Deshbhakti Shayari | देश भक्ति शायरी

देशभक्ति शायरी | Deshbhakti Shayari

इस पोस्ट में बेहतरीन देशभक्ति शायरी,  देशभक्ति स्टेटस, Deshbhakti Shayari, Deshbhakti Status in Hindi, देशभक्ति कोट्स, Deshbhakti Quotes in Hindi, Deshbhakti Shayari for Whatsapp Facebook Twitter, Deshbhakti Shayari for India, Deshbhakti Status for Whatsapp Facebook Twitter, Deshbhakti Dp for Whatsapp आदि दिए हुए हैं. इन्हे स्वतंत्रता दिवस पर जरूर पढ़े और दोस्तों के साथ शेयर करें।


अगर माटी के पुतले देह में ईमान जिन्दा हैं,
तभी इस देश की समृद्धि का अरमान जिन्दा हैं,
ना भाषण से है उम्मीदें ना वादों पर भरोसा हैं,
शहीदों की बदौलत मेरा हिन्दुस्तान जिन्दा है.

दुश्मन की गोलियों का हम सामना करेंगें,
आजाद हैं और आजाद ही रहेंगें.

अनेकता में एकता ही इस देश की शान हैं,
इसलिए मेरा भारत देश महान हैं.

अपनी आजादी को हम हरगिज मिटा सकते नही !
सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नही!!

मैं जला हुआ राख नही, अमर दीप हूँ,
जो मिट गया वतन पर, मैं वो शहीद हूँ.

देश भक्ति शायरी | Desh Bhakti Shayari

भारत की फ़जाओं को सदा याद रहूँगा,
आज़ाद था, आज़ाद हूँ, आज़ाद रहूँगा.

ये पेड़ ये पत्ते ये शाखें, भी परेशान हो जाएँ,
अगर परिंदे भी हिन्दू और मुसलमान हो जाएँ.

कहते हैं अलविदा हम अब इस जहान को,
जा कर ख़ुदा के घर से अब आया न जाएगा,
हमने लगाई आग हैं जो इंकलाब की,
इस आग को किसी से बुझाया ना जाएगा.

खूब बहती हैं अमन की गंगा बहने दो,
मत फैलाओ देश में दंगा रहने दो,
लाल हरे रंग में ना बाटो हमको,
मेरे छत पर एक तिरंगा रहने दो.

शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले,
वतन पे मरने वालो का यही बाकि निशां होंगा.

आन देश की शान देश की, देश की हम संतान हैं,
तीन रंगों से रंगा तिरंगा अपनी ये पहचान हैं.

चढ़ गये जो हँसकर सूली, खाई जिन्होंने सीने पर गोली,
हम उनको प्रणाम करे हैं, जो मिट गये देश पर,
हम सब उनको सलाम करते हैं.