दिल की बात शायरी | Dil Ki Baat Shayari

Dil Ki Baat Shayari

Dil Ki Baat Shayari – दिल की बातें थोड़ी अजीब सी होती हैं कभी ख़ुद ही समझ में नहीं आता है कि ये दिल सोच क्या रहा हैं और कर क्या रहा हैं. बचपन में ये दिल कितना खुश रहता हैं. बचपन वो एक रूपये मिलना और उसका टॉफ़ी ख़रीदना जितना खुश कर देता था. बड़े होने पर बड़े से बड़ी सफ़लता भी वो ख़ुशी देने में नाकाम हो जाती हैं.

अक्सर देखा जाए तो जिन्दगी में हमें खुशियाँ छोटी-छोटी चीजों से मिलती हैं पर हम किसी बड़ी चीज को पाने में खुद को दुखी किये हैं. जीवन में माँ-बाप और दोस्तों के साथ बिताएं पल सबसे ज्यादा ख़ुशी देने वाले और बेहतरीन पल होते हैं क्योंकि इनके साथ हम बड़ी आसानी से अपने दिल की बात को कह पाते हैं और समझा पाते हैं.

इस पोस्ट में बेहतरीन दिल की बात शायरी ( Dil Ki Baat Shayari ) दी गयी हैं. आशा करता हूँ आपको ये शायरी जरूर पसंद आयेंगे.

दिल की बात शायरी | Dil Ki Baat Shayri

दिल की बातें जुबां पर आने दो,
इश्क़ में दिल बहके तो बहक जाने दो.


दिल की बात अक्सर हम उन्हें बताते हैं,
जिन्हें ख़ुद से भी ज्यादा चाहते हैं.


मेरे दिल में, मेरे अहसासों में हो तुम यारा,
शायद इसलिए हम मिले है तुमसे दोबारा.


दिल की बात कोई जान न सका,
दिल का दर्द कोई पहचान न सका,
इक उम्मीद ही जीने का सहारा हैं
जो पल मुस्कुरा के जी लिया वही तुम्हारा हैं.


दिल के दर्द को लिखने लगा हूँ,
अब तो मैं बाजारों में बिकने लगा हूँ.


दिल की बात उसको बता न सका,
इश्क़ है उनसे कितना ये जता न सका.


बचपन में दिल साफ़ होता हैं,
इसलिए हर गलती माफ़ होता हैं.


दिल की बातें शायरी | Dil Ki Baatein Shayari

उसने दिल ऐसा तोड़ा,
दिल का एक टुकड़ा भी न छोड़ा,
धड़कनों को धड़कने के लिए.


समझदार होकर अब तो ख़ुद को भी समझाने लगे हैं,
अपनों से ही अपने दिल की बात छुपाने लगे हैं.


दिल की बातें यूं ही बताई नहीं जाती,
इश्क़ सच्ची हो तो छुपाई नहीं जाती.

Dil Ki Baatein

धड़कन से ज्यादा दिल के पास हो तुम,
खुदा की कसम मेरी जिन्दगी से भी खास हो तुम.


इसे भी पढ़े –