हिंदी पत्रकारिता दिवस | Hindi Journalism Day Shayari Status Quotes in Hindi

Hindi Journalism Day Shayari Status Quotes Hindi

Hindi Journalism Day Shayari Status Quotes in Hindi – इस अर्टिकल में हिंदी पत्रकारिता दिवस पर शायरी स्टेटस कोट्स दिए हुए है. इन्हें जरूर पढ़े.

हिन्दी पत्रकारिता दिवस ( Hindi Journalism Day ) हर साल 30 मई को मनाया जाता है. भारत के प्रथम पत्रकार पंडित युगुल किशोर शुक्ल ने 1826 ई. में प्रथम हिन्दी समाचार पत्र ‘उदन्त मार्तण्ड‘ का प्रकाशन आरम्भ किया था. हिंदी पत्रकारिता की शुरुआत बंगाल से हुई थी. इसका श्रेय राजा राममोहन राय को दिया जाता है. पत्रकारिता ने आज सारे विश्व में अपनी एक खास पहचान बना ली है.

Hindi Journalism Day Shayari in Hindi

पत्रकारिता में जो कलम की ताकत को जानता है,
वो सत्ता में बैठे नेताओं के हर रंग को पहचानता है.


पत्रकारिता जनता का पथ-प्रदर्शक होती है,
जब वही सत्ता के साथ हो तो जनता का क्या हाल हो?


सच और झूठ का भेद मिट जाता है,
जब पत्रकारिता सत्ता के आगे झुक जाता है.


Hindi Journalism Day Status in Hindi

सच कभी बदलता नहीं है,
चाहे कितने लोग अपना ईमान बेच दे.


राजा, मंत्री, सत्ता तक बदल जाती है,
जब कलम सच के पथ पर जाती है.


पत्र, पत्रिका, पत्रकार पर भरोसा कैसे करें,
जब वो अपना काम सिर्फ सत्ता के लिए करें.


Hindi Journalism Day Shayari

हर परिस्थिति में सच के लिए लड़ने को तैयार हूँ,
ऐ दोस्त, मैं अपने शहर का बड़ा बदनाम पत्रकार हूँ.


पत्रकारिता एक वरदान है,
मदत करो उनकी जो गरीब इन्सान है.


बहुत से ऐसे मुद्दे है जिन्हें उठाया ही नहीं जाता है,
आज भी गरीबों की गरीबी को मुद्दा बताया ही नहीं जाता है.


Hindi Journalism Day Quotes in Hindi

जैसे इस देश में राजनीतिक पार्टी पक्ष-विपक्ष में बटा है. ठीक उसी प्रकार पत्रकारिता भी बटी है. एक पक्ष के लिए बोलता है तो दूसरा विपक्ष के लिए बोलता है. पर सच कोई नहीं बोलता है.

पत्रकार को देश हित सर्वोपरि रखना चाहिए. बाद में बाकी सारी चीजे आती है.

पत्रकारिता में एक नये युग का आरम्भ हो चूका है जिसमें हाजारों युवा लेखक, पत्रकार, विद्वान अपना ब्लॉग बनाकर सच को अपनी कलम से लिखते है.

Hindi Journalism Day Status

गरीबों को सहने की आदत होती है,
शोर में भी सच कहने की आदत होती है.


कलम टूट जाए या हम टूट जाए,
पर सच को जनता तक पहुंचाने का
सिलसिला न टूटने पाए.


जब कलम सच बोलती है,
तो सत्ता की पोल खोलती है.


Journalism Day Status in Hindi

कलम बिकती जा रही है,
देश की गरीबी मिटती जा रही है.


लोगो में न्यूज बाटियें,
डर और खौफ़ नहीं.


जब पत्रकार की कलम बिकती है,
तब कोने में बैठ सच सिसकती है.


Journalism Day Quotes

Journalism is not just a ‘Job‘. Its a responsibility to stand, show and speak rihgt.

We dream of a nation where media pays more attention on the reasons of farmers committing suicide rather than a cricketer’s love tale.

Quotes on Journalism in Hindi

वो मुझे देश का गद्दार नहीं लिख सकते है,
सत्ता के सामने झुक जाए वो लाचार नहीं लिख सकते है,
जान हथेली पर लिए जिस सच को बोल रहा हूँ
उस सच को इस देश के अखबार नहीं लिख सकते है.


कलम बिक गयी जबसे सियासत के बाजार में,
इश्क़ के फ़साने छपने लगे शहर के अखबार में.


पत्रकार पत्रकारिता करते हुए
ही अच्छा लगता है न कि राजनीति.


पत्रकारिता को लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ माना जाता है,
इसका दृढ़ता से सच के साथ खड़ा होना अति आवश्यक है.


Hindi Journalism Day Shayari Hindi

ये दौलत कुछ इस कदर असरदार हो गई,
कि कलम भी सियासत की कर्जदार हो गई.


किसी के हक़ में, किसी के खिलाफ़ लिख दूँगा,
मैं तो आईना हूँ, जो देखूँगा साफ़ लिख दूँगा.


कलम यूँ ही चलती रहे,
फिर भले दुनिया जलती रहे,
सच सबको दिखता रहे
फिर भले झूठ बिकता रहे.


इसे भी पढ़े –