Quotes on Global Warming in Hindi | ग्लोबल वार्मिंग पर अनमोल विचार

Global Warming Quotes in Hindi

Quotes on Global Warming in Hindi – ग्लोबल वार्मिंग के लिए ग्रीन हाउस गैसें सबसे ज्यादा जिम्मेदार हैं. हम उन गैसों को ग्रीन हाउस गैस कहते हैं जो बाहर से मिल रही गर्मी या ऊष्मा को अपने अंदर सोख लेती हैं. ग्रीन हाउस गैसों में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण कार्बन डाईऑक्साइड गैस हैं जिसे जीवित प्राणी सांस छोड़ने के समय निकालते हैं. वैज्ञानिकों का मानना हैं कि कार्बन डाईऑक्साइड गैस की मात्रा लगातार बढ़ी हैं.

ग्लोबल वार्मिंग की समस्या को सभी लोग जानते हैं इसलिए यह जरूरी हैं कि इस समस्या से निपटने के लिए हर व्यक्ति अपना सहयोग दे. एक शिक्षित और समझदार नागरिक बनकर अपने देश की सेवा करें. इस पोस्ट में ग्लोबल वार्मिंग पर कुछ बेहतरीन विचार दिए हुए हैं. इन्हें जरूर शेयर करे और लोगों में जागरूकता फैलाएं.

ग्लोबल वार्मिंग कोट्स इन हिंदी | Global Warming Quotes in Hindi

ग्लोबल वार्मिंग एक ऐसा खतरा है यदि इसके प्रति जन-जन जागरूक नहीं हुआ तो शायद भविष्य में पृथ्वी पर जीवन ही सम्भव न हो.

ग्लोबल वार्मिंग की वजह से ग्लेशियर ( बर्फ के पर्वत ) तेजी से पिघल रहे हैं जिसके कारण समुद्र के जल का स्तर ऊपर आ रहा हैं. यदि ग्लोबल वार्मिंग को नियंत्रित नहीं किया गया तो ये समुद्र के आस-पास के शहरों को निगल जाएगा.

ग्लोबल वार्मिंग एक भयंकर संकट हैं जिसके कारण सभी देश आपस में मिलकर इस समस्या से लड़ रहे हैं.

मौसम में बदलाव ( बिना मौसम के बरसात, ठंड में ठंड न पड़ना, सूखा ) आदि ग्लोबल वार्मिंग के ही परिणाम हैं इसलिए ख़ुद को जागरूक बनाये और ग्लोबल वर्मिंग को नियंत्रित करने में अपना सहयोग जरूर दें.

ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाकर एक आम आदमी भी ग्लोबल वार्मिंग को नियंत्रित करने में अपना सहयोग दे सकता हैं.

ग्लोबल वार्मिंग के प्रति जागरूक बने और अन्य लोगों को भी जागरूक बनाएं. एक शिक्षित नागरिक होने का फर्ज निभाएं.

अपने आस-पास पेड़-पौधे लगाकर, हरियाली बढाकर और प्रदूषण मुक्त बानकर ही ग्लोबल वार्मिंग ( Global Warming ) से लड़ा जा सकता हैं.

ग्लोबल वार्मिंग के लिए सी.ऍफ़.सी गैस भी जिम्मेदार होते हैं जोकि फ्रिज़, एयर कंडीशनर, कूलिंग मशीन आदि से निकलते हैं. ऐसी मशीनों का उपयोग कम से कम करें. ग्लोबल वार्मिंग नियन्त्रण में अपना सहयोग करें.

तापमान वृद्धि को आप गर्मियों में महसूस कर सकते हैं यह ग्लोबल वार्मिंग का ही परिणाम हैं.

ग्लोबल वार्मिंग से यदि हम सब मिलकर नहीं लड़ेंगे तो धरती का तापमान और अधिक बढ़ जाएगा.

इसे भी पढ़े –