राधा कृष्ण शायरी | Radha Krishna Shayari

Radha Krishna Shayari in Hindi Download

Radha Krishna Shayari in Hindi (राधा कृष्ण शायरी)राधा-कृष्ण के प्रेम को पूरी दुनिया जानती हैं. राधा-कृष्ण की प्रेम कहानी अपने आप में प्रेम की परिभाषा हैं. प्रेम पर बहुत बड़े-बड़े ग्रन्थ लिखे गये हैं लेकिन राधा-कृष्ण के प्रेम के सामने वो बौने नजर आते हैं.

इस पोस्ट में आपको राधा-कृष्ण पर शायरी, Radha Krishna Par Shayari, Radha Krishan Shayari 2019, Radha Krishna Shayari Wallpaper, Radha Krishna Shayari Facebook, Radha Krishan Messages मिलेगी जिसे आप सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं. इसे आप अपना स्टेटस भी बना सकते हैं.

राधा कृष्ण शायरी हिंदी में | Radha Krishna Shayari in Hindi

श्याम की बंसी जब भी बजी है,
राधा के मन में प्रीत जगी है.


प्रेम को भी खुद पर गुमान है क्योंकि,
राधा-कृष्ण का प्रेम हर दिल में विराजमान हैं.


हर शाम हर किसी के लिए सुहानी नहीं होती,
हर प्यार के पीछे कोई कहानी नहीं होती,
कुछ असर तो होता है दो आत्मा के मेल का
वरना गोरी राधा, सांवले कृष्णा की दीवानी न होती।
Radha Krishna Love Shayari


संगीत है श्रीकृष्ण, सुर है श्रीराधे
शहद है श्रीकृष्ण, मिठास है श्रीराधे
पूर्ण है श्रीकृष्ण, परिपूर्ण है श्रीराधे
आदि है श्रीकृष्ण, अनंत है श्रीराधे


पाने को ही प्रेम कहे,
जग की ये है रीत..
प्रेम का सही अर्थ समझायेगी
राधा-कृष्णा की प्रीत।


राधा को कन्हैया ने प्यार का पैगाम लिखा,
पूरे खत में सिर्फ़ राधा-राधा नाम लिखा।


Radha Krishna Shayari Wallpaper

New Radha Krishna Shayari

कृष्ण की प्रेम बाँसुरिया सुन भई वो प्रेम दिवानी,
जब-जब कान्हा मुरली बजाएँ दौड़ी आये राधा रानी.
जय श्री राधे कृष्ण (Jai Shree Radhe Krishna)


सुध-बुध खो रही राधा रानी,
इंतजार अब सहा न जाएँ,
कोई कह दो सावरे से,
वो जल्दी राधा के पास आएँ.
राधे-राधे | Radhe-Radhe


मधुवन में भले ही कान्हा किसी गोपी से मिले,
मन में तो राधा के ही प्रेम के है फूल खिले.
प्रेम से बोलो राधे-राधे | Prem Se Bolo Radhe-Radhe


नन्दलाल की मोहनी सूरत दिल में बसा रखे हैं,
अपने जीवन को उन्ही की भक्ति लगा रखे हैं,
एक बार बाँसुरी की मधुर तान सुनादे कान्हा,
एक छोटी से आस लगा रखे हैं.
Radha Krishna Shayari in Hindi


“राधा” के सच्चे प्रेम का यह ईनाम हैं,
कान्हा से पहले लोग लेते “राधा” का नाम हैं.


Radha Krishna Shayari Facebook

Radha Krishna Shayari

कर्तव्य पथ पर जाते-जाते केशव गये थे रूक,
देख दशा राधा रानी, ब्रम्हा भी गये थे झुक.
Radha-Krishna Shayari


जो प्रेम की पूजा करते है,
राधा-कृष्ण उनके हृदय में बसते हैं.


जिस पर राधा को मान हैं,
जिस पर राधा को गुमान हैं,
यह वही कृष्ण हैं जो राधा
के दिल हर जगह विराजमान हैं.
Radha Krishna Bhakti Shayari in Hindi


प्रेम की भाषा बड़ी आसान होती हैं.
राधा-कृष्ण की प्रेम कहानी ये पैगाम देती हैं.


Radha Krishan Messages

Radha Krishna Prem Shayari

यदि प्रेम का मतलब सिर्फ पा लेना होता,
तो हर हृदय में राधा-कृष्ण का नाम नही होता.


संसार के लोगो की आशा न किया करना,
जब-जब मन विचलित हो, राधा-कृष्ण नाम लिया करना।


राधा-कृष्णा ही प्रेम की सबसे अच्छी परिभाषा है,
बिना कहे जो समझ में आ जाए, प्रेम ऐसी भाषा है.
Radha Krishna Shayari


राधा-कृष्ण का मिलन तो
बस एक बहाना था,
दुनिया को प्यार का
मतलब समझाना था.


कितना भी धन-दौलत पा लो
पर भूख नहीं मिटटी तृष्णा की,
उसको जीवन का सारा धन मिल जाता है
जो भक्ति करें राधा के कृष्णा की.


दरबार हजारों देखे है, पर ऐसा कोई दरबार नहीं
जिस गुलशन में तेरा नूर न हो, ऐसा तो कोई गुलजार नहीं।


Radha Krishan Shayari 2020

Best Radha Krishna Shayari

राधा की हृदय में श्री कृष्ण,
राधा की साँसों में श्री कृष्ण,
राधा में ही हैं श्री कृष्ण,
इसीलिए दुनिया कहती हैं
राधे-कृष्ण राधे-कृष्ण
Radha Krishna Shayari


वह हृदय होता है ख़ास,
जिसमें बसते है राधा संग श्याम।
Radha Krishan Shayari


जब प्रेम का सुरूर मेरे दिल पर छाता है,
मेरा हृदय चारों तरफ राधा-कृष्ण को ही पाता है.


कभी राम बन के कभी श्याम बन के
चले आना प्रभु जी चले आना हमारे हृदय में,
जब राम रूप में आना माँ सीता को भी संग लाना
जब श्याम रूप में आना तो माँ राधा को संग लाना।


Krishan Bhakti Shayari in Hindi

श्याम तेरे मिलने का सत्संग ही बहाना है,
दुनिया वाले क्या जाने ये रिश्ता पुराना है.


कोई कह दो यशोदा से जाकर बातें अब बड़ी बनाने लगे है,
श्याम माखन चुराते-चुराते अब तो दिल भी चुराने लगे है.


तू समझ ये बंदे,
प्रभु तुझसे दूर नहीं,
भक्तों को कष्ट मिले,
ये हमारे कान्हा को मंजूर नहीं।
Krishna Shayari


हे अर्जुन के सारथी मुझको भी ऐसा ज्ञान दो,
तेरे प्रेम की ज्योति को जलाये रखू, ऐसा बरदान दो.
Kanha Shayari


नन्हा सा फूल हूँ मैं,
चरणों की धुल हूँ मैं,
आया हूँ तेरे द्वार
कान्हा मेरी पूजा करो स्वीकार।
Kanhaiya Shayari


पलकें झुकें और नमन हो जाए,
मस्तक झुके और बंदन हो जाए,
ऐसी नजर कहाँ से लाऊँ मेरे कान्हा
कि आपको याद करूँ और दर्शन हो जाए.


इसे भी पढ़े –