Women Shayari in Hindi | नारी पर शायरी | Womens Day Shayari

Women Shayari

Women Shayari in Hindi (Womens Day Shayari in Hindi) – रूढ़िवादी मान्यताओं और पुरूष प्रधान विचार को महिलायें अब चुनौती दे रही हैं और हर क्षेत्र में अपने हुनर को आजमा रही हैं. औरते अब तो नई-नई सफलता की मिशालें गढ़ रहीं हैं. समाज के पढ़े लिखे लोग लड़कियों की शिक्षा के प्रति जागरूक हो रहे हैं और शिक्षित महिलायें देश के विकास में अपना अहम योगदान दे रही हैं. 

औरत पर शायरी | Women Shayari in Hindi

इस पोस्ट मेंबेहतरीन Women Shayari, Woman Shayari, Woman Shayari in Hindi, Women Shayari in Hindi, Shayari on Women’s Power in Hindi, Shayari on Women’s respect in Hindi, Shayari on Aurat, Best Shayari on Women’s Day in Hindi, Shayari on Women’s Empowerment in Hindi, औरत शायरी, महिला शायरी, नारी शायरी, स्त्री शायरी, वीमेन शायरी, वुमन शायरी, वुमन शायरी इन हिंदी, Nari Shayari, Stri Shayari, Mahila Shayari… आदि इस पोस्ट में दिए हुए हैं.

महिला दिवस पर शायरी | Mahila Diwas Par Shayari

Women Shayari Hindi

दिलों में बस जाए वो मोहब्बत हूँ,
कभी बहन तो कभी ममता की मूरत हूँ.


Women Shayari Hindi

नारी तुम प्रेम हो, आस्था हो, विश्वास हो,
टूटी हुई उम्मीदों की एकमात्र आस हो.


नारी शक्ति है, सम्मान है
नारी गौरव है, अभिमान है
नारी ने ही ये रचा विधान है
हमारा शत-शत प्रणाम है.
– लवविवेक मौर्या(लखीमपुर खीरी)


वुमन शायरी | Woman Shayari

Shayari on Womens Power in Hindi

क्यों कहती है दुनिया कि नारी कमजोर हैं,
आज भी नारी के हाथों में घर चलाने की डोर हैं.


Shayari on Womens Respect in Hindi

अपमान न करना नारियों का,
इनके बल पर जग चलता हैं,
पुरूष जन्म लेकर तो
इन्हीं के गोद में पलता हैं.


वीमेन शायरी हिंदी | Women Shayari in Hindi

Shayari on Aurat

लोग कहते हैं तेरा क्या अस्तित्व नारी,
दुःखों को दूर कर, खुशियों को बिखेरे नारी.


अपने हौसले से तकदीर को बदल दूँ,
सुन ले दुनिया, हाँ मैं औरत हूँ.


Shayari on Women’s Power in Hindi

औरत हूँ मगर सूरत-ए-कोहसार खड़ी हूँ
एक सच के तहफ़्फ़ुज़ के लिए सबसे लड़ी हूँ
– फ़रहत ज़ाहिद

Stri Shayari

दुनिया की पहचान है,औरत
हर घर की जान है औरत
बेटी, बहन, माँ और पत्नी बनकर
घर घर की शान है औरत


Shayari on Women’s Respect in Hindi

धन्य हो तुम माँ सीता,
तुमने नारी का मन जीता.


Brave Women Shayari

फूल जैसी कोमल नारी, कांटो जितनी कठोर नारी
अपनो की हिफाजत में सबसे अव्वल नारी


औरत को जो समझता था मर्दों का खिलौना
उस शख़्स को दामाद भी वैसा ही मिला है
तनवीर सिप्रा


इसे भी पढ़े –