पटना और उसके आस-पास के पर्यटन स्थल | Patna in Hindi

Patna Tourist Places in Hindi

10 Best Patna Tourist Places in Hindi – पटना भारत के बिहार राज्य की राजधानी है, इसे प्राचीन काल में पाटिलपुत्र ( Patilputra ) के नाम से भी जाना जाता था. पटना गंगा नदी के दक्षिणी किनारे पर स्थित है, जहाँ पर गंगा घाघरा, सोन और गंडक जैसी सहायक नदियों से मिलती हैं. प्राचीन बौद्ध और जैन तीर्थ स्थल वैशाली, राजगीर, नालंदा, बोधगया और पावापुरी पटना शहर के आस-पास ही स्थित हैं.

पटना में 10 बेहतरीन पर्यटक स्थल | Best Tourist Place in Patna

पटना में बहुत से ऐसे जगह है जहाँ आप घूमने के लिए जा सकते हैं. हम आपको कुछ बेहतरीन जगहों के बारें में बताते हैं इन्हें पटना में जरूर देखे.

#1- नालंदा | Nalnda for Tour in Hindi

विश्व के प्राचीन विश्वविद्यालयों में नालंदा का नाम सबसे ऊपर है, प्राचीन भारत में उच्च शिक्षा का सर्वाधिक महत्वपूर्ण और विख्यात केंद्र था. वर्तमान समय में इसके अवशेष ही बचे हैं परन्तु इस ऐतिहासिक विरासत को देखने के लिए देश के कोने-कोने से लोग आते हैं. पटना से यह लगभग 88 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में हैं.

#2- महावीर या हनुमान मंदिर | Mahaveer or Hanuman Mandir in Hindi

यह भगवान हनुमान के एक पवित्र मंदिर हैं, जहाँ लाखों तीर्थयात्री यहाँ हनुमान जी की पूजा-अर्चना करने आते हैं. यह एक भव्य मंदिर हैं. पटना रेलवे स्टेशन से इस मंदिर की दूरी लगभग 5 किलोमीटर हैं.

यहां की एक खास बात यह है कि यहां रामसेतु का पत्थर कांच के बरतन में रखा हुआ है. इस पत्थर का वजन 15 किलो है और यह पत्थर पानी में तैरता रहता है. – Source – jagran.com

#3- श्रीकृष्ण विज्ञान केंद्र | Sri Krishna Science Center

श्रीकृष्ण विज्ञान केंद्र भी एक खूबसूरत पर्यटक स्थल हैं. यहाँ पर आप फन साइंस गैलरी ( Fun Science Gallery ), पॉपुलर साइंस गैलरी ( Popular Science Gallery ), 3D शो, विश्वरूपा, जुरासिक पार्क ( Jurassic Park ) और इवोल्यूशन यहाँ के मुख्य आकर्षण हैं. विज्ञान को रोचक बनाने के लिए समय-समय पर यहाँ विभिन्न प्रकार की प्रदर्शनियाँ लगती हैं. यह पटना रेलवे स्टेशन से लगभग 3 किलोमीटर की दूरी पर हैं जहाँ किसी साधन के द्वारा पहुचने में आपको 10 मिनट लगेगा.

#4- गांधी मैदान | Gandhi Maidan Patna in Hindi

गाँधी मैदान पटना के बीच में स्थित हैं, पहले इसे पटना लॉन कहते थे. यहाँ पर महात्मा गांधी का विश्व भर में सबसे लम्बी प्रतिमा स्थापित हैं. गांधी मैंदान एक प्रख्यात और एतिहासिक मैंदान हैं.

#5 – बुद्ध स्मृति पार्क | Buddha Smriti Park in Hindi

बुद्ध स्मृति पार्क पटना रेलवे जंक्शन के पास 22 एकड़ ज़मीन पर 125 करोड़ रुपए की लागत से बना उद्यान है. इसके मध्य में 200 फ़ीट ऊँचा एक स्तूप बनाया गया है. इसमें छह देशों से लाए गए ‘ बुद्ध अस्थि अवशेष‘ रखी गई हैं. 27 मई 2010 को बुद्ध पूर्णिमा के दिन तिब्बतियों के धर्मगुरु दलाई लामा ने इसे जनता को समर्पित किया. उन्होंने इस स्तूप को पाटलिपुत्र करुणा स्तूप का नाम दिया. यह दुनिया भर के बौद्ध पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है.

#6- संजय गांधी जैविक उद्यान | Sanjay Gandhi Biological Park in Hindi

संजय गांधी जैविक उद्यान को पटना चिड़ियाघर ( Patna Zoo ) भी कहा जाता हैं. इस पार्क को 1973 में एक चिड़ियाघर के रूप में जनता के लिए खोला गया था. पिकनिक के लिए यह एक सर्वोत्तम स्थान हैं.

इस चिड़ियाघर या जैविक उद्यान में आपको बाघ, तेंदुए, जंगली बिल्ली ( Clouded Leopard ), हिप्पोपोटामस, मगरमच्छ, हाथी, हिमालयी काले भालू, काले हिरन, घरियल, अजगर, चिम्पांजी, जिराफ, ज़ेबरा, सफेद मोर सहित और अन्य कई जानवर आपको देखने को मिलेंगे.

#7 – पटना संग्रहालय | Patna Museum in Hindi

पटना संग्रहालय का निर्माण 1917 में अंग्रेजी शासन के समय हुआ था ताकि पटना के आसपास पाई गई ऐतिहासिक वस्तुओं को संग्रहित किया जा सके. स्थानीय लोग इसे “जादू घर” भी कहते हैं.

संग्रहालय नव पाषाणकालीन पुरावशेषों और चित्रों, दुर्लभ सिक्कों, पांडुलिपियों, पत्थर और खनिज, तोप और शीशा की कलाकृतियों से समृद्ध है. वैशाली में लिच्छवियों द्वारा भगवान बुद्ध की मृत्यु के बाद बनवाए गए प्राचीनतम मिट्टी के स्तूप से प्राप्त बुद्ध के दुर्लभ अस्थि अवशेष वाली कलश मंजूषा है तो वृक्ष का जीवाश्म संग्रहालय में काफी पुराने चीड़ के एक वृक्ष का जीवाश्म भी यहां रखा हुआ है, जिसे देखने के लिए विदेश से भी लोग आते हैं.

#8- गोलघर | Golghar in Hindi

गवर्नर जनरल वारेन हेस्टिंग ने गोलघर ( Round House ) के निर्माण की योजना बनाई थी, ब्रिटिश इंजिनियर कैप्टन जान गार्स्टिन ने अनाज़ के (ब्रिटिश फौज के लिए) भंडारण के लिए इस गोल ढाँचे का निर्माण 20 जनवरी 1784 को शुरु करवाया था. इसका निर्माण कार्य ब्रिटिश राज में 20 जुलाई 1786 को संपन्न हुआ था.

गोलघर की उंचाई 29 मीटर है. इसमें कोई स्तम्भ नहीं है और इसकी दीवारे आधार में 3.6 मीटर मोटी हैं. इसमें 140000 टन अनाज़ रखा जा सकता है. इसके 145 सीढ़ियों के सहारे आप इसके ऊपरी सिरे तक जा सकते हैं जहाँ सिटी का एक बड़ा हिस्सा देखा जा सकता है और यहाँ से गंगा के मनोहारी दृश्यों की झलक मिलती हैं.

#9- पाटन देवी मंदिर | Patan Devi Temple in Hindi

पाटन देवी मंदिर पटना में देवी दुर्गा का पवित्र मंदिर हैं. यह मंदिर माँ दुर्गा का निवास स्थान है और मंदिर की मूर्तियाँ काले पत्थर से बनी हुई हैं. यहाँ मंगलवार के दिन विशेष पूजा होती हैं. पटना में पाटन देवी भी दो नामो से विराजमान है – एक छोटी पाटन देवी और दूसरी बड़ी पाटन देवी, दोनों के अलग-अलग मंदिर बने हुए हैं.

#10 – गुरूद्वारा हांडी साहिब | Gurudwara Handi Sahib in Hindi

गुरूद्वारा हांडी साहिब पटना रेलवे जक्शन से लगभग 13-15 किमी. की दूरी पर स्थित हैं. पटना छोड़ने के बाद गुरू तेग बहादुर के परिवार ने यहाँ अपना पहला पड़ाव डाला था. धार्मिक किताबों और ग्रंथो के अनुसार माई परधानी नामक एक बूढ़ी औरत ने उनको खिचड़ी से भरी हांडी परोसी थी जिसके कारण यहाँ निर्मित तीर्थस्थल को ‘हांड़ीवाली संगत’ नाम दिया गया जिसे अब गुरूद्वारा हांडी साहिब कहते हैं.