पति – पत्नी जोक्स

वाइफ: मैं तुमसे नाराज़ हूँ.
हस्बैंड: अब, मैंने क्या कर दिया?
वाइफ: तुमने Sorry बोलकर, मेरे झगड़े के Mood का सत्यानाश कर दिया.


लड़ाई होने के बाद, पति नाराज़ होकर पत्नी से बात नही कर रहा था.

वाइफ – अब मैं 5  तक गिनूँगी. अगर तुम नही बोले तो… मैं ज़हर खा लुंगी!!!

वाइफ – 1,2,3,4….
हस्बैंड – खामोश!!

वाइफ – 4…. पति, फिर भी चुप!!
वाइफ – बोलो न प्लीज, पत्नी का रोना शुरू!!!

हस्बैंड – गिनती गिन… गिनती!!!

वाइफ – शुक्र है!! आप बोले तो!!  नहीं तो ,मैं ज़हर खाने ही वाली थी!!


वाइफ – इस बार आप वेलेनटाइन डे पर मुझे क्या गिफ्ट दोगें.

हस्बैंड – सफेद गुलाब  (White Rose)

वाइफ – लेकिन आप वेलेनटाइन डे पर, मुझे लाल गुलाब देते हो

हस्बैंड – भाग्यवान पहले मैं तेरे से प्यार की आशा रखता था, परन्तु अब शान्ति की आशा रखता हूं ❗


हस्बैंड: अजी सुनती हो ?

वाइफ:  नहीं, मैं तो जनम कि बहरी हूँ ।बोलो?

हस्बैंड:  मैंने ऐसा कब कहा ?

वाइफ: तो अब कह लो, पूरी कर लो एक साथ, कोई भी हसरत अगर अधूरी रह गयी हो।

हस्बैंड: अरी भाग्यवान!!

वाइफ:  सुनो एक बात…. आइन्दा मुझे भाग्यवान तो कहना मत , फूट गए नसीब मेरे तुमसे शादी करके और कहते हो भाग्यवान हूँ ।

हस्बैंड: एक कप चाय मिलेगी?

वाइफ: एक कप क्यों?
लोटा भर मिलेगी और सुनो किसको सुना रहे हो ?
मैं क्या चाय बना के नहीं देती ?

हस्बैंड: अरे यार कभी तो सीधे मुह बात…

वाइफ: बस …. आगे मत बोलना ,नहीं आता मुझे सीधे मुँह बात करना।
मेरा तो मुँह ही टेढ़ा है , यही कहना चाहते हो ना ?

हस्बैंड: हे भगवान!!

वाइफ: हाँ … माँग लो भगवान जी से एक कप चाय ।
मै चली नहाने, और सुनो मुझे शैम्पू भी करना है देर लगेगी।
बच्चों को स्कूल से ले आना मेरे अकेले के नहीं हैं ।

हस्बैंड: अरे ये सब क्या बोलती हो ?

वाइफ: क्यों झूठ बोल दिया क्या ?
मैं क्या दहेज़ में ले कर आयी थी इनको ?

हस्बैंड: अरे मैं कहाँ कुछ बोल रहा हूँ ?

वाइफ: अरे मेरे भोले बाबा, तुम कहाँ बोलते हो ?
मैं तो चुप थी।
बोलना किसनेशुरू किया ?
बताओ …?

हस्बैंड: अरे मैंने तो एक कप चाय मांगी थी।

वाइफ: चाय मांगी थी या मुझे बहरी कहा था ?
क्या मतलब था तुम्हारा ?
“अजी सुनती हो ?”का क्या मतलब था बताओगे ?

हस्बैंड: अरे श्रीमती जी।
कभी तो मीठे से बोल लिया करो।

वाइफ: अच्छा…?.
मीठा नहीं बोली मैं कभी  ?
तो ये दो दो नमूने क्या पड़ोसी के हैं. ?
देख लिया है बहुत मीठा बोल कर।
बस अब और मीठा बोलने कि हिम्मत नहीं है मेरी।

हस्बैंड: भूल रही हो मैडम ।

वाइफ:क्या भूल रही हूँ..?

हस्बैंड: अरे मुझे बात तो पूरी करने दो।
मैं कह रहा था कि पति हूँ तुम्हारा।

वाइफ: अच्छा ….. मुझे नहीं पता था।
सूचना के लिए धन्यवाद।

हस्बैंड:अरे नहीं चाहिए मुझे तुम्हारी चाय।
बक बक बंद करो।

वाइफ:अरे वाह!! तुम्हे तो बोलना भी आता है ? बहुत अच्छे
चाय  पी के जाओ।
बाद में नहा लूँगी।

हस्बैंड:गज़ब हो तुम भी।
पहले तो बिना बात लड़ती हो फिर बोलती हो पी के जाओ।

वाइफ:तो क्या करूँ ?
तुम लड़ने का मौका कहाँ देते हो ?
लड़ने का मन करे तो क्या पड़ोस में लड़ने जाऊँ?

नोट:- वाइफ के अधिकारों का शोषण ना करें और उन्हें झगड़ने का मौका अवश्य दें।


हस्बैंड‬: मेरी जिंदगी इतनी प्यारी, इतनी खूबसूरत और इतना बढ़िया बनाने के लिए तुम्हारा शुक्रिया मैं आज जो भी हूं सिर्फ तुम्हारी वजह से हूं तुम मेरे जीवन में एक देवी बनकर आई हो और तुमने ही मुझे जीने का मकसद दिया है। आई लव यू …

वाइफ: ‘मार लिया चौथा पैग?  घर आ जाओ कुछ नही कहूँगी

हस्बैंड – गेट के बाहर खड़ा हूँ, गेट खोल दो.


हस्बैंड: कहां जा रही हो ?

वाइफ: सुसाइड करने

हस्बैंड : तो इतना मेकअप क्यों किया हुआ है?

वाइफ : अबे गधे ! कल न्यूज पेपर में फोटो आएगी न


हस्बैंड : अपनी नाराज पत्नी के मायके रोज कॉल करता हैं.

सास : कितनी बार कहा है??
आपको कि, वो नाराज है और कभी नही आएगी,
फिर क्यों कॉल करते हो??

हस्बैंड : सुनकर.. बड़ा अच्छा लगता है..!!!


वाइफ: वोडका पीने के बाद पूछा – तुम कौन हो?
हसबैंड : पागल हो गई हो क्या? अपने हसबैंड को भूल गई?
वाइफ : नशा हर गम को भुला देती है भाईसाहब!!!


पूजा के समय
वाइफ :- सुनो जी, आपको ‘आरती’ याद है न?
.
हस्बैंड :- हाँ … वो पतली सी, काली आँखों वाली, सुन्दर सी, जो चश्मा लगाने पर हीरोइन की तरह लगती हैं, वही न?
.

फिर पति की “आरती” हुई ।