए “मौन रहना” सबसे उत्तम हैं.
  • कभी-कभी ज्यादा बोलने की वजह से अपने प्रियजन या दोस्तों को कुछ ऐसा बोल देते हैं जिसकी वजह से हमारा झगड़ा हो जाता हैं या हमें बाद में उस बात के लिए बहुत पछतावा होता हैं. ऐसी स्थिति से बचने के लिए मौन रहना सबसे उत्तम उपाय हैं.
  • वर्तमान समय में परिवारिक कलह भी एक बड़ी समस्या हैं, यदि परिवार के एक या दो सदस्य मौन रहना सीख ले तो पारिवारिक कलह से बचा जा सकता हैं.
  • शरीर को स्वस्थ रखने के लिए व्यक्ति व्यायाम करता हैं उसी प्रकार यदि आप अपने मस्तिष्क को स्वस्थ रखना चाहते है तो मौन रहना सीख लीजिए.
  • मौन में ही इतनी ताकत होती है जो व्यक्ति के अंदर के ताकत का अनुभव कराता हैं. जिस दिन आप अपने अंदर की ताकत को जान लेंगें आपके लिए कुछ भी असम्भव नहीं होगा.
  • मौन रहने से आत्मसंतुष्टि बढ़ती हैं, जिसके कारण अभाव में भी संतुष्ट होकर लक्ष्य को प्राप्त करने का प्रयास करते हैं. इससे लक्ष्य प्राप्ति आसानी से होता हैं.

इसे भी पढ़े –