अँधेरा शायरी स्टेटस | Andhera Shayari Status Quotes in Hindi

Andhera Shayari Status Quotes Image Photo in Hindi – इस आर्टिकल में अँधेरा शायरी स्टेटस कोट्स इमेज फोटो आदि दिए हुए है।

अँधेरा पूरी दुनिया में हो तो उसे सूरज मिटाता है। अँधेरा घर में हो तो उसे चिराग या बल्ब मिटाता है। अँधेरा अगर हृदय में हो तो उसे ज्ञान मिटाता है। ज्ञान वह रौशनी है जो दुःख के अँधेरे में सूरज के उजाले की तरह काम करती है। जीवन में अन्धकार हो तो हौसला और धैर्य रख कर मेहनत करे। सफलता का सूरज जल्द ही उगेगा।

Andhera Shayari in Hindi

Andhera Shayari in Hindi
Andhera Shayari in Hindi | अंधेरा शायरी इन हिंदी

उम्मीदों की नजरें हौंसले पर टिकी है,
तुम में कोई तो ख़ास बात होगी,
अँधेरे को चीरकर, सूरज निकलेगा
आखिर कितनी लम्बी रात होगी।


रात के अँधेरे के डर कर
रोते भी है कुछ लोग,
सुबह पर यकीन रख कर
सोते भी है कुछ लोग।


- Advertisement -

खुदा वहां अँधेरा न कर जिस घर में उजाला न हो,
मत गिरा उस शख्स को, जिसे तूने संभाला न हो
दुनिया की हो ज्यादतियां, हो भले जुल्म-ओ-सितम,
बस कोई मेरी हालत पे तरस खाने वाला न हो।
साजन


Andhera Status in Hindi

Andhera Status in Hindi
Andhera Status in Hindi | अंधेरा स्टेटस इन हिंदी

जिंदगी की मुश्किलों में मैं रूका नहीं चलता रहा,
अँधेरा बहुत था पर जुगनू की तरह जलता रहा।


जलाओ दिए पर रहे ध्यान इतना
अँधेरा धरा पर कहीं रह न जाए।
गोपालदास “नीरज”


जब रोशनी अंदर हो
तो बाहर का अंधेरा डराता नहीं।
गौरव गुप्ता


जब जिंदगी में नफरतों का अँधेरा छंटेगा,
तभी तो दिलों में मोहब्बत का उजाला बढ़ेगा।


Andhera Quotes in Hindi

Andhera Quotes in Hindi
Andhera Quotes in Hindi | अंधेरा कोट्स इन हिंदी

आँखें खोलनी पड़ती हैं
रौशनी के लिए,
सिर्फ सूरज के निकलने से
अँधेरा नहीं जाता है।


रात कितनी भी काली हो,
सूरज की एक किरण उजाला भर देती है,
उसी तरह आशा की एक किरण
जीवन का अँधेरा दूर कर देती है।


नफरतों की परछाई से भी दूर रहना,
क्योंकि नफरत का अँधेरा खा जाता है
ख़ुशी के उजाले को।


अँधेरा शायरी

ले मशालें चल पड़े हैं लोग मेरे गाँव के ।
अब अँधेरा जीत लेंगे लोग मेरे गाँव के ।
कह रही है झोपडी औ’ पूछते हैं खेत भी,
कब तलक लुटते रहेंगे लोग मेरे गाँव के ।


अंधकार अपना कद बढ़ा रहा है,
पर मेरी भी इक जिद्द है,
अपने भीतर उजाला लिए चलूँगा
जहाँ तक मेरी हद है।


जमाने में रौशनी तो बहुत है,
फिर भी अँधेरा कम नहीं,
अंधेरों में चलने की आदत डाल ली जिसने
उसे जिंदगी में कोई गम नहीं।


Latest Articles