खुशहाल जीवन का मन्त्र | Happy Life Tips in Hindi

Happy Life Tips in Hindi

Happy Life Tips in Hindi – आज मैं आपको जीवन के वो पांच सूत्र बतलाता हूँ. अगर आपने इसे सही से अमल किया या धारण किया तो मैं विश्वास दिलाता हूँ कि आपका कल्याण होगा. आप जीवन में सफलता और खुशियों को प्राप्त करते हुए आगे बढ़ते चले जायेंगे. सुखी जीवन के सूत्र इस प्रकार हैं –

शिक्षा | Education

पहला सूत्र ‘शिक्षा’ है. शिक्षा शेरनी का दूध है जो पीएगा वो दहाड़ेगा और जो नहीं पीएगा वो अन्य छोटे जानवरों की तरह आवाज करेगा. इसलिए याद रखना आप कुछ भी करना, कैसे भी करना पर अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा जरूर दिलाना. अगर आप अपने बच्चों को शिक्षा नहीं दे सकते हैं तो याद रखियेगा आप अपने जीवन में कोई बड़ा कार्य नहीं कर सकते हैं.

संस्कार | Rites

दूसरा सूत्र ‘संस्कार‘ हैं. अच्छी शिक्षा के साथ अच्छे संस्कार का होना भी जरूरी हैं. अगर आपने शिक्षा अच्छी दिला दी पर संस्कार अच्छे नहीं है तो बुढ़ापे में आपके बच्चे आपका सम्मान नहीं करेंगे. आप अपने आस-पास देखेंगे तो आपको बहुत सारे ऐसे लोग मिल जायेंगे जो अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा और अच्छी डिग्रियाँ तो दिला दी है पर अच्छे संस्कार न देने की वजह से उन्हें बुढ़ापे में तिरस्कार छेलना पड़ता हैं. इसलिए हमेशा ध्यान रखे अच्छी शिक्षा के साथ अच्छे संस्कार का होना अति आवश्यक हैं.

संगति | Companion

तीसरा सूत्र ‘संगति‘ है. आप चाहे जितनी अच्छी शिक्षा दिला दीजिये, आप चाहे जितने अच्छे संस्कार दे दीजिये. तब तक कुछ नहीं होने वाला जब तक आप अपने बच्चों की संगति पर ध्यान नहीं देते हैं. सभी जानते हैं कि बुरे लोगो की संगति में इंसान बुरा बन जाता हैं और अच्छे लोगो की संगति में इंसान अच्छा बन जाता हैं. शिक्षा और संस्कार का सही मूल्य आपको और अपने बच्चों को तभी मिलेगा जब आपके बच्चों की संगति अच्छी होगी. आपके बच्चों की संगति तब अच्छी होगी जब आपकी संगति अच्छी होगी.

एकता | Unity

चौथा सूत्र ‘एकता‘ है. एकता आपको सिर्फ पढ़ने में ही मिलेगा. अगर आप समाज को देखेंगे तो आपको एकता दूर-दूर तक नजर नहीं आएगा. परिवार, समाज और देश विभिन्न मुद्दों पर टूटते और बटते नजर आ रहे हैं जो विकास लिए बाधक होते हैं. एकता में बड़ी ताकत होती है आपको को मैं कुछ उदाहरण देता हूँ.

उदाहरण – मधुमक्खी में एकता है इसलिए वो शहद का निर्माण मिलकर कर पाते हैं, शायद एक मधुमक्खी के लिए वह असम्भव सा होगा. जब चार सियार मिलकर एक शेर को मार देते हैं. यह सियारों की ताकत नहीं उनकी एकता का परिणाम हैं. मैं चाहता हूँ मेरा देश, समाज और परिवार एकता की ताकत को समझे, महत्व को पहचाने और एकता को अपने जीवन में उतारें.

व्यक्तिगत पहचान | Personal Identification

पांचवा सूत्र ‘व्यक्तिगत पहचान‘ हैं. जिस व्यक्ति की व्यक्तिगत पहचान नहीं होती है, वह व्यक्ति किसी काम का नहीं होता हैं. अगर इस धरती पर आपको जन्म मिला है तो कुछ ऐसा कार्य करें जिससे आपकी पहचान बनें. कोई विशेष कार्य करें, कोई कलात्मक कार्य करें, बिज़नस करें और अन्य बहुत सारें कार्य है जिसे करके आप अपनी पहचान बना सकते हैं.

संसार में इन पाँचों सूत्रों को जो ध्यान में रखेगा वह अपने जीवन में बहुत आगे निकलेगा और सफलता की बुलंदियों को छूएगा.