बजट शायरी स्टेटस | Budget Shayari Status Quotes in Hindi

Budget Shayari Status Quotes Image in Hindi – इस आर्टिकल में बजट शायरी स्टेटस कोट्स इमेज आदि दिए हुए है. इन्हें जरूर पढ़े.

भारतीय बजट प्रतिवर्ष 1 फरवरी को लोकसभा में प्रस्तुत किया जाता है, जिसका सीधा प्रसारण न्यूज़ चैनल के द्वारा किया जाता है. देश की जनता को बजट का बड़ी बेसब्री से इन्तजार रहता है. लेकिन देश की जनता को कुछ योजनायें खुश करती है तो कुछ योजनायें दुखी कर देती है. बजट बनाते वक़्त सरकार किसानों, गरीबों, बेरोजगारों, महिलाओं को लाभ पहुँचाने का प्रयास करती है. ताकि भारत के तरक्की की रफ़्तार को बढाया जा सके.

बजट में पूरे वर्ष के आय और व्यय का लेखा जोखा होता है. सरकार को पता होता है कि पूरे देश से कितना टैक्स मिलेगा और उस टैक्स को कहाँ-कहाँ कितना खर्च करना है. यह बजट में दिखाया और बताया जाता है. सरकार को शिक्षा और स्वास्थ्य का बजट बढ़ाना चाहिए. क्योंकि देश भी इनकी हालत सबसे ज्यादा खराब है. देश में अच्छे स्कूलों और हॉस्पिटल की आवश्यकता है. जहाँ गरीबों और आम आदमी को हर तरह की सुविधा कम से कम पैसे में उपलब्ध हो.

स्वतंत्रता के बाद भारत का पहला बजट पहले वित्त मंत्री आर. के. षणमुखम चेट्टी ने 26 नवम्बर 1947 को पेश किया गया. इसमें 15 अगस्त, 1947 से लेकर 31 मार्च, 1948 के दौरन साढ़े सात महीनो को शामिल किया गया. प्रधानमन्त्री रहते हुए जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी ने बजट पेस किया है क्योंकि उस समय वित्त मंत्रालय इनके पास था. इंदिरा गांधी पहली ऐसी महिला है जिन्होंने प्रधानमन्त्री रहते हुए, वित्त मंत्रालय को संभाला. पूर्व वित्त मंत्री मोरारजी देसाई ने अभी तक सबसे ज्यादा 10 बार बजट प्रस्तुत किया है.

Budget Shayari in Hindi

Budget Shayari in Hindi
Budget Shayari in Hindi | Indian Budget 2021 | बजट शायरी
- Advertisement -

काश!!! इस साल का बजट
कुछ ऐसा कमाल कर जाएँ,
किसानों, गरीबों और बेरोजगारों का
दिल खुशहाल कर जाएँ.


आर्थिक सुरक्षा मिलती नही,
सिर्फ संकट ही संकट है,
सरकार हर बार यही कहती है
इस साल का बड़ा अच्छा बजट है.


बजट जनता के लिए बनाया जाता है,
ऐसा पूरे देश को समझाया जाता है,
कागजों की तरक्की दिखाई जाती है
सच का आईना नही दिखाया जाता है.


Budget Status in Hindi

Budget Status in Hindi
Budget Status in Hindi | Indian Budget 2021 | बजट स्टेटस

बजट के फायदें देखने हो तो “ZEE News” देखे,
अगर बजट के नुकसान देखने हो तो “NDTV” देखे.


भारत का बजट जब भी आता है,
ज्यादातर लोगो को समझ में नही आता है.


सरकार बजट ऐसा बनाती है,
लगता है गरीबों पर एहसान जताती है.


Budget Quotes in Hindi

Budget Quotes in Hindi
Budget Quotes in Hindi | Budget 2021 | बजट पर अनमोल विचार

नई नवेली ‘दुल्हन’ की तरह सरकार
‘पकवान’ रुपी बजट बनाती है,
लेकिन विपक्ष ‘सासू माँ’ की तरह
बहुत सारी खामियाँ गिनवा देती है.


सरकार अपने बजट का सबसे बड़ा हिस्सा
शिक्षा, सुरक्षा और स्वास्थ्य पर खर्च करती है,
लेकिन भारत में इन तीनों विभागों में सुरक्षा
को छोड़ कर बाकी दोनों विभागों का
सबसे बुरा हाल है.


अपने बजट की तारीफ तो
हर सरकार करती है, लेकिन
जिस बजट की तारीफ किसान,
गरीब आदमी, बेरोजगार और देश
युवा करें. मैं उसी बजट को सही
मानूँगा. – दुनियाहैगोल


बजट शायरी

अगर भ्रष्टाचार को मिटाया जा सकता है,
तो महँगाई पर लगाम लगाया जा सकता है,
अगर ऊँचे पद से बेईमानो को हटाया जा सकता है,
तो जनता के लिए बढ़िया बजट बनाया जा सकता है.


सरकार का कहना है बजट बना बेहतर है,
मगर किसानों और गरीबों का जीवन बदतर है.


इस वर्ष का बजट सभी वर्गों के लिए है,
सरकार का ऐसा राग है,
जनता भी हैरान है कि ये बजट है
या कोई आलादीन का चिराग है.


बजट स्टेटस

बजट से जनता को मुनाफा हो या घाटा,
इसमें नेता और सरकार का कुछ नही जाता.


भारत का बजट ऐसा होना चाहिए,
गरीबों को अच्छी शिक्षा-स्वास्थ्य मिलना चाहिए.


बजट देश की जनता के लिए बनाया जाता है,
जनता के सपने को तोड़कर रूलाया जाता है.


Budget Shayari in English

Kash!!! Is Saal Ka Budget
Kuch Aisa Kamal Kar Jayen,
Kisano, Garibon aur Berojagaron
Ka Dil Khushahal Kar Jayen.


Aarthik Suraksha Milti Nahi,
Sirf Sankat Hee Sankat Hai,
Sarkar Har Baar Yahi Kahti Hai,
Is Saal Ka Bada Achchha Budget Hai.


Budget Janta Ke Liye Banaya Jata Hai,
Aisa Poore Desh Ko Samjhaya Jata Hai,
Kagajon Par Tarkki Dikhai Jati Hai
Sach Ka Aaina Nahi Dikhaya Jata Hai.


Budget Shayari

कुछ तो फूल खिलाये हमने
और कुछ फूल खिलाने है,
मुश्किल ये है बाग़ में
अब तक काँटे कई पुराने है.


कश्ती चलान वालों ने जब हार कर दी पतवार हमें,
लहर लहर तूफ़ान मिलें और मौज-मौज मझधार हमें,
फिर भी दिखाया है हमने और फिर ये दिखा देंगे सबको
इन हालातों में आता है दरिया करना पार हमें.


Budget Status

इस साल का यह कैसा बजट आया है,
जनता पर महंगाई रुपी संकट छाया है.


गरीब आदमी का इतना बजट नही होता है,
कि वह पढ़ाई कर सके बजट को समझने के लिए.


इसे भी पढ़े –

Latest Articles