Poem on Rain in Hindi | बारिश पर कविता

Poem on Rain in Hindi

Poem on Rain in Hindi ( Barish Par Kavita ) – बारिश का मौसम बड़ा ही सुहाना लगता हैं क्योंकि चिलचिलाती गर्मियों के बाद आता हैं और हमारे मन और आत्मा को एक खूबसूरत-सा सुकून देता हैं. बारिश के मौशम का लुफ़्त लोग विभिन्न तरीकों से उठाते हैं. बारिश पर इस बेहतरीन रूहानी कविता को जरूर सुने. इस कविता को “अनुपमा श्रीवास्तव” ने लिखा है.

Poem on Rain in Hindi | बारिश के मौसम पर एक बेहतरीन कविता

पत्तो पर ठहरी,
फ़िसलती हुई बूँदें,
बड़ी सुहानी सी है,
इस खुशनुमा मौसम में
दिल में छुपी कोई
कहानी सी हैं.

शीशे के बाहर के तूफ़ान से
भीतर के तूफ़ान की
कुछ रवानी सी हैं,
बूँदों की रूनझुन के साथ
धड़कनों की धुन
कुछ पहचानी सी हैं.

बारिश के साथ गम हो जाना
अपनी आदत
पुरानी सी हैं,
एक लम्हें में
कई लम्हें जी लेना
मौसम की मेहरबानी सी हैं.

पिघलती बारिशों में
दिल की जमी
धुली धुली सी है,
धुआं धुआं से मौसम में
दिल की कली
खिली खिली सी हैं.

धरती पर बिखरती शबनम से
कई आरजुएं
मचली सी हैं,
सर्द हवाओं की दस्तक
और फिजाओं में
कई खुशबुयें मिली सी हैं.

गुनगुनाती वादियों ने
छेड़ी एक गजल
नई सी हैं
प्रकृति को
अपनी पनाओं में लेने,
बारिश की लड़ियाँ घिरी सी हैं.

लेखिका – अनुपमा श्रीवास्तव ‘अनुश्री’

Barish – Anupama Shrivastava ” Anushri” | By – Preeti Jog

(Video Courtesy: YouTube/Digital Hindi Kavyalaya )

इस कविता का ऑडियो यहाँ क्लिक करके सुने.

इसे भी पढ़े –