Worry Quotes in Hindi | चिंता पर अनमोल विचार

Worry Quotes in Hindi

Worry Quotes in Hindi ( Chinta Par Anamol Vichaar ) – एक कहावत है कि – ‘चिंता चिता के समान होता है’. चिंता करने से इंसान पल-पल मरता है, पल-पल जलता हैं और अधिक चिंता मृत्यु का कारण भी बन सकता हैं. इसलिए चिंता न करके अपने कार्य को करना चहिये क्योंकि अच्छे कर्मो का फल सुखमय ही होता हैं.

Best Worry Quotes | बेस्ट चिंता कोट्स

जितना समय हम किसी कार्य की चिंता में लगाते हैं, यदि उतना ही समय हम उस कार्य में लगायें तो चिंता जैसी कोई चीज नहीं रह जायेगी. – शेख सादी

चिंता रुपी सांपिन ने जन्म लेने वाले प्रत्येक मनुष्य को डसा है. – रामचरितमानस

चिंता, किए जाने वाले प्रश्नों की सजा चिता के समान है. – प्रेमचन्द

चिंता से मुक्ति पाना इंसान का प्रथम कर्तव्य होना चाहिए अन्यथा वह मनुष्य की शक्तियों को शून्य कर देगी. – महात्मा गांधी

चिंता को अपने शत्रुओं की सूचि में पहले स्थान पर रखो. – शेक्सपियर

चिंता करो, यदि तुम रूप, बल और ज्ञान का नाश चाहते हो. – अज्ञात

चिंता का राक्षस आपके हृदय में डेरा डालता है. – चनिंग

चिंता का क्या लाभ? चिंता तो कभी भी उचित नहीं. अतः अपने कष्टों को अपने पुराने झोले में अंदर करो और मुस्कुराओ, सिर्फ़ मुस्कुराओ. – जार्ज आसफ

चिंता जीवन में कायरता और विष भर देती है. – वाल्टेयर

चिंता और शहद की मक्खी को जितना हटाओ उतना ही चिपटती है. – सुदर्शन

ईधन से जैसे अग्नि बढ़ती है, ऐसे ही सोचने से चिंता बढ़ती है. न सोचने से चिंता वैसे ही नष्ट हो जाती है जैसे ईधन के बिना अग्नि. – योगवशिष्ट

चिंता ऐसी काली दीवार का निर्माण कर देती हैं जिसमें घिरने के पश्चात फिर कोई गली नहीं सूझती. – प्रेमचंद

चिंतित व्यक्ति के मन में राक्षस अपना स्थायी डेरा जमा लेता है, फिर वह न कार्य आरम्भ करने देता है और न सफ़लता प्राप्त करने देता है. – स्वेट मार्डेन

चिंता करनी है तो चरित्र की करो, भविष्य की चिंता से मनोरथ सिद्ध नहीं होते. – स्वामी विवेकानन्द

चिता जलाए मुर्दे को, चिंता जलाए जिन्दा को. – प्रेमचन्द

सुबह से शाम तक काम करके आदमी उतना नहीं थकता जितना क्रोध या चिंता के एक घंटे में थक जाता है. – स्वेट मार्डेन

चिंता कमजोरी का संकेत है जो जीवन को विषतुल्य बना देती है. – चैनेन

कार्य कभी भी अधिक नहीं होता, चिंता उसे अधिक से अधिक बनाती जाती है. शहद की मधुमक्खी को जितना हटाओगे वह उतना ही चिपटती चली जाएगी, चिंता भी ऐसी ही है. – सुदर्शन

यदि चिंता से ही कार्यसिद्ध होते तो सभी कार्य के बजाय चिंता ही करते. – स्वामी विवेकानन्द

मनुष्य चिंता से मरता नहीं, सूख जाता है. – रूसी लोकोक्ति

शक्तियाँ होते हुए भी उनका उपयोग नहीं हो पाता, यदि दिल में चिंता हो. – महात्मा गांधी

आप अपने जीवन के शत्रु हैं, यदि चिंता करते है. – शेक्सपीयर

चिन्तन और चिंता में वहीं अंतर होता है जो एक आत्मविश्वास भरे स्वस्थ व्यक्ति और रोगी व्यक्ति में होता है. – स्वेट मार्डेन

एक चिंता सैकड़ो दूसरी चिंताओं को जन्म देती हैं, यथा रक्तबीज. – शब्द प्रकाश

वह व्यक्ति अपनी पीठ पर वजन का गठ्ठर बांध कर सोता है जो बिस्तर पर चिंताओं के साथ जाता है. – हैली बटन

मैं उस व्यक्ति को बेवकूफ मानता हूँ जो किसी हानि या नुकसान के बाद उस पर चिंता कर अपना समय गंवाता है, इसलिए जो हो गया, उसे भूल जाओ. – जार्ज बर्नाड शॉ