सीता शायरी स्टेटस | Sita Shayari Status Quotes in Hindi

Maa Sita Shayari Status Quotes Image in Hindi – इस आर्टिकल में माँ सीता पर शायरी स्टेटस कोट्स इमेज आदि दिए हुए है. सीता माता का चरित्र भारतीय नारी के लिए एक प्रेरणा है.

माँ सीता का जन्म धरती से होता है और उनका लालन-पालन राजा जनक के यहाँ होता है. जब माँ सीता का विवाह होता है जिस धनुष को बड़े-बड़े योद्धा हिला तक नहीं पाते है. उस धनुष को झाड़ू लगाते वक़्त माँ सीता ने उठा लिया था. माँ सीता स्वयं शक्ति की अवतार थी. स्वयंवर में श्री राम के साथ उनका विवाह हो जाता है. राम राजा दशरथ के पुत्र थे. यहाँ तक उनका जीवन महलों में और हर प्रकार की सुख सविधाओं में बीता.

एक दिन मंथरा के बहकावे में आकर कैकेयी ने अपने पति राजा दशरथ से राम के लिए 14 वर्ष का वनवास मांग लिया। इससे राजा दशरथ बहुत दुखी हुए और अपने मन की व्यथा राम से कही. पिता के बचन सुनकर राम तुरंत वनवास जाने के लिए तैयार हो गए. उनके साथ ही लक्ष्मण और माँ सीता भी तैयार हो गई. महलों में पली माँ सीता जंगल में कितने कष्ट सहे होंगे। आजकल लोग थोड़ी सी तकलीफ में खुद को कोसने लगते है. मुसीबत से लड़ने के बजाय उससे हार मान लेते है या तो समझौता कर लेते है. माँ सीता हर नारी की प्रेरणा है.

Sita Shayari in Hindi

राम राज्य सा राज नहीं
कहते मुनि-ज्ञानी वेद-पुराण
फिर ऐसे शासनकाल में
सीता को क्यों सहना पड़ा अपमान.
Maa Sita Shayari


- Advertisement -

नारी की प्रेरणा है माँ सीता,
नारी की शक्ति है माँ सीता,
नारी की भक्ति है माँ सीता,
हर घर हर नारी में है माँ सीता.


मिलन वियोग की पीड़ा को
सीता से बेहतर जाने कौन,
द्वंद छिड़ा है मन के भीतर
अधरों पर है धारण मौन.


Sita Status in Hindi

माँ सीता पर कैसी विपदा आन पड़ी है,
आज उन्हें छलने सोने की हिरन खड़ी है.


धन्य हो तुम माँ सीता
तुमने नारी का मन जीता


माँ सीता ने नारी को दिलवाया सम्मान,
ऐसी माता को मेरा कोटि-कोटि प्रणाम.


Sita Quotes in Hindi

स्त्रियों की उच्चतम आदर्श माँ सीता है,
पुरूषों के उच्चतम आदर्श श्रीराम है.
जिसको जीवन का सार समझ में ना आये
वह एक बार अच्छी तरह पूरा रामयण जरूर पढ़े.


रावण जब भी माँ सीता से
बात करता तब माँ एक तिनका
हाथों से उठाकर अपने मुख के
सम्मुख कर लेती क्योंकि उनका
जन्म धरती से हुआ था जिसके
कारण तिनका उनका भाई हुआ.
अगर भाई साथ हो तो स्त्री की
पवित्रता पर को शक नहीं करता।
फिर माँ सीता के लिए अग्नि परीक्षा क्यों?


इतिहास गवाह है जब कोई व्यक्ति
किसी नारी का अपमान करता है तो
उसका विनाश निश्चित हो जाता है.
माँ सीता का हरण कर उनका अपमान
किया जिसकी वजह से उसका विनाश हुआ.


माँ सीता शायरी

हे वैदेही !!! कोई तुम-सी नारि न बन पाएगी,
कौन छोड़ महल स्वामी संग वन जायेगी,
पवित्र थी फिर भी तुमने दी अग्नि-परीक्षा
कहो तो कौन यूँ तुम-सी प्रीत निभायेगी।
श्रेया मिश्रा


वो एक पृथक ही दृश्य होता,
युद्ध अगर हरण के वक़्त ही होता,
माँ सीता चलाती बाणों पर बाण और
रावण का सिर उनके चरणों में होता.
Ankit Pratap Singh


माँ सीता स्टेटस

हिरन सोने का जब-जब चाहेंगी माँ सीता,
यह तय है तब-तब प्रभु श्रीराम बिछड़ जायेंगे.


सीता के सतीत्व का पता था,
लेकिन समाज ने फिर भी उँगलियाँ उठाई।


इसे भी पढ़े –

Latest Articles