Prayer in Hindi to God | ईश्वर की प्रार्थना

Prayer in Hindi to God

Morning Prayer in Hindi to God – ईश्वर की प्रार्थना हृदय और मन-मस्तिष्क में शान्ति प्रदान करती है. जीवन में सुख-शांति-समृद्धि आती हैं. ईश्वर हमारे अच्छे और बुरे दोनों कार्यों को देखता हैं और उसी के अनुसार हमें फल देता हैं. इस पोस्ट में ईश्वर प्रार्थना पर कुछ बेहतरीन कवितायें, भजन दिए हुए हैं. जरूर पढ़े.

ईश्वर प्रार्थना पर हिंदी कविता | God Prayer Poems in Hindi | Bhajan

ईश्वर की भक्ति में होती हैं शक्ति, इससे मिलती हैं शक्ति और होती है काम की पूर्ति.

प्रभु प्रार्थना | God Prayer

इतनी शक्ति हमें देना दाता, मन का विश्वास कमजोर हो ना,
हम चले नेक रस्ते पे हम से, भूलकर भी कोई भूल हो ना.

दूर अज्ञान के हो अँधेरे, तू हमें ज्ञान की रौशनी दे,
हर बुराई से बचते रहे हम, जितनी भी दे भली जिन्दगी दे,
बैर हो न किसी का किसी से, भावना मन में बदले की हो ना.

हम ना सोचें हमें क्या मिला है, हम यह सोचे किया क्या हैं अर्पण,
फूल खुशियों के बाँटें सभी को, सब का जीवन ही बन जाए मधुवन,
अपनी करूणा का जल तू बहा के, कर दे पावन हर एक मन का कोना.


ईश्वर अल्लाह तेरे नाम | Ishwar Allah Tere Naam

ईश्वर अल्लाह तेरे नाम
सबको सन्मति दे भगवान
सबको सन्मति दे भगवान
सारा जग तेरी सन्तान.

इस धरती पर बसने वाले,
सब हैं तेरी गोद के पाले
कोई नीच ना कोई महान,
सबको सन्मति दे भगवान.

जातों नस्लों के बटवारे,
झूठ कहाँ ये तेरे द्वारे
तेरे लिए सब एक समान,
सबको सन्मति दे भगवान.

जनम का कोई मोल नहीं है,
जनम मनुष्य का तोल नहीं है
करम से है सबकी पहचान,
सबको सन्मति दे भगवान.

Ishwar allah tere naam sabko sanmati de bhagwarn (Naya raasta -1970)


भला किसी का कर ना सको तो | Bhala Kisi Ka Kar Na Sako To

भला किसी का कर ना सको तो, बुरा किसी का ना करना,
पुष्प नहीं बन सकते तो तुम, कांटे बन कर मत रहना.

बन ना सको भगवान् अगर, कम से कम इंसान बनो
नहीं कभी शैतान बनो, नहीं कभी हैवान बनो
सदाचार अपना न सको तो, पापों में पग ना धरना
पुष्प नहीं बन सकते तो तुम, कांटे बन कर मत रहना.

सत्य वचन ना बोल सको तो, झूठ कभी भी मत बोलो
मौन रहो तो ही अच्छा, कम से कम विष ना घोलो
बोलो यदि पहले तुम तोलो, फिर मुंह को खोला करना
पुष्प नहीं बन सकते तो तुम, कांटे बन कर मत रहना.

घर ना किसी का बसा सको तो, झोपड़ियां ना जला देना
मरहम पट्टी कर ना सको तो, खार नमक ना लगा देना
दीपक बन कर जल ना सको तो, अंधियारा ना फैला देना
पुष्प नहीं बन सकते तो तुम, कांटे बन कर मत रहना.

अमृत पिला ना सके किसी को, ज़हर पिलाते भी डरना
धीरज बंधा नहीं सको तो घाव किसी के मत करना
राम नाम की माला ले क,र सुबह श्याम भजन करना
पुष्प नहीं बन सकते तो तुम, कांटे बन कर मत रहना.


हे नाथ नारायण वासुदेवा | Hey Nath Narayan Vasudeva

री कृष्ण गोविन्द हरे मुरारी
हे नाथ नारायण वासुदेवा

भक्तो को तारा तो क्या तुम ने तारा
रो रो के कहता है ह्रदय हमारा
जब जणू सब पाप हर लो हमारे
हे नाथ नारायण वासुदेवा.

कहते हैं लोग तुम्हे दिनों का स्वामी
सुनते नहीं नाथ मेरी कहानी
अब तो दया कीजिए नाथ प्यारे
हे नाथ नारायण वसु देवा.

लाखो की तमने है बिगड़ी बनाई
अब तो तो प्रभु जी मेरी बरी आई
फिर भूल से याद कीजिए नाथ प्यारे
हे नाथ नारायण वासुदेवा.

लाखो में ढूंढा न पाया सहारा
अब तो तेरे दर पे पल्ला पसारा
खली न जाए तेरे दर से प्यारे
हे नाथ नारायण वासुदेवा.

इसे भी पढ़े –