मंजिल शायरी स्टेटस कोट्स | Manzil Shayari Status Quotes in Hindi

Manzil Shayari

Manzil Shayari Status Quotes Images in Hindi for Whatsapp and Facebook – एक मंजिल पाकर फिर दूसरी मंजिल के लिए निकल जाते हैं, अब कहाँ लोग दो पल सुकून के गुजारते हैं. इस भागमभाग जिन्दगी में हर व्यक्ति का अपनी मंजिल तक पहुँचना है. बचपन से ही बच्चों को बताया जाने लगा है कि बड़ा होकर तुम्हे क्या बनना है.

इस प्रतिस्पर्धा की दुनिया में कोई भी किसी से पीछे नहीं होना चाहता है. इसी चाह में अपने सुख-चैन को खोता जा रहा है. निराशा और दुःख की गहराइयों में डूबता जा रहा हैं. क्या आप भी मंजिल तक न पहुँच पाने के कारण उदास या निराश है? तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े. अपने उत्साह और उमंग से फिर नई उड़ान भरें.

इस पोस्ट में बेहतरीन मंजिल शायरी, मंजिल पर शायरी, मंजिल स्टेटस , Manzil Shayari , Manjil Status , Manjil Status in Hindi , Manzil Pana Shayari, Manzil Shayari 2 Lines, Manzil Shayari Image, Manzil Shayari in Hindi, Manzil Status Hindi, Manzil Status in Hindi, Safar Manzil Shayari , Meri Manzil Shayari, आदि दिए हुए हैं.

मंजिल शायरी

दिल बिन बताएं मुझे ले चला कहीं,
जहाँ तू मुस्कुराएँ मेरी मंजिल वहीं.


हल मुश्किल का पाने के लिए
दिमागी पेच लड़ाने पड़ते हैं,
बैठे-बैठे मंजिल नहीं मिलती
कुछ कदम बढ़ाने पड़ते हैं.


मुश्किलें जरूर है, मगर ठहरा नहीं हूँ मैं,
मंजिल से जरा कह दो, अभी पहुँचा नहीं हूँ मैं.


मंजिल स्टेटस

गम में डूबी मेरी हर आहें है,
मंजिल का पता नहीं और काँटों भरी राहें है.


मंजिल मिल ही जायेगी भटकते-भटकते ही सही,
गुमराह तो वो है जो घर से निकलते ही नहीं.


किसी की सलाह से रास्ते जरूर मिलते है,
पर मंजिल तो खुद की मेहनत से ही मिलती हैं.


Manzil Status

मंजिल उन्हीं को मिलती है जिनके सपनों में जान होती है,
पंख से कुछ नहीं होता, हौसलों से उड़ान होती हैं.


मंजिल तो मिल गई अब सफ़र कैसा,
जब ख़ुदा तेरे साथ है फिर डर कैसा.


ना मंजिल, ना मकसद, ना रास्ते का पता है,
हमेशा दिल किसी के पीछे ही चला है.


Manzil Shayari

एक रास्ता यह भी है मंजिलों को पाने का,
कि सीख लो तुम भी हुनर हाँ में हाँ मिलाने का.


मंजिल मिले या ना मिले,
ये तो मुकद्दर की बात है,
हम कोशिश भी ना करे
ये तो गलत बात हैं.


Manjil Status in Hindi

Manzil Shayari | Manzil Status | मंजिल शायरी | Manzil Shayari in Hindi

रास्ते कहां ख़त्म होते हैं ज़िंदग़ी के सफ़र में,
मंज़िल तो वहां है जहां ख्वाहिशें थम जाएं।
-अज्ञात


जिस दिन से चला हूं मेरी मंज़िल पे नज़र है
आंखों ने कभी मील का पत्थर नहीं देखा
– बशीर बद्र


डर मुझे भी लगा फ़ासला देख कर,
पर मैं बढ़ता गया रास्ता देख कर,
ख़ुद-ब-ख़ुद मेरे नजदीक आती गई,
मेरी मंजिल मेरा हौंसला देख कर.


सीढ़िया उन्हें मुबारक हो
जिन्हें सिर्फ़ छत तक जाना है,
मेरी मंजिल तो आसमान है
रास्ता मुझे ख़ुद बनाना है.


रख हौसला वो मंज़र भी आएगा,
प्यासे के पास चल के समन्दर भी आएगा,
थक कर ना बैठ ऐ मंजिल के मुसाफ़िर
मंजिल भी मिलेगी, और मिलने का मज़ा भी आएगा.


Manzil Shayari 2 Lines

मंजिल इंसान के हौसलें आजमाती है,
सपनों के पर्दे, आँखों से हटाती है,
किसी भी बात से हिम्मत ना हारना
ठोकर ही इंसान को चलना सिखाती है.


मंज़िल पा ली मैंने ठोकरें खा कर,
लेकिन मरहम ना पा सका मंजिल पाकर.


यूँ जमीन पर बैठकर क्यूँ आसमान देखता है,
पंखों को खोल जमाना सिर्फ़ उड़ान देखता है,
लहरों की तो फितरत ही है शोर मचाने की
मंजिल उसी की होती है जो नजरों में तूफ़ान देखता है.


Manzil Pana Shayari

कामयाबी के लिए जरूरी है
सही रास्ता चुनना,
किसी भी रास्ते पे चलने से
मंजिल नहीं मिलती.


सोचने से कहाँ मिलते है तमन्नाओं के शहर,
चलना भी जरूरी है मंजिल को पाने के लिए.


अगर दिलकश हो रास्ता,
फिर तो फिकर ही नहीं है,
ना मिले मंजिल ना सही,
फिर भी जिन्दगी हंसीं है.


Meri Manzil Shayari

किसी को घर से निकलते ही मिल गई मंजिल,
कोई हमारी तरह उम्र भर सफ़र में रहा.
– अहमद फ़राज


जो तूफानों से डर जाओगे,
तुम अपनी किश्ती को कैसे पार लगाओगे,
डर के आगे जीत है जिस दिन तुम यह समझ जाओगे
अपनी मंजिल तक खुद ही पहुँच जाओगे.


एक न एक दिन हासिल कर ही लूँगा,
‘ठोकरें’ जहर तो नहीं जो खाकर मर जाऊँगा.


Manjil Status

मंजिल सामने थी मगर रास्ते कहीं खो गये,
हम तुम अपने घरों के वास्ते कहीं खो गये.


रास्तों की परवाह करूँगा,
तो मंजिल बुरा मान जायेगी,
फ़िक्र छोड़ दूँ रास्तों की
तो मंजिल ख़ुद ही
मेरे पास आती नजर आएगी.


कब मिल जाए किसी को मंजिल ये मालूम नहीं,
इंसान के चेहरे पर उसका नसीब लिखा नहीं होता.


Manjil Shayari

सपनों की मंजिल पास नहीं होती,
जिन्दगी हर पल उदास नहीं होती,
ख़ुदा पर यकीन रखना मेरे दोस्त,
कभी-कभी वो भी मिल जाता है
जिसकी आस नहीं होती…


ना पूछों कि मेरी मंजिल कहाँ है,
अभी तो सफ़र का इरादा किया है,
ना हारूँगा हौसला उम्र भर
ये मैंने किसी से नहीं, खुद से ही वादा किया है.


ये क्या उठाये कदम और आ गयी मंजिल,
मज़ा तो तब है कि पैरों में कुछ थकान रहे.


ख़ुद पुकारेगी जो मंजिल तो ठहर जाऊँगा,
वरना खुद्दार मुसाफ़िर हूँ गुजर जाऊँगा.


Manzil shayari Hindi

मंजिल भी उसकी थी,
रास्ता भी उसका था,
एक मैं ही अकेला था,
बाकि सारा काफ़िला भी उसका था,
एक साथ चलने की सोच भी उसकी थी
और बाद में रास्ता बदलने का
फैसला भी उसी का था.


मुश्किलों से हारना हमें आता नहीं,
कोई कितना भी रोके
रूक जाना हमे आता नहीं,
लोग कोशिश छोड़ देते है
अपनी मंजिल को पाने की
पर बिना मंजिल को पाए
रूक जाना हमे आता नहीं.


ना किसी से कोई ईर्ष्या,
ना किसी से कोई होड़,
मेरी अपनी मंजिल
मेरी अपनी दौड़.


मिट्टी का तन है,
क्या दिन रात सजाना,
मिट्टी ही मंजिल,
तन पर क्या इतराना.


Manzil Status Hindi

मिलना किस काम का अगर दिल ना मिले,
चलना बेकार है जो चलके मंजिल ना मिले.


सफ़र से इश्क करना सीखों,
मंजिल तो कुछ पल की मेहमान है.


ऐसे चुप है कि ये मंजिल भी कड़ी हो जैसे,
तेरा मिलना भी जुदाई की घड़ी हो जैसे.


मंजिल पर शायरी

मेरी हर अदा का आइना तुझसे है,
मेरी हर मंजिल का रास्ता तुझसे है,
कभी दूर न होना मेरी जिन्दगी से
मेरी हर ख़ुशी का वास्ता तुझसे है.


रोक नहीं सकता कोई,
मन से इतना कहना होगा,
मंजिल को पाने के लिए
कठिन रास्तों पर चलाना होगा.


कभी कभी लंगड़े घोड़े पे दाव
लगाना ज्यादा सही होता है,
क्योंकि दर्द जब जूनून बन जाए
तब मंजिल बहुत नजदीक लगने लगती हैं.


मंजिल शायरी हिंदी

ठोकरे मिलती है सफलता की राहों में
यह हर कोई जानता है,
पर मंजिल सिर्फ उसी को मिलती है
जो कभी हार नहीं मानता है.


उल्फत में अक्सर ऐसा होता है,
आँखें हंसती है और दिल रोता है,
मानते है हम जिन्हें मंजिल अपनी
हमसफ़र उनका कोई और होता हैं.


मायूस हो गया हूँ जिंदगी के सफ़र से इस कदर,
कि ना ख़ुद से मिल पा रहा हूँ ना मंजिल से…


Safar Manzil Shayari

ना जाने क्यों इंसान को इंसान होने पर गुमान है,
जबकि सफर ताउम्र है और मंजिल दो गज मकान है.


कोशिश के बावजूद हो जाती है कभी हार,
होकर निराश मत बैठना ऐ मेरे यार,
बढ़ते रहना आगे ही जैसे भी मौसम हो,
पा लेती मंजिल चींटी भी…गिर फिर कर कई बार.


सामने हो मंजिल तो रास्ते ना मोड़ना,
जो भी मन में हो वो सपना मत तोड़ना,
कदम कदम पर मिलेगी मुश्किल आपको
बस सितारे छूने के लिए जमीन मत छोड़ना.


रास्ते कहाँ खत्म होते है जिन्दगी के इस सफ़र में,
मंजिल तो वही है जहाँ ख्वाहिशें थम जाएँ.


मंजिल स्टेटस हिंदी

कभी उनको मिलती नहीं कोई मंजिल,
बदलते है जो हर कदम पर इरादें.


बहुत गुरूर था, छत को छत होने पर,
एक मंजिल और बनी और वो छत फर्श हो गई.


अगर निहागें हो मंजिल पर और कदम हो राहों पर,
ऐसी कोई राह नहीं जो मंजिल तक न जाती हो.


Manzil Quotes in Hindi

कितन मुश्किल है बड़े हो कर बड़े रहना भी,
अपनी मंजिल पर पहुँचना भी खड़े रहना भी.


ठोकर खाने का सिलसिला अभी थमा नहीं है,
लगता है मुझे अभी तक मेरा मंजिल मिला नहीं है.


इसे भी पढ़े –