World Literacy Day Poem in Hindi | विश्व साक्षरता दिवस पर कविता

World Literacy Day Poem in Hindi

World Literacy Day Poem for Class 1-12 in Hindi ( साक्षरता दिवस पर कविता ) – पूरे विश्व में 8 सितम्बर को विश्व साक्षरता दिवस मनाया जाता है. किसी देश की तरक्की का मूल आधार शिक्षा होता है. किसी समाज, किसी परिवार या किसी व्यक्ति के उन्नति शिक्षा पर निर्भर करती है. शिक्षा वह धन है जिसे जितना ही खर्च किया जाएँ वो उतना ही बढ़ता है. शिक्षा व्यक्ति को मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ बनाता है. शिक्षा हृदय के डर को मिटाता है. शिक्षा अनमोल होता है.

विश्व साक्षरता दिवस इसलिए मनाया जाता है ताकि पूरी दुनिया में कोई व्यक्ति अशिक्षित न रह जाएँ. आप भी खुद को जागरूक बनाएं, खुद को, परिवार को, समाज को और देश को शिक्षित बनाये. शिक्षा जीवन में सुख-शांति-समृद्धि लाता है. शिक्सहा देश-विदेश हर जगह आपको सम्मान दिलाता है. शिक्षा ही आपको महान बनाता है.

इस पोस्ट में बेहतरीन विश्व साक्षरता दिवस कविता, Poem on Literacy in Hindi, World Literacy Day, World Literacy Day Poem in Hindi, साक्षरता दिवस पर कविता आदि इस पोस्ट में दिए हुए हैं. इसे जरूर पढ़े.

World Literacy Day Poem in Hindi

जो स्कूल में पढ़ने जाता है,
वो समझदार हो जाता है,
अच्छी बुरी बातों का समझ आता है,
अब तो हर घर का बच्चा स्कूल जाता है.

स्कूल में पढ़कर ही बनते है,
शिक्षक, अफ़सर, वैज्ञानिक
इंजिनियर, व्यापारी, कलक्टर
स्कूल तुम्हारी शक्ति को बढ़ाती है,
तुम पढ़ो, तो तुम को खूब पढ़ाती है,
तुम्हारे कर्तव्यों का बोध कराती है,
शिक्षा कितना कुछ दे जाती है.

बहुत जरूरी होती है ये शिक्षा,
इंसान के सारे अवगुण धोती है शिक्षा,
खूब पढ़ो जीवन भर क्योंकि
कभी नहीं पूरी होती है शिक्षा.

गरीब को अमीर बनाती है शिक्षा,
बुद्धिहीन को बुद्धि देती है शिक्षा,
चरित्र का निर्माण करती है शिक्षा,
हमको कितना कुछ देती है शिक्षा.

शिक्षा जग में मान बढ़ाता है,
शिक्षा जग में सम्मान दिलाता है,
शिक्षा कदम-कदम पर पहचान बढ़ाता है,
शिक्षा हर इंसान को महान बनाता है.

पहले तुम खुद को शिक्षित बनाओ,
अपने बच्चों को तुम ख़ूब पढ़ाओ.


शिक्षा पर कविता | Poem on Education in Hindi

आओ बच्चों ज्ञान बढायें,
शिक्षा का दीप जलायें,
भारत देश के कोने कोने से
अशिक्षा को मार भगायें.
शिक्षा की ताकत को जानोगे,
तभी खुद को पहचानोगे,
अन्याय से लड़ पाओगे,
तभी तुम महान कहलाओगे.

शिक्षा मिटाती है अंधियारा,
सबके जीवन में फैलाती है उजियारा,
शिक्षा है सबसे प्यारा सबसे न्यारा
शिक्षा से ही होता है जग में उजियारा.
शिक्षा सुख देती है
हर दुःख हर लेती है
शिक्षा सब कुछ कर देती है,
जीवन को खुशियों से भर देती है.


साक्षरता दिवस पर कविता

शिक्षा एक अनमोल रत्न है
गली-गली लगाओ नारा
एक साथ सब मिल–झुलकर
बोलो शिक्षा का जयकारा
शिक्षा ही महान बनाती
शिक्षा ही जीना सिखाती
बिन शिक्षा पशु है मानव
फैला दो ये बात जग सारा
शिक्षा से मिटता अंधियारा

शिक्षा जैसा दान नही
शिक्षा से बडा कोई काम नही
शिक्षा से ही जमीर जागता
शिक्षा से ही अज्ञान भागता
जब शिक्षित होगा नर-नारी
तभी मिटेगी दिक्कत सारी
शिक्षा से ही तन मन खिलता
फैला दो ये बात जग सारा
शिक्षा से मिटता अंधियारा

शिक्षा से लोभ, लालच मिटे तृष्णा
शिक्षा से ही मिले कृष्णा
शिक्षा से संस्कार मिले
शिक्षा से शिष्टाचार मिले
शिक्षा से ही दौलत आती
शिक्षा ही मुकाम दिलाती
शिक्षित व्यक्ति भूखा नही रहता
फैला दो ये बात जग सारा
शिक्षा से मिटता अंधियारा

शिक्षा में असली जान है
शिक्षा गीता का ज्ञान है
शिक्षा में छुपे प्रकृति के राज
जिसे कहते हम विज्ञान है
शिक्षा से ही राज मिले
शिक्षा से ही ताज खुले
शिक्षा ही इतिहास पलटती
फैला दो ये बात जग सारा
शिक्षा से मिटता अंधियारा

जब पढोगे, तभी बढोगे
बनोगे एक दूजे का सहारा
विकास के पथ पर चलना है तो
खत्म करो नफरत का अंगारा
शिक्षा ही बाईबल का कोना
शिक्षा ही मक्का मदीना
शिक्षा ही वेदों का सार
शिक्षा ही रब का दरबार
शिक्षित ही अधिकार मांगता
फैला दो ये बात जग सारा
शिक्षा से मिटता अंधियारा

शिक्षा ही स्वरूप बनाती
शिक्षा ही राह दिखाती
शिक्षा दीपक की वो लौ है
जो राज खोलती तिलिस्म का सारा
लिख फलसफा तकदीर का
बहा देती अमृत की धारा
शिक्षा रही है हिन्द की धरोहर
शिक्षा पवित्र जैसे मानसरोवर
फिर शिक्षा में क्यों पिछडे हम
फैला दो ये बात जग सारा
शिक्षा से मिटता अंधियारा


World Literacy Day Poem in English

As I passed by the dark band
Uncultivated field, barren land
And there was present just the moonlight
And also the glitter in eyes
Eyes of the kids who raise their hands
Small hands pray for education
Little dreams aim to do something better
To create, to produce, to have
Something worth full, and something useful

I know the reason of ruling the world
I know how to say a word
People around speak up what they want to
But the literate people speak up in a best way they can do
Our words get decorated if we utter them in a beautiful way
This can only happen if we know how to have our say
Small hands pray for to learn something
They want to have good in everything
To move it to next generation
To let go the frustration

Dreaming isn’t a crime, wishing isn’t a play
Hope is something we all can have
So hand in hand, we stand
To move forward
To make those dreams in the little eyes come true
We will teach, and they will learn
And further on they will teach someone else
Small hands pray for future
Planning all the things nicer
Those small eyes and big dreams are important
So let’s give them a way
To lead a life that is for them special and fruitful


Short Poem on World Literacy Day

Do you remember
learning to read?
That book full of squiggles
like ants, escaped.
the teacher’s big thumb
on the page,
your heart beating inside
afraid that all you’d ever see
was ants–
Then a word popped out.
“See,” and another, “cat,”
and my finger on teacher’s
we read “I see cat.”
I ran around the room
so happy I saw words
instead of ants


विश्व साक्षरता दिवस पर कविता

शिक्षा हमारे जीवन का आधार है
इसके बिना हमारा जीवन बेकार है
शिक्षा ही जीवन का भविष्य है
इसके बिना जीवन बेकार है
जो शिक्षित होते है वोह खुश रहते है
क्योकि ज्ञान से ही देश महान है
हर किसी को शिक्षा का महत्त्व बताओ
लड़के लडकियों को विद्यालय रोज भिजाओ
शिक्षा हमारे जीवन का आधार है
इसके बिना हमारा जीवन बेकार है
देश में शिक्षा का प्रसार फेलाओ
और हमारे देश को आगे बढाओ
देश में व्याप्त बुराई का नाश करो
देश को ऊंचाई पर पहुचाने का प्रयत्न करो
शिक्षा हमारे जीवन का आधार है
इसके बिना हमारा जीवन बेकार है


World Literacy Day Poem in Hindi

शिक्षा एक अनमोल रत्न है,गली-गली लगाओ नारा
एक साथ सब मिल–झुलकर,बोलो शिक्षा का जयकारा
शिक्षा ही महान बनाती, शिक्षा ही जीना सिखाती
बिन शिक्षा पशु है मानव फैला दो ये बात जग सारा
गली-गली लगाओ नारा, शिक्षा से मिटता अंधियारा

शिक्षा जैसा दान नही, शिक्षा से बडा कोई काम नही
शिक्षा से ही जमीर जागता, शिक्षा से ही अज्ञान भागता
जब शिक्षित होगा नर-नारी, तभी मिटेगी दिक्कत सारी
शिक्षा से ही तन मन खिलता,फैला दो ये बात जग सारा
गली-गली लगाओ नारा, शिक्षा से मिटता अंधियारा

शिक्षा से लोभ, लालच मिटे तृष्णा, शिक्षा से ही मिले कृष्णा
शिक्षा से संस्कार मिले, शिक्षा से शिष्टाचार मिले
शिक्षा से ही दौलत आती, शिक्षा ही मुकाम दिलाती
शिक्षित व्यक्ति भूखा नही रहता, फैला दो ये बात जग सारा
गली-गली लगाओ नारा, शिक्षा से मिटता अंधियारा

शिक्षा में असली जान है, शिक्षा गीता का ज्ञान है
शिक्षा में छुपे प्रकृति के राज,जिसे कहते हम विज्ञान है
शिक्षा से ही राज मिले, शिक्षा से ही ताज खुले
शिक्षा ही इतिहास पलटती, फैला दो ये बात जग सारा
गली-गली लगाओ नारा, शिक्षा से मिटता अंधियारा

जब पढोगे, तभी बढोगे, बनोगे एक दूजे का सहारा
विकास के पथ पर चलना है तो, खत्म करो नफरत का अंगारा
शिक्षा ही बाईबल का कोना, शिक्षा ही मक्का मदीना
शिक्षा ही वेदों का सार, शिक्षा ही रब का दरबार
शिक्षित ही अधिकार मांगता, फैला दो ये बात जग सारा
गली-गली लगाओ नारा, शिक्षा से मिटता अंधियारा

शिक्षा ही स्वरूप बनाती, शिक्षा ही राह दिखाती
शिक्षा दीपक की वो लौ है,जो राज खोलती तिलिस्म का सारा
लिख फलसफा तकदीर का, बहा देती अमृत की धारा
शिक्षा रही है हिन्द की धरोहर, शिक्षा पवित्र जैसे मानसरोवर
फिर शिक्षा में क्यों पिछडे हम, फैला दो ये बात जग सारा
गली-गली लगाओ नारा, शिक्षा से मिटता अंधियारा


इसे भी पढ़े –