किसान आन्दोलन पर कविता | Kisan Andolan Kavita in Hindi

Kisan Andolan Kavita Poem in Hindi – इस आर्टिकल में किसान आन्दोलन पर कविता दी गई है. जिसमें किसानो के दर्द को बताने की आधी-अधूरी कोशिश की गई है. आशा करता हूँ कि आपको यह पोस्ट पसंद आएगा.

किसान आन्दोलन की वजह से ठंड में किसानों का सड़क पर होना और बेमौत मरना हृदय विदारक है. सरकार और नेताओं को किसानों के बात को माननी चाहिए. किसान आन्दोलन को जल्द से जल्द बंद करवाना चाहिए. ताकि किसी किसान की जान न जाएँ. सत्ता किसी किसान की खूनी न बन जाएँ. सियासत को यह हमेशा याद रखना चाहिए कि किसान के वोट के दम पर ही वो चुनाव जीत कर आते है.

Kisan Andolan Kavita in Hindi

आज के दौर में वही परेशान है,
जो मेहनत करने वाला किसान है.

सरकार वादे पर वादा कर रही है,
लेकिन किसान की किस्मत नही बदल रही है,
पक्ष हो या विपक्ष दोनों ही छल रही है,
यहाँ तो सरकार भी भगवान भरोसे चल रही है.

- Advertisement -

आज के दौर में वही परेशान है,
जो मेहनत करने वाला किसान है.

कर्ज के दबाव में किसान आत्महत्या कर रहा है,
किसान आन्दोलन के नाम पर बेमौत मर रहा है,
देश का किसान कागजों में खूब तरक्की कर रहा है,
अपने हक के लिए सड़कों पर ठंड में मर रहा है.

आज के दौर में वही परेशान है,
जो मेहनत करने वाला किसान है.

किसानों को यह खलता है,
सत्ता हमेशा उसे छलता है,
किसान परेशानी की आग में जलता है,
पर उनका किस्मत नही बदलता है.

आज के दौर में वही परेशान है,
जो मेहनत करने वाला किसान है.

तकलीफ और बेरोजगारी की मार सहते है,
लेकिन किसान के बेटे अब किसान नही बनते है,
सड़कों पर दूध देने वाली गाय भूख से मरती है,
सरकार सब कुछ देखकर भी कुछ नही करती है.

आज के दौर में वही परेशान है,
जो मेहनत करने वाला किसान है.

ना जाने कब किसानों की तरक्की होगी,
उनके बच्चों की बुनियादी जरूरते पूरी होंगी,
ना जाने कब किसानों के चेहरे पर मुस्कान होगी,
ना जाने कब किसानो की किस्मत धनवान होगी.


इसे भी पढ़े –

Latest Articles