अनाथ पर शायरी | Orphan Shayari Status in Hindi

Orphan Shayari Status Quotes Thoughts Image Photo in Hindi – इस आर्टिकल में अनाथ पर विचार दिए हुए है. इन्हें जरूर पढ़े।

Orphan Shayari in Hindi

कुछ लोग तो अपने ही घरों में
किसी अनाथ की तरह होते है,
वे बड़े ही खुशनसीब है जिनके
जिनके अपने उनके साथ होते है।


जैसे टूटी हुई डाली
के मुरझाये हए पत्ते,
सच पूछो तो ऐसे ही होते है
मासूम अनाथ बच्चे।


नींद भी चली गयी है साथ छोड़कर,
कलम भी जाना चाहे हाथ छोड़कर,
ऐ तन्हाई मुझे आदत हो गयी है तेरी
कहीं तू न चला जाना अनाथ छोड़कर।


Orphan Status in Hindi

- Advertisement -

अनाथ आश्रम में बच्चे मिलते है गरीबों के,
वृद्धाश्रम में माँ-बाप मिलते है अमीरों के।


घर के बुजुर्ग भी अनाथ महसूस करते है,
अगर बच्चों के पास बुजुर्गों के लिए वक्त ना हो।


आज कल लोग नफरत को औलाद की तरह,
और मोहब्बत को अनाथ की तरह पालते है.


पानी का संग छूट गया, मछली हुई अनाथ
जीवन मेरा उतना ही जितना तेरा साथ।


Orphan Quotes in Hindi

जीत के सौ बाप होते हैं
और हार अनाथ होती है।
जॉन एफ कैनेडी


प्रत्येक राजनेता को जन्म से
अनाथ होना चाहिए और
अविवाहित रहना चाहिए।
लेडी बर्ड जॉनसन


जिसने अपने पिता को
खो दिया हो उसे अनाथ कहेंगे,
जिसने अपने पति को खो
दिया हो उसे विधवा कहेंगे,
पर जिसने अपने मित्र को खो
दिया हो उसे क्या कहेंगे ?


कविता मौन का अनाथ है।
शब्द कभी भी उनके पीछे के
अनुभव के बराबर नहीं होते।
चार्ल्स सिमिक


मुझे लोगों के लिए अवसर पैदा करना पसंद है।
मुझे लगता है कि यह मेरी अनाथ मानसिकता है।
केविन मैक्कलम


अनाथ शायरी

तिनके को सहारा मिले,
कश्ती को किनारा मिले,
एक उम्मीद की किरण
अभी जिन्दा है दिलों में
कि हर अनाथ बच्चे को
घर एक प्यारा मिले।


जहाँ इंसानियत जिन्दा है,
वहां कोई अनाथ नहीं होता है,
जहाँ इंसानियत मर गयी है,
वहां हर कोई अनाथ होता है.


ईश्वर तो सबके साथ होता है,
ईश्वर तो सबके पास होता है,
ईश्वर का सबके सिर पर हाथ होता है
इस जहाँ में कोई नहीं अनाथ होता है।


Orphan Thoughts in Hindi

सड़कों पर रात की भीड़ देखकर
फुटपाथ पर बैठा अनाथ सोच रहा है,
वो लोग घर क्यों नहीं जाते है
जिनके पास घर है।


जो बीच में छोड़ दे
वो साथ कैसे,
जिसने ईश्वर को अपना मान लिया
वो अनाथ कैसे।


अनाथ मटमैले कपड़े पहने,
आँखों में आंसू लिए…
इंसानियत का इन्तजार कर रही थी
मगर आज भी उसके नसीब
में भूख ही आया।


इंसानियत की बातें तो सभी करते है,
लेकिन किसी अनाथ को अपने घर ले
जाने वाला और अपने बच्चे की तरह
पालने वाला भगवान से कम नहीं होता है.


छोड़ दिया उसे मैंने आज
जो मुझे नहीं समझ सका।
आज वो “अनाथ” हो गया
मेरे प्यार और विश्वास से।


Familty Anath Shayari

कैसे बीती थी बिन छत के रात ना पूछों,
यार उससे बचपन की कोई बात ना पूछों,
किसने किया था उसके साथ ये आघात ना पूछों
यार किसी अनाथ से कभी जात ना पूछों।


अनाथ पर विचार

अनाथ बच्चों के हृदय में
युद्ध समा जाता है,
हृदय को पत्थर बनने में
अधिक समय नहीं लगता।


वृद्धाश्रम और अनाथ आश्रम को
एक कर देना चाहिए। ताकि बच्चों को
माँ-बाप मिल जाएँ और माँ-बाप को
बच्चों को मासूम प्यार।


जब भी माँ-बाप के साथ बैठो
तो परमात्मा का धन्यवाद करो,
क्योंकि कुछ अनाथ लोग इन
लम्हों को तरसते हैं।


वो घर अनाथ आश्रम
से कम नहीं हैं,
जिस घर के बुजुर्ग
वृद्धाश्रम में रह रहे है.


इसे भी पढ़े –

Latest Articles