Navratri Shayari | नवरात्रि शायरी

Navratri Shayari (नवरात्रि शायरी) – पूरे भारत में नवरात्रि को बड़े ही धूम-धाम से मनाया जाता हैं यह त्यौहार हमारे जीवन में सत्य और शक्ति के महत्व को दर्शाता हैं. भारत के अलग-अलग राज्यों में इसे भिन्न-भिन्न तरह से मनाया जाता हैं. नवरात्रि के नौ दिनों तक हम अपने व्हाट्सएप और सोशल मीडिया पर दोस्तों के साथ माँ दुर्गा की तस्वीर, शायरी, भजन, गाने, और कथाएँ शेयर करते हैं.

इस पोस्ट में नवरात्रि शायरी (Navratri Shayari), माँ दुर्गा महिमा शायरी (Maa Durga Mahima Shayari), शक्ति शायरी (Shakti Shayari) आदि दिया गया हैं जिसे आप अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते हैं.

नवरात्रि शायरी हिंदी में (Navratri Shayari in Hindi)

दुर्गा परम सनातनी जग की सृजनहार,
आदि भवानी महा देवी श्रृष्टि का आधार.

शुभ नवरात्रि (Shubh Navratri)

Navratri Shayari in Hindi


हर युग में मुनि ज्ञानी देते सबको यह उपदेश,
जो माँ दुर्गा का मनन मन से करे उसके कटे कलेश.

नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएँ (Happy Navratri)

Ma Durga Shayari


भक्तो का दुःख ये लेती हैं,
उनको अपार सुख देती हैं,
नैनो में जो माँ दुर्गा को बसाते,
बिन माँगे ही सब कुछ पाते.

नवरात्रि की शुभकामनाएँ

Best Navratri Shayari


श्रद्धा भाव कभी कम ना करना,
दुःख में हँसना गम ना करना,
घट-घट की माँ जाननहारी,
हर लेंगी सारी पीड़ा तुम्हारी.

Navratri Ma Durga Shayari


दूर करे भय भक्त का दुर्गा माँ का रूप,
बल और बुद्धि बढ़ाये माँ देती सुख की धूप.

Jai Mata Di Shubh Navratri


जब भक्त माँ के दर्शन पाएँ,
अपने सोये भाग्य जाएँ,
जो अपने मन को भक्ति में लगाये,
जीवन के वह सार सुख पाए.

Shubh Navratri


माँ दुर्गा भक्तो का करती विघ्न विनाश,
भक्तो की पीड़ा हरे, माँ करती कल्याण.

New Navrati Shayari