गर्लफ्रैंड बनाने के क्या नुकसान है? | What are the disadvantages of having a girlfriend?

गर्लफ्रैंड बनाने के क्या नुकसान है? | What are the disadvantages of having a girlfriend? – जिंदगी में रिश्तें बनाने के कुछ फायदें है तो कुछ नुकसान भी है। जो अच्छे और सच्चे होते है अगर उनका रिश्ता किसी गलत व्यक्ति से हो जाता है, तो उन्हें कई प्रकार के हानि और नुकसान से गुजरना पड़ता है।

आज मैं गर्लफ्रैंड बनाने की बात कर रहा हूँ। वर्तमान समय हर लड़का एक गर्लफ्रैंड बनाने की इच्छा रखता है और हर लड़की एक बॉयफ्रेंड बनाने की इच्छा रखती है। अगर लड़का और लड़की समझदार है तो इस प्यार भरे रिश्ते को खूबसूरत बना देते है। अगर समझदारी थोड़ी कम है तो एक व्यक्ति दूसरे का लाभ उठाता है।

लड़की को अपनी इच्छाओं पर ज्यादा कंट्रोल होता है जबकि लड़के लड़की के कहने पर कुछ भी करने को तैयार हो जाते है। कई बार इस बात का फायदा लड़कियां उठाती है और लड़कों को अपने फायदें के लिए इस्तेमाल करती है।

गर्लफ्रैंड होने के नुकसान

गर्लफ्रेंड होने से या बनाने से क्या नुकसान होता है, इस पोस्ट में नीचे दिया गया है. गर्लफ्रेंड बनाने के क्या लाभ होता है उसे इस लिंक पर क्लिक करके पढ़े – गर्लफ्रेंड बनाने के क्या फायदे है? | Benefit of Girlfriend in Hindi

समय की बर्बादी

- Advertisement -

एक गर्लफ्रैंड बनाने में लड़कों को महीने तो कुछ को सालों लग जाते है। एक छोटी सी गलती सब कुछ खत्म कर देती है। प्रतियोगिता हर जगह बढ़ रही है। अगर किसी लड़के ने गर्लफ्रैंड बनाया है तो उसे प्रतिदिन लगभग 3 से 4 घंटे का समय देना पड़ता है। वीकेंड में घुमाने भी ले जाना पड़ता है इसलिए गर्लफ्रैंड होने पर आपके समय की बर्बादी होती है। 80% रिश्ते 2-3 साल में टूट जाते है।

पैसों की बर्बादी

गर्लफ्रैंड बनाने के बाद लड़के स्मार्ट और डूड टाइप दिखने के लिए कपड़ों और बाइक पर पैसा खर्च करते है। उसके बाद, गर्लफ्रैंड का मोबाइल रिचार्ज कराना, गर्लफ्रैंड के बर्थडे पर गिफ्ट देना, शॉपिंग कराना, मोबाइल गिफ्ट करना आम बात है। अगर आप मूवी देखने जाते है या कही घूमने जाते है। इन सबका खर्च बेचारा लड़का ही देता है। अगर रिश्ता बीच में टूट गया तो इतने पैसे की केवल बर्बादी ही होती है।

करियर बर्बाद होने की संभावना

कई लड़के गर्लफ्रैंड बनाने के बाद बहुत खुश होते है और ज्यादा से ज्यादा समय अपनी गर्लफ्रैंड से बात करने में बर्बाद करते है जिसका सीधा असर उनकी करियर पर पड़ता है। कुछ लड़के शुरूआत में अपने करियर और गर्लफ्रैंड दोनो को मैनेज करके आगे बढ़ते है लेकिन बाद में उन्हें एक को चुनना पड़ता है। चाहे गर्लफ्रैंड को चुने या करियर को चुने।

मानसिक दबाव

गर्लफ्रैंड से रिश्ता टूटने पर बहुत से लड़के अवसाद के शिकार हो जाते है। कुछ नशीली पदार्थों का सेवन करने लगते है तो कुछ अकेले और दुखी रहने लगते है। उन्हें इस बात का पछतावा होता है कि जिसके पीछे इतना समय बर्बाद किया, आज वही रिश्ता तोड़ दिया।

गर्लफ्रैंड बनाने के अन्य नुकसान

  1. कई बार गर्लफ्रैंड की वजह से पारिवारिक कलह हो जाता है। एक नए रिश्ते के लिए माँ-बाप से झगड़ना बहुत बड़ा नुकसान होता है।
  2. गर्लफ्रैंड बनाने के बाद बहुत से लड़के दोस्तों से दूरी बना लेते है। दोस्ती जिंदगी का बहुत ही ख़ूबसूरत हिस्सा है। इससे दूरी बनना एक प्रकार का नुकसान है। जब दोस्त आस पास होते है तो जीवन में खुशियां अपार होती है।
  3. अगर लड़का कम स्मार्ट और हैंडसम होता है और लड़की उससे ज्यादा स्मार्ट और खूबसूरत होती है तो लड़के को लड़की की हर बात माननी पड़ती है. कई बार लड़कियाँ गुलाम की तरह भी व्यवहार करती है. इससे बहुत से लड़कों के स्वाभिमान को ठेस पहुँचता है.

इसे भी पढ़े –

Latest Articles