किस्मत शायरी स्टेटस कोट्स | Kismat Shayari Status Quotes in Hindi

Kismat Shayari

Destiny Kismat Naseeb Shayari Status Quotes Images in Hindi – इस पोस्ट में बेहतरीन 45+ किस्मत शायरी स्टेटस कोट्स कविता आदि दिए हुए हैं. इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े.

ऐसी मान्यता है कि इंसान की किस्मत ईश्वर के हाथ में होता है. और जो ईश्वर ने लिखा है वही होता है. परन्तु बहुत लोग ऐसे भी है जो किस्मत और नसीब के बहस में न पड़कर। अपने कर्म के द्वारा अपनी किस्मत और नसीब की कहानी को लिखते हैं. मेरा मानना है कि जो कर्म करता हैं किस्मत भी उसी का साथ देती हैं.

जिन्दगी के कुछ पहलू ऐसे भी होते हैं जहाँ कर्म नहीं किस्मत बाजी मारती है. शादी-विवाह के मामले में अक्सर देखने को मिलता है. जिसकी पत्नी विनम्र या अच्छे आचरण वाली होती है. उसका पति उतना ही क्रोधी और आचरणहीन होता हैं. प्रेम-प्रसंग में अक्सर जिसे हम अपनी जान से ज्यादा चाहते है. उससे कभी शादी नहीं कर पाते हैं.

जब अच्छा वक्त चलता है तो किस्मत या नसीब जैसी बातें तर्क हीन लगती हैं. और जब बुरा वक्त चलता हैं तो इसी तर्क हीन बात में तर्क नजर आने लगता हैं.

इस पोस्ट में बेहतरीन किस्मत शायरी, किस्मत स्टेटस, किस्मत पर अनमोल विचार, नसीब शायरी, नसीब स्टेटस, नसीब पर अनमोल विचार, मुकद्दर शायरी, मुकद्दर स्टेटस, मुकद्दर पर अनमोल विचार, Bad Kismat Shayari, Destiny Shayari , Destiny Quotes in Hindi , Kismat Shayari, Kismat Shayari 2 Lines , Kismat Shayari Facebook, Kismat Shayari in Hindi Font, Muqaddar Shayari , Naseeb Muqaddar Shayari, Naseeb Shayari आदि दिए हुए हैं.

Kismat Shayari

मुक़द्दर की लिखावट का एक ऐसा भी कायदा हो,
देर से किस्मत खुलने वालो का दुगुना फायदा हो.


किस्मत का रोना मैंने छोड़ दिया,
अपनी उम्मीदों को मैंने हौसलों से जोड़ दिया।
अंजलि सिंह


बिन लगाए पौधा फूल नहीं खिलता, फल नहीं मिलता,
वक्त से पहले और किस्मत से ज्यादा किसी को कुछ नहीं मिलता।


किस्मत शायरी

हाथों की लकीर, किस्मत और नसीब,
जवानी में ऐसी बातें लगती है अजीब।
कर्म करके तू लिख दे अपना नसीब
दुनिया भी कहे इंसान था वो अजीब।


कभी-कभी किस्मत भी कमाल कर देता है,
रोटी कमाने निकलों तो सिर पर ताज रख देता है.


बेकार मत समझना, दुआ की भी पड़ती है जरूरत,
कई बार सिर झुकाने से भी बदलती है किस्मत।


Bad Kismat Shayari

तकदीर बनाने वाले तुमने तो कोई कमी नहीं की,
अब किसको क्या मिला ये मुकद्दर की बात है.


अगर यकीन होता कि कहने से रुक जाएंगे,
तो हम भी हँसकर उनको पुकार लेते,
मगर नसीब को मेरे ये मंजूर नहीं था,
कि हम भी दो पल खुशी से गुजार लेते।


स्वार्थ भरे दोस्ती-रिश्ते-नाते को क्यों सजोता है?
सही वक्त बीत जाए तो किस्मत भी नहीं बदलता है.


Kismat Shayari 2 Lines

Kismat Shayari | Naseeb Shayari | Destiny Shayari in Hindi | Kismat Status in Hindi

किस्मत में नहीं था ये सोचकर
जिन्दगी भर खुद को तसल्ली देने से अच्छा है
कि जिंदगी भर किस्मत से लड़ा जाए.


तकदीर लिखने वाले एक एहसान कर दे,
मेरे दोस्त की तकदीर में मुस्कान लिख दे,
जिन्दगी में ना मिले कभी दर्द उनको,
तू चाहे तो उसकी किस्मत में मेरी जान लिख दे.


किस्मत जाग गयी मैं सोता रहा,
किस्मत भाग गयी मैं रोता रहा.


Kismat Shayari Facebook

किस्मत मात्र एक छलावा है कर्म के गीत गाओ,
हो गई सुबह ख्वाब छोड़ो हकीकत से आँख मिलाओ।


छत कहाँ थी नसीब में,
फुटपाथ को ही जागीर समझे
छालों से कटी हथेली,
हम किस्मत की लकीर समझे.


कुछ तेरी फ़ितरत में नहीं थी वफ़ादारी,
कुछ मेरी किस्मत में बेवफ़ाई थी,
वक़्त को क्या दोष दूँ,
वक़्त ने तो बस मुहोब्बत आजमाई थी.


Naseeb Shayari

न कोई किसी से दूर होता है,
न कोई किसी के करीब होता है,
प्यार खुद चल कर आता है,
जब कोई किसी का नसीब होता है.


प्यार की कली सबके लिए खिलती नहीं,
चाहने पर हर एक चीज मिलती नहीं,
सच्चा प्यार किस्मत से ही मिलता है,
और हर किसी को ऐसी तकदीर मिलती नहीं.


हूँ इश्क़ में हारी मैं,
पर रो नहीं सकती,
किस्मत की मारी मैं
तेरी हो नहीं सकती।
तुझे खो दूँगी एक रोज
इस पल खो नहीं सकती
तेरी आँखों में आँसू देकर
मैं चने से सो नहीं सकती।
गरिमा रानी


फर्क होता है खुदा और फ़क़ीर में
फर्क होता है किस्मत और लकीर में
अगर कुछ चाहो और न मिले तो समझ लेना
कि कुछ और अच्छा लिखा है तक़दीर में…


Muqaddar Shayari

Kismat Shayari | Naseeb Shayari | Kismat Status in Hindi | Destiny Shayari in Hindi

बदलता नहीं ये किस्मत,
कैसी है इसकी फितरत,
सोचता हूँ खरीद लू
पर लेता नहीं ये रिश्वत।


खुद में ही उलझी हुई है जो मुझे क्या सुलझायेगी,
भला हाथों की चंद लकीरें भी क्या किस्मत बताएगी।


पानी में डूब जाओ तो पानी का दोष क्या?
ठोकर लगे गिर जाओ तो पत्थर का दोष क्या?
जिन्दगी में कुछ कर न पाओ तो किस्मत का दोष क्या?


तुम मिले तो यूँ लगा,
हर दुआ कबूल हो गयी,
कांच सी टूटी क़िस्मत मेरी
हीरों का नूर हो गयी.


नसीब शायरी

जिन्दगी की राह पर चलते रहो मुसाफ़िर बनकर,
क्या पता नसीब से मिल जाए जिंदगी का हमसफ़र।


उदास मत हो,
जिन्दगी ही है,
कट जायेगी,
क़िस्मत ही है,
किसी दिन पलट जायेगी।


हाथ की लकीरें भी कितनी अजीब है,
कमबख्त मुट्ठी में तो है पर काबू में नहीं।


मेरी किस्मत में लिखा,
सब मिटता चला गया,
एक वो दूर क्या गया
हर सपना टूटता चला गया.


ये गम न होता तो कोई और गम होना था,
क्योंकि मेरे नसीब में लिखा रोना था.


Destiny Shayari

किस्मत अपनी अपनी है,
किसको क्या सौगात मिले
किसी को खाली सीप मिले
किसी को मोती साथ मिले


किस्मत बुरी या मैं बुरा,
इसका फैसला न हुआ,
मैं तो सबका हो गया,
मगर कोई मेरा न हुआ.


यूँ ही नहीं होती हाथ की
लकीरों के आगे उंगलियाँ,
खुदा ने भी किस्मत से
पहले मेहनत लिखी है.


Destiny Quotes in Hindi

Kismat Shayari | Naseeb Shayari | Destiny Shayari in Hindi | Kismat Status in Hindi

हर आईने की किस्मत में
तस्वीर नहीं होती,
हर किसी की एक जैसी
तकदीर नहीं होती,
बहुत खुश नसीब है वो
जिनके हाथों में मिलने के बाद
बिछड़ने की लकीर नहीं होती।


किस्मत ने तुमसे दूर कर दिया,
अकेलेपन ने दिल को मजबूर कर दिया,
हम भी जिंदगी मुँह मोड़ लेते मगर
तुम्हारे इंतजार ने जीने पर मजबूर कर दिया।


किस्मत से टकराने का
जिंदगी में मजा है यहीं,
ये मुझे जीतने नहीं देती
और मैं हार मानने वाला नहीं।


जिन्दगी में चुनौतियाँ
हर किसी के हिस्से में नहीं आती है,
क्योंकि किस्मत भी
किस्मत वालों को ही आजमाती है.


कुम्भकरण की तरह जब किस्मत सोता है,
तभी इंसान से जमकर मेहनत होता है.


Kismat Status in Hindi

प्यार हो तो किस्मत में हो,
वरना दिलों में तो सबके होता हैं.


वक्त और किस्मत पर
कभी घमंड मत करों,
क्योंकि सुबह उनकी भी होती है
जिन्हें कोई याद नहीं करता है.


किस्मत पर ऐतबार किसको है,
मिल जाए ख़ुशी तो इंकार किसको है,
कुछ मजबूरियाँ है मेर दोस्त
वरना जुदाई से प्यार किसको है.


यूँ ना कहो कि ये किस्मत की बात है,
मुझे बर्बाद करने में तुम्हारा भी हाथ है.


बिकने वाले और भी है जाओ जाकर खरीद लो,
हम कीमत से नहीं किस्मत से मिला करते है.


Naseeb Shayari

दीदार जो उनका हुआ,
आँखे नमाजी हो गयी,
रूठी थी जो किस्मत मेरी
पल में राजी हो गयी.
साकेत गर्ग


इस दुनिया में कौन कब कैसे कहाँ मिल जाए,
उम्मीद रखों क्या पता कब किस्मत खुल जाए?


Muqaddar Shayari

मोहब्बत मुकद्दर है कोई ख़्वाब नही।
ये वो अदा है जिसमें हर कोई कामयाब नही।
जिन्हें मिलती मंज़िल उंगलियों पे वो खुश है।
मगर जो पागल हुए उनका कोई हिसाब नही।


किस्मत ने कहा
आज से सब हुआ तेरा,
मैंने कहा
अभी मन नहीं भरा मेरा।


इसे भी पढ़े –