Corruption Shayari | भ्रष्टाचार पर बेहतरीन शायरी

Corruption Shayari in Hindi

Corruption Shayari in Hindi ( Corruption Slogans in Hindi ) – इस पोस्ट में भ्रष्टाचार पर बेहतरीन शायरी दी गयी हैं, इन शायरी को जरूर पढ़े और शेयर करें. भ्रष्टाचार एक ऐसी बीमारी है जो देश की तरक्की में बाधक हैं. इसमें सबसे ज्यादा पढ़े-लिखे लोग और धनाढ्य लोग शामिल होते हैं, जो अपने ज्ञान और पैसे का गलत प्रयोग करके अपने स्वार्थो की पूर्ति करते हैं.

Best Corruption Shayari | बेस्ट करप्शन शायरी

यहाँ तहजीब बिकती हैं यहाँ फरमान बिकते है,
जरा तुम दाम तो बोलो यहाँ ईमान बिकते हैं.


राजनीति के चक्कर में गलत चल रहें बयान,
जिनका फ़ायदा उठा रहा है पकिस्तान.


जंगल जंगल ढूंढ रही है मृग अपनी कस्तूरी को,
कितना मुश्किल है तय करना ख़ुद से ख़ुद की दूरी को.


सुनते वहीं है जिसमें उनकी अपनी भलाई हो,
कहते वहीं है जिसमें उनकी अपनी कमाई हो.


बेईमान नेता किसी तवायफ़ से कम नही हैं,
इनको बस वोट चाहिए इनको किसी की फ़िक्र नहीं हैं.
Corruption Shayari in Hindi


मेरा भारतदेश महान है इसलिए
यहाँ सौ में से निन्यानवे नेता बेईमान हैं.


ये जो हालात हैं ये सब सुधर जायेंगे,
पर कई लोग निगाहों से उतर जायेंगे.


राजनीति के चाणक्य अब चांदी कूट रहे हैं,
है जो सब जगह फेल वही राजनीति में लूट रहे हैं.


वक्त तो सिर्फ वक्त पे ही बदलता हैं,
बस इंसान ही है जो किसी भी वक्त बदल जाता हैं.


ये भूख-प्यास-तलब जिसकी है मेहरबानी,
उसी का काम हैं सबको मिले दाना-पानी.


उड़ने दो मिट्टियों को आखिर कहाँ तक उडेंगी,
हवाओं ने जब साथ छोड़ा तो जमीन पर ही गिरेंगी.
Corruption Quotes in Hindi


शिक्षित बनो और भ्रष्टाचार को भगाओ,
एक जिम्मेदार नागरिक बनकर आगे आओ.


कुछ के लिए, सब कुछ दांव पर हैं,
तुष्टीकरण आखिरी पड़ाव हैं.


इतने बेताब इतने बेकरार क्यूँ हैं,
लोग जरूरत से ज्यादा होशियार क्यूँ हैं,
मुँह पर तो सभी दोस्त हैं लेकिन
पीठ पीछे दुश्मन हाजर क्यूँ हैं.


बहुत कुछ है ऐसे मसलें पर,
यह चर्चा न ही छिड़े तो अच्छा हैं.


शर्म आती है मुझे यह बात कहते-कहते,
किसनों के बच्चे मर गये भात कहते-कहते.


दूसरों को सदाचार उपदेश,
ख़ुद करप्शन से ही श्री गणेश.


ना खाता, न बही,
जो नेता कहें वही सही.
Shayari on Bhrashtachar


Corruption Slogans in Hindi | करप्शन स्लोगन्स हिंदी में

  • न पैसे ले – न पैसे दे, भ्रष्टाचार दूर करने में अपना योगदान दे.
  • जिस-जिस ने देश को लूटा है, बाद में उनका किस्मत उनसे रूठा है.
  • उठो सोचो एक अलख जगाये, भ्रष्टाचार मुक्त जीवन जीने की कसम खाए.
  • देश को उन्नति की ओर बढ़ाये, देश से भ्रष्टाचार मिटाये.
  • पूरे देश में बजाओं डंका, भ्रष्टाचार की जलाओ लंका.
  • भ्रष्टाचार को अगर भगाना है, हर नागरिक को आगे आना है.