द्रोपदी चीर हरण पर शायरी | Dropadi Cheer Haran Shayari Status Quotes Hindi

Dropadi Cheer Haran Shayari Status Quotes Image Photo in Hindi – इस आर्टिकल में द्रोपदी शायरी स्टेटस कोट्स इमेज फोटो आदि दिए हुए है.

द्रोपदी का स्वयंवर होता है जहाँ एक घूमती हुई मछली के आँख में तीर मारने वाला ही वर माना जाएगा। द्रोपदी के पिता राजा द्रुपद ऐसी घोषणा करते है. स्वयंवर में एक से एक धनुर्धर पहुँचते है जिसमें से धनुर्धर अर्जुन मछली का आँख में निशाना लगाकर स्वयंवर को जीत लेते है. द्रोपदी उन्हें वर माला पहनाती है.

लाक्ष्यागृह के षड़यंत्र के कारण वे एक वनवासी जीवन जी रहे थे. दिन भर माँगने पर जो मिलता वही भोजन करते। पांचो पांडव जब द्रोपदी के साथ कुटिया के नजदीक पहुँचे तो अर्जुन से प्रसन्नता में आकर कुटिया के बाहर से आवाज लगाई। माँ देखों मैं क्या लाया? माता कुंती भूल वश बिना देखे कुटिया के अंदर से बोल दी. पाँचों भाई आपस में बाँट लो. परन्तु जब थोड़ी देर बाद पांडव की माता कुंती बाहर आती है तो उन्हें अपने भूल का एहसास होता है. तब से द्रोपदी पांचों पांडव की पत्नी बन गयी.

यहाँ तक तो सब ठीक था लेकिन जब द्रोपदी को भरी राजसभा में अपमानित किया जाता है और वहाँ पर बड़े से बड़े योद्धा मौन हो जाते है तब द्रोपदी अपने सखा कृष्ण को याद करती है जो द्रोपदी के लाज को बचाते है. जब किसी वीर पुरूष के होते किसी स्त्री का अपमान हो तो ऐसे वीर पुरूषों को आत्मग्लानि से मर जाना चाहिए। मैं महाभारत में उन्हें योद्धा नहीं मानती जिनके सम्मुख एक स्त्री का अपमान हुआ और सब मौन रहे.

Dropadi Cheer Haran Shayari

Dropadi Cheer Haran Shayari
Dropadi Cheer Haran Shayari in Hindi | द्रोपदी चीर हरण शायरी
- Advertisement -

द्रोपदी के चीर हरण का दोषी
मैं किस-किस को मानूँ,
उस दिन राजसभा में सब कायर बैठे थे
मैं तो सिर्फ इतना जानूँ।


बहुत बड़े योद्धा थे पर एक बुरी आदत ने
पत्नी को भी दाँव पर लगा दिया,
धिक्कार है ऐसा ज्ञान, पौरूष और वीरता जिसने
एक स्त्री को अपमान का घाव दिया।


कहता है महफ़ूज रहे
वो घर के बंद दीवारों में,
बता द्रोपदी कहाँ लूटी थी
घर में कि बाजारों में.


Dropadi Cheer Haran Status

Dropadi Cheer Haran Status
Dropadi Cheer Haran Status in Hindi | द्रोपदी चीर हरण स्टेटस

जब जिस युग में द्रोपदी का अपमान होगा,
यह समझ लो उस कुल का निश्चित नाश होगा।


ऐ द्रोपदी, इस कलियुग में तुझे खुद लड़ना होगा,
शायद सखा कृष्णा ना आये, यह समझना होगा।


द्रोपदी का अपमान एक कहानी नहीं,
समाज के लिए एक कड़वा प्रश्न है…!


Dropadi Cheer Haran Quotes

Dropadi Cheer Haran Quotes
Dropadi Cheer Haran Quotes in Hindi | द्रोपदी चीयर हरण कोट्स इन हिंदी

पुत्र मोह में वो धृतराष्ट मत बनों,
कि द्रोपदी का अपमान करने पर
अपने बच्चे को डाँट ना पाओ.
जो बच्चे अपने घर की स्त्रियों का
सम्मान नहीं करते है, वही आगे
चलकर कुल का नाश करते है.


द्रोपदी को अपमानित करने वाला
तुम्हें दुशासन बनना है या
द्रोपदी के सम्मान की रक्षा करने
वाला कृष्णा बनना है. जो चाहे बनो
लेकिन महाभारत के अंत को
हमेशा याद रखना।


महाभारत का युद्ध उस अहंकारी
राजा के खिलाफ था जो पुत्र मोह
में एक नारी के अपमान पर मौन रहा,
महाभारत का युद्ध उन गुरूओं के
खिलाफ था जिन्होंने अपने शिष्यों
को एक स्त्री का सम्मान करना नहीं
सिखा पाया।


चीरहरण शायरी

चीरहरण शायरी
चीरहरण शायरी | Cheerharan Shayari

पौरूष और वीरता व्यर्थ हुई आज,
दुशासन झपट पड़ा जब बनकर बाज,
द्रोपदी ने सच्चे मन से दिया आवाज,
तुरंत मुरलीधर आ गए बचाने लाज.


आज कलियुग में ना जाने
कितनी द्रोपदी का चीर हरण हो रहा है,
क्या कोई कन्हैया आएगा बचाने,
दुशासन को मौत के घाट उतारने।


द्रोपदी चीर हरण शायरी

द्रोपदी चीर हरण शायरी
द्रोपदी चीर हरण शायरी | Dropadi Cheer Haran Shayari in Hindi

धर्म, वीरता और ज्ञान सब मौन हुए,
भरी सभा में दत्यों ने किया उपहास,
द्रोपदी की लाज बचाने तो कृष्ण आ गए
पर निर्वस्त्र हो गया वीरता का इतिहास।


इतिहास के पन्ने
फिर ना दोहराएंगे,
शस्त्र उठा लो द्रोपदी
अब कृष्ण ना आएंगे।
यश्वी शर्मा


द्रोपदी चीर हरण स्टेटस

माँ द्रोपदी तुम धन्य हो,
नारी का साहस अदम्य हो.


जब किसी द्रोपदी का अपमान होता है,
तो समाज में हजारों कमियाँ मुझे नजर आती है.


हर बार द्रोपदी की लाज बचाने कन्हैया नहीं आएंगे,
हर द्रोपदी के भीतर एक दुर्गा भी है, स्वयं की शक्ति को पहचानों।


द्रोपदी सुविचार

मैं द्रोपदी, हर माँ से कहना चाहूँगी,
अपने बेटियों को शस्त्र की भी शिक्षा दें,
जब कोई दुशासन चीरहरण करने के लिए
हाथ बढ़ाएं तो उसे काट सके.


कलयुग का कोर्ट और द्वापर का राजसभा एक ही है,
क़ानून ने हाथ बाँध रखे है और मुख पर मौन है, एक स्त्री
आज भी रोकर न्याय की उम्मीद करती है. कुछ को न्याय
मिलता है तो कुछ को सिर्फ तारीख और तसल्ली।


Dropadi Shayari

Dropadi Shayari
Dropadi Shayari | द्रोपदी शायरी

द्रोपदी हर नारी के
अंदर की इक चिंगारी है,
दुशासन अब हो जाएँ सावधान
अब वो अबला नहीं कटारी है.


द्रोपदी शायरी

हाथों में मेहँदी लगाना छोड़ो,
खुद को पहचान कर शस्त्र उठा लो,
जब कोई दुस्शासन हाथ बढ़ाएं चीर पर
तो उसको तुम दुर्गा बन चीर दो.


Dropadi Status

अब क्यों नहीं आते मोर मुकुट पहने कन्हैया,
आज भी कई द्रोपदी तुम्हें सच्चे दिल से पुकारती है.


Dropadi Quotes

समस्त जग सुन ले
उस धर्म, प्रतिज्ञा और वचन
तोड़ना मैं पुण्य समझती हूँ
जिससे किसी नारी का
सम्मान बच सके.


एक औरत के खुले केशा को
कमजोर मत समझना,
द्रोपदी ने क्रोध में खोले थे और
कौरव के समूल वंश का नाश हो गया.


द्रोपदी वीडियो | Dropadi Video

“द्रोपदी” भारत की मर्यादा पर लगा हुआ एक प्रश्नचिन्ह… यह वीडियो Manoj Muntashir के चैनल से लिया हुआ है. शायद इसी वीडियो से प्रेरणा लेकर मैंने यह लेख लिखा है. इस बेहतरीन वीडियो को पूरा जरूर सुने।

आशा करता हूँ यह लेख Dropadi Shayari Status Quotes Image Photo in Hindi आपको जरूर पसंद आया होगा। इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

इसे भी पढ़े –

Latest Articles