खूबसूरत विचार | Beautiful Thoughts in Hindi

Beautiful Thoughts in Hindi

Beautiful Thoughts in Hindi – इस पोस्ट में ख़ूबसूरत विचार ( Beautiful Thoughts ) दिए हुए हैं. इस पोस्ट को जरूर पढ़े और शेयर करें.

बेस्ट ब्यूटीफुल थॉट्स | Best Beautiful Thoughts

अपने कर्म पर विश्वास रखिये, राशियों पर नहीं, राशि तो राम और रावण की भी एक ही थी, लेकिन नियति ने उन्हें फल उनके कर्म के अनुसार दिया.

गलतफ़हमी रखना गलती करने से ज्यादा खतरनाक हैं.

किसी के दिल को चोट पहुँचा कर माफ़ी माँगना बहुत आसान है, लेकिन खुद चोट खा कर किसी को माफ़ करना बहुत मुश्किल हैं.

कभी भी अपनी जिस्मानी ताकत और दौलत पर भरोसा न करना क्योंकि बीमारी और ग़रीबी आने में देर नहीं लगती.

किसी को इतना महत्व नहीं देना चाहिए कि वो हमारे चेहरे से मुस्कुराहट छीन ले.

कुछ ख्वाइशों का कत्ल कर के मुस्कुरा दो… जिंदगी ख़ुद ब ख़ुद बेहतर हो जायेगी.

जिंदगी तेरी भी अजीब परिभाषा है… सँवर गई तो जन्नत… नहीं तो तमाशा है.

अच्छे रिश्तों को वादे और शर्तों की जरूरत नहीं होती… बस दो ख़ूबसूरत लोग चाहिए. एक निभा सके और दूसरा उसको समझ सके.

यूँ गरीब कहकर खुद की तौहीन न कर. ऐ बन्दे गरीब तो वो लोग हैं जिनके पास “ईमान” नहीं हैं.

क्या रखा है ख़ुद को रोज ऊँचा बताने में, थोड़ी सी शोहरत पा इस कदर इतराने में, कुछ फैसले तो नियति के हाथ हुआ करते हैं, वर्ना कितने ही बेहतर है तुझसे जमाने में.

उनके साथ जरूर रहो, जिनका वक्त खराब है पर उनका साथ छोड़ दो जिनकी नीयत खराब हैं.

झूठ को अच्छे लहजे की जरूरत है सच तो हर लहजे में कड़वा ही होता हैं.

मनुष्य की सबसे बड़ी विडम्बना – उसे झूठी तारीफ़ सुनकर बर्बाद होना तो पसंद है, सच्ची आलोचना सुनकर सम्भलना नहीं.

अगर परछाई कद से और बातें औकात से बड़ी होने लगें तो समझ लो सूरज डूबने वाला हैं.

“स्वाद” और “विवाद” दोनों को छोड़ दो. ‘स्वाद’ छोड़ो तो शरीर को फ़ायदा. ‘विवाद’ छोड़ो तो सम्बन्धों को फायदा.

“जूनून” – आपसे वो करवाता है, जो आप नहीं कर सकते. “हौसला” – आपसे वो करवाता है, जो आप करना चाहते हैं. “अनुभव” – आपसे वो करवाता है, जो आपको करना चाहिए.

क़ाबिल लोग न तो किसी को दबाते हैं और न ही किसी से दबते हैं.

सम्बन्ध और पानी एक समान होते है. न कोई रंग, न कोई रूप, पर फिर भी जीवन के अस्तित्व के लिए सबसे महत्वपूर्ण.

मैं दुनिया से लड़ सकता हूँ पर अपनों से नहीं, क्योंकि अपनों के साथ मुझे जीतना नहीं बल्कि जीना है.

सुख-दुःख तो अतिथि है, बारी-बारी आयेंगे चले जायेंगे, यदि वो नहीं आयेंगे तो हम अनुभव कहाँ से लायेंगे.

नारी त्याग की मूरत है, तो पुरूष संघर्ष की सूरत है, कैसे कहूँ महान किसी को दोनों एक दूसरें की जरूरत है.

हैं जिनके पास अपने तो वो अपनों से झगड़ते हैं, नहीं जिनका कोई अपना, वो अपनों को तरसते हैं.

मेरे लहजे में बस जी हजूर नहीं था, इसके अलावा मेरा कोई कसूर न था.

झूठ है, छल है, कपट है, जंग है, तकरार हैं, सोचता रहता हूँ अक्सर क्या यहीं संसार हैं.

असल में वहीं जीवन की ‘चाल’ को समझता है, जो सफर में ‘धूल’ को ‘गुलाल’ समझता हैं.

कुछ लोग पिघल कर मोम की तरह रिश्तें निभाते हैं, और कुछ लोग आग बनकर उन्हें जलाते ही जाते हैं.

यकीन और दुआ नजर नहीं आतें मगर नामुमकिन को मुमकिन बना देते है.

जो चादर से ज्यादा पाँव पसारते हैं, उन्हें एक दिन हाथ भी पसारने पड़ते हैं.

तजुर्बे ने एक बात सिखाई है, एक नया दर्द ही पुराने दर्द की दवाई हैं.

बुलंदियों का गुमाँ, जो करने लगता है, मुकद्दर भी उसका, पलटने लगता हैं.

इसे भी पढ़े –