घर शायरी स्टेटस | Ghar Shayari Status Quotes in Hindi

Ghar Shayari Status Quotes

Ghar Home House Shayari Status Quotes Image in Hindi for Whatsapp and Facebook – इस आर्टिकल में बेहतरीन घर शायरी स्टेटस कोट्स इमेज आदि दिए हुए हैं. इसे जरूर पढ़े और शेयर करें.

घर ऐसा जगह होता है जहाँ हर बच्चा अपनी प्राथमिक शिक्षा ग्रहण करता है. जिसमें वह प्रेम, त्याग आदर, सम्मान, सुख, दुःख आदि कई भावों को अनुभव करता है. वह घर वीरान-सा लगता है जिसमें खूबसूरत रिश्तों से जुड़े लोग न हो. जब हम घर छोड़कर बाहर जाते है और हमें कोई दुःख होता है तो हमें सबसे पहले अपना घर याद आता है. माँ-बाप याद आते है जो हर दुःख में हर समय साथ रहते है.

घर को खूबसूरत बनाने के लिए घर के हर सदस्य के अंदर त्याग की भावना का होना अत्यंत आवश्यक है. घर के बुजुर्ग घर की बुनियाद होते है. इनका सम्मान एवं आदर हमेशा करना चाहिए. घर के बुजुर्गों के अनुभव से हमेशा सीखने का प्रयास करते रहना चाहिए.

Ghar Shayari in Hindi

इंसान चाहता है कि उसे उड़ने को पर मिले,
परिंदा चाहता है कि उसे रहने को घर मिले.


दोस्ती कब और किस से हो जाएँ अंदाजा नहीं होता है,
दिल एक ऐसा घर है जिस में दरवाजा नहीं होता है.


काश मेरा घर तेरे घर के करीब होता,
बात करना न सही देखना तो नसीब होता.


Ghar Shayari in Hindi | Home Shayari in Hindi | House Shayari in Hindi | घर शायरी | घर स्टेटस | Ghar Status in Hindi

थक चूका हूँ मेहमान की तरह घर आते-आते,
बेघर हो गये है हम चंद रूपये कमाते-कमाते.


Ghar Shayari in Urdu

उस की आँखों में उतर जाने को जी चाहता है
शाम होती है तो घर जाने को जी चाहता है
कफ़ील आज़र अमरोहवी


कभी तो शाम ढले अपने घर गए होते
किसी की आँख में रह कर सँवर गए होते
बशीर बद्र


पता अब तक नहीं बदला हमारा
वही घर है वही क़िस्सा हमारा
अहमद मुश्ताक़


दर-ब-दर ठोकरें खाईं तो ये मालूम हुआ
घर किसे कहते हैं क्या चीज़ है बे-घर होना
सलीम अहमद


पहले हर चीज़ थी अपनी मगर अब लगता है
अपने ही घर में किसी दूसरे घर के हम हैं
निदा फ़ाज़ली


मकाँ है क़ब्र जिसे लोग ख़ुद बनाते हैं
मैं अपने घर में हूँ या मैं किसी मज़ार में हूँ
मुनीर नियाज़ी


Ghar Status in Hindi

गलतियाँ करने से मैं अब घबराने लगा हूँ,
जिम्मेदारियाँ घर की मैं जब से उठाने लगा हूँ.


किसी को घर से निकलते ही मिल गई मंजिल,
कोई हमारी तरह उम्र भर सफ़र में रहा.


दूर है मस्जिद क्या चला जाएँ,
किसी रोते हुए बच्चे को हँसा दिया जाएँ.


तोड़ दिए मैंने घर के आईने सभी,
प्यार में हारे हुए लोग मुझसे देखे नहीं जाते.


Ghar Shayari

कभी दिमाग कभी दिल कभी नजर में रहो,
ये सब तुम्हारे ही घर है, किसी भी घर में रहो.


आज फिर घर में कैद हर हस्ती हो गई,
जिन्दगी महँगी और दौलत सस्ती हो गई.


आईना देख कर तसल्ली हुई,
हमको इस घर में जानता है कोई.


Ghar Shayari in English

Ai Andhere Dekh Le Munh Tera Kaala Ho Gaya,
Maa Ne Aankhe Khol Dee Ghar Mein Ujaala Ho Gya.


Kisi Ko Ghar Mila, Hisse Mein Ya Koi Dukaan Aai,
Main Ghar Me Sabse Chhota Tha Mere Hisse Me Maa Aai.


Ghar Status

अपने मेहमान को पलकों पे बिठा लेती है,
गरीबी जानती है घर में बिछौने कम है.


तमाम रात मेरे घर को एक दर खुला रहा,
मैं राह देखती रही वो रास्ता बदल गया.


उस को रूखसत तो किया था मुझे मालूम न था,
सारा घर ले गया घर छोड़ के जाने वाला.


लोग टूट जाते है एक घर बनाने में,
तुम तरस नहीं खाते बस्तियाँ जलाने में.


घर शायरी

घर से निकलो तो पता चलता है,
जख्म उसका भी नया लगता है,
रास आ जाती है तन्हाई भी
एक-दो रोज बुरा लगता है
कितने जालिम है दुनिया वाले
घर से निकलो तो पता चलता है.


रूठे हुए अपनों को मना लूँगा एक दिन,
दिल का घर फिर से बसा लूँगा एक दिन,
लगने लगे जहां से हर मंजर मेरा मुझे
ख्वाबों का वो जहान बना लूँगा एक दिन,
अभी तो शुरूआत हुई है इस सफ़र की
बेरंग जिंदगी में रंग सजा लूँगा एक दिन.


अगर खिलाफ है होने दो जान थोड़ी है,
ये सब धुआं है कोई आसमान थोड़ी है,
लगेगी आग तो आयेंगे घर कई जद में
यहाँ पे सिर्फ हमारा मकान थोड़ी है.


Home Status

Ab Nahi Laut Ke Aaane Wala,
Ghar Khula Chhod Ke Jaane Wala.


Insan chahata hai Ki Use Udane Ko Par Mile,
Parinda Chahata Hai Ki Use Rahne Ko Ghar Mile.


Dosti Kab Aur Kisse Ho Jaayen Andaja Nahi Hota Hai,
Dil Ek Aisa Ghar Hai Jis Mein Darwaja Nhi Hota Hai.


घर स्टेटस

ना जाने माँ क्या मिलाया करती है आटे में,
ये घर जैसी रोटियां और कहीं मिलती ही नहीं.


Ghar Shayari in Hindi | Home Shayari in Hindi | House Shayari in Hindi | घर शायरी | घर स्टेटस | Ghar Status in Hindi

तुम्हारी राह में मिट्टी के घर नहीं आते,
इसलिए तो तुम्हे हम नजर नहीं आते.


खुला ना रख हर के लिए दिल का दरवाजा,
ये दिल एक घर है इसे बाजार मत बना.


बहुत आसान है जमीन पे घर खड़ा कर लेना,
जिन्दगी गुजर जाती है दिल में घर बनाने के लिए.


Home Shayari in Hindi

इतना न सवारों अपने जिस्म को
इसे तो मिट्टी में मिल जाना है,
सवारना है तो अपनी रूह को सवारों
जिसे परमात्मा के घर जाना है.


सूना-सूना सा मुझे घर लगता है,
माँ नहीं होती है तो बहुत डर लगता है.


वो शाख है न फूल, अगर तितलियाँ न हो,
वो घर भी कोई घर है जहाँ बच्चियाँ न हो.


Home Status in Hindi

तुम परिन्दें का दुःख नहीं समझे,
पेड़ पर घोंसला नहीं, घर था.


वापसी का कोई सवाल ही नहीं,
घर से निकला हूँ आँसुओ की तरह.


घर अंदर ही अंदर टूट जाते है,
मकान खड़े रहते है बेशर्मों की तरह.


घर के बाहर ढूँढ़ता रहता हूँ दुनिया,
घर के अंदर दुनिया-दारी रहती है.


होम स्टेटस

कितना खौफ होता है शाम के अंधेरों में,
पूछ उन परिंदों से जिनके घर नहीं होते.


जहां सजदा हो बुजुर्गों का
वहाँ की तहजीब अच्छी है,
जहाँ लांघे न कोई मर्यादा
उस घर की दहलीज अच्छी है.


मुमकिन है हमें माँ-बाप भी पहचान न पायें,
बचपन में ही हम घर कमाने निकल आयें.


घर आ कर बहुत रोये माँ-बाप अकेले में,
मिट्टी के खिलौने भी सस्ते नहीं थे मेले में.


House Shayari in Hindi

अजब अंदाज से ये घर गिरा है,
मिरा मलबा मिरे ऊपर गिरा है.
आनीस मोईन


सब का ख़ुशी से फ़ासला एक कदम है,
हर घर में बस एक ही कमरा कम है.


अपना गम ले कर कहीं और न जाया जाएँ,
घर में बिखरी हुई चीजों को सजाया जाएँ.


बेवजह घर से निकलने की जरूरत क्या है,
मौत से आँखे मिलाने की जरूरत क्या है,
सब को मालूम है बाहर की हवा है कातिल
यूँ ही कातिल से उलझने की जरूरत क्या है.


मिरे ख़ुदा मुझे इतना तो मो’तबर कर दे
मैं जिस मकान में रहता हूँ उस को घर कर दे
इफ़्तिख़ार आरिफ़


House Status

Thak Chuka Hoon Mehman Ki Tarah Ghar Aate-Aate,
Beghar Ho Gye Hai Hum Chand Roopye Kamate-Kamate.


Kaash Mera Ghar Tere Ghar Ke Kareeb Hota,
Baat Karna Na Sahi Dekhna To Naseeb Hota.


House Status in Hindi

खुद को मनवाने का मुझको भी हुनर आता है,
मैं वह कतरा हूँ समन्दर मेरे घर आता है.


किसी को घर से निकलते ही मिल गई मंजिल,
कोई मेरी तरह ताउम्र सफर में रहा.


Ghar Shayari in Hindi | Home Shayari in Hindi | House Shayari in Hindi | घर शायरी | घर स्टेटस | Ghar Status in Hindi

अपने घर के लोग अगर दुश्मनी करें,
किस आसरे पे यारों बसर जिन्दगी करें.


वो कौन है दुनिया में जिसे गम नहीं होता,
किस घर में ख़ुशी होती है, मातम नहीं होता.


इसे भी पढ़े –