शिकायत शायरी स्टेटस | Complaint Shayari Status Quotes in Hindi

Complaint ( Shikayat ) Shayari Status Quotes Image Photo in Hindi – इस आर्टिकल में शिकायत शायरी स्टेटस कोट्स इमेज फोटो आदि दिए हुए है.

शिकायत उसी से करते है जिसे अपना समझते है, जिससे प्यार होता है और जिस पर विश्वास होता है. इस जहाँ में थोड़ी बहुत शिकायत हर किसी को रहती है. किसी को घर-परिवार से शिकायत है. किसी को इश्क़ से शिकायत है. किसी को खुद से शिकायत है. किसी को ईश्वर से शिकायत है. किसी को किस्मत से शिकायत है. फिलहाल यह भी जिंदगी का एक हिस्सा है. शिकायत पर बेहतरीन शेर और शायरी जरूर पढ़े.

Complaint Shayari in Hindi

Complaint Shayari in Hindi
Complaint Shayari in Hindi | कंप्लेंट शायरी इन हिंदी | शिकायत शायरी

उसको शिकायत थी हम से
कि कभी बाँधा नही हमने उसे खुद से
सबब मुझे छोड़ जाने का
बड़ा ही वाजिब बताया उसने।


जाने क्यों मेरा नसीब मुझसे खफा हो जाता है,
जिसको भी अपना मानो वो बेवफा हो जाता है,
मेरी नज़रों को रात से शिकायत क्यों ना हो,
सपना नहीं होता पूरा और सवेरा हो जाता है.


- Advertisement -

शिक़ायत है मुझसे, कि बदल गए हैं हम,
सच बताना, तुम अब भी वही हो क्या?.
माना कि दबी हूँ,जिम्मेदारीयों के बोझ तले,
तो तुम वक्त की जंजीर से बंधे नहीं हो क्या?


Complaint Status in Hindi

Complaint Status in Hindi
Complaint Status in Hindi | कंप्लेंट स्टेटस इन हिंदी | शिकायत स्टेटस

शिकायत करने से खामोश रहना बेहतर है क्योंकि
जब किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता तो शिकायत कैसी।


धूप तो धूप है इसकी शिकायत कैसी
अबकी बरसात मे कुछ पेड़ लगाना साहब


कभी मौका मिला तो हम क़िस्मत से शिकायत जरूर करेंगे,
क्यों दूर हो जाते हैं वो लोग जिन्हें हम टूटकर चाहते हैं.


जो मजा चुप रहने में है,
वो शिकायत करने में नहीं…!!


Complaint Quotes in Hindi

Complaint Quotes in Hindi
Complaint Quotes in Hindi | कंप्लेंट कोट्स इन हिंदी | शिकायत पर सुविचार

पत्थरों को शिकायत है
कि पानी की मार से टूट रहे है,
पानी को गिला है कि पत्थर
हमें खुल कर बहने नहीं देते।


मनुष्य आलोचना, तुलना
और शिकायत से जितना दूर
रहेगा, मन की शान्ति उतनी
ही समीप होगी।


बहुत से तरीके हैं
तुमसे शिकायत करने के
पर ना जाने क्यूं
मैंने चुप रहना ही चुना हैं.


Shikayat Shayari in Urdu

Shikayat Shayari in Urdu
Shikayat Shayari in Urdu | शिकायत शायरी इन उर्दू

दिल की तकलीफ़ कम नहीं करते
अब कोई शिकवा हम नहीं करते
जौन एलिया


कहने देती नहीं कुछ मुँह से मोहब्बत मेरी
लब पे रह जाती है आ आ के शिकायत मेरी
दाग़ देहलवी


आरज़ू हसरत और उम्मीद शिकायत आँसू
इक तिरा ज़िक्र था और बीच में क्या क्या निकला
सरवर आलम राज़


शिकवा कोई दरिया की रवानी से नहीं है
रिश्ता ही मिरी प्यास का पानी से नहीं है
शहरयार


हाँ उन्हीं लोगों से दुनिया में शिकायत है हमें
हाँ वही लोग जो अक्सर हमें याद आए हैं
राही मासूम रज़ा


Zindagi Se Shikayat Shayari

Zindagi Se Shikayat Shayari
Zindagi Se Shikayat Shayari | जिंदगी से शिकायत शायरी

वो एक जिस से दिल मिल जाए
वो ही मिला नहीं,
जो शिकायत है वो ख़ुद से है ज़िन्दगी
तुझ से कोई गिला नहीं।


किसी न किसी को
किसी न किसी से शिकायत रहेगी,
ये जिंदगी है जनाब,
मरते दम तक ये आदत रहेगी।


सरे-आम ​मुझे ​
ये शिकायत है ज़िन्दगी से​,​
क्यूँ मिलता नहीं
मिजाज़ मेरा किसी से।


शिकायत शायरी

हर पल मुस्कुराओ बड़ी खास है जिंदगी,
क्या सुख क्या दुःख बड़ी आस है जिंदगी,
ना शिकायत करो ना कभी उदास हो
जिंदा दिल से जीने का अहसास है जिंदगी.


लफ़ज़ हैं कुछ अनकहे, कुछ बात आधी है,
खूबसूरत खयालो की उनकी सौगात आधी है,
हम ख़ुद हैं परेशां अपनी बेबाक कलम से,
अफ़सुर्दा इश्क़ से उनकी शिकायत आधी है.


फक़त रेशम सी गांठे थी
जरा सा खाेल लेते तुम,
अगर दिल में शिकायत थी
जुबां से बोल देते तुम ।


शिकायत स्टेटस

कट गई उम्र उनकी हमारी शिकायत करते करते
मेरे जैसा कोई मिलता तो वो महोब्बत करते


कोई चराग़ जलाता नहीं सलीक़े से,
मगर सभी को शिकायत हवा से होती है.


उलझन तुझे क्या बताऊँ ऐ जिंदगी,
तेरे गले लगकर तेरी ही शिकायत करनी है.


Complaint Thoughts in Hindi

परमात्मा के सामने हमेशा
एक नवजात शिशु की तरह रहो।
किसी से कोई शिकायत नही फिर देखना।
परमात्मा कितना प्रेम करते है,
जिसकी अपने कभी कल्पना भी
नही की होगी.


शिकायत कम और धन्यवाद ज्यादा
करने से जीवन आसान हो जाता है.


इंसान को ईश्वर से
हमेशा शिकायत रहती है,
कि वो हमेशा साथ रहे…
पर उसके काबिल खुद को बनाना
इंसान हर दिन भूल जाता है.


Zindagi Shikayat Shayari

Zindagi Shikayat Shayari
Zindagi Shikayat Shayari | जिंदगी शिकायत शायरी

ना शिकवा करना
ना शिकायत करना,
ज़िंदगी इनायत है रब की
हो सके तो इबादत करना.


बदले बदले से हो जनाब
क्या बात हो गई,
शिकायत हमसे है या
किसी और से मुलाकात हो गई..!!


तुमसे शिकायत भी है
और “प्यार” भी है,
तेरे आने की उम्मीद भी नहीं
और “इंतजार “भी है.


Shikayat Shayari 2 Line

छोड़िए शिकायत शुक्रिया अदा कीजिए
जितना है पास उसका मजा लीजिए


इश्क़ है तो शिकायत न कीजिये,
और शिकवे हैं तो मुहब्बत न कीजिये।


शिकायत और दुआ मे जब एक ही शख्स हो ,
समझ लो इश्क करने की अदा आ गई तुमको।


आंखो को तेरी आदत है
तू मिले ना तो इन्हे शिकायत है..!!


Bhagwan Se Shikayat Shayari

बेवजह की बातों से डरते है लोग,
अपनों से ही हर वक़्त लड़ते है लोग,
जिंदगी में जब कुछ कर नहीं पाते है
तो हर वक़्त खुदा से शिकायत करते है लोग.


Rishte Shikayat Shayari

शिकायत लबों पर आने से पहले अश्क छलक जाते हैं,
आज भी कुछ ऐसे रिश्ते हैं जो यादों में दर्द भर जाते हैं.


रिश्ते में कुछ शिकायत बनी रहे तो ही बेहतर है,
चाशनी में डूबे रिश्ते भी बहुत वफादार नहीं होते।


निभाता नहीं कोई रिश्ते यहां मोहब्बत के,
और शिकायत सबको इश्क़ से होती है।


Dard Shikayat Shayari

दर्द लिखूँ तो तेरी शिकायत होती है
मोहब्बत लिखूँ तो मेरी नुमाईश होतीं है
वो लफ्ज़ तू खुद आकर लिख जा जिसमें ,
मुकम्मल इश्क की गुंजाइश होती है.


जिससे शिकायत है , उसी से मोहब्बत है
मानो जो दर्द है , वही दवा है.


Naseeb Shikayat Shayari

मुझे तुझसे कोई शिकवा या शिकायत नहीं,
शायद मेरे नसीब में तेरी चाहत नहीं,
मेरी तकदीर लिखकर खुदा भी मुकर गया
मैने पूछा तो बोला ये मेरी लिखावट ही नहीं.


ना किसी से शिकायत ना ही कोई गिला है
नसीब मे जितना था हमे वो मिला है


कभी शिकायत नहीं उस नसीब से,
जिसे जाना ही नहीं कभी करीब से.


हम तो शिकायत अपनों से करते थे
पर धोखेबाज तो अपना नसीब निकला.


Khuda Se Shikayat Shayari

मत करो शिकायत लोगों से कि
वज़ीर-ए-आज़म क्या करता है,
उठा हाथ “खुदा” के सामने और
देख, “खुदा” फिर क्या करता है.


जहाँ सुकून मिला सिर रख कर सो गए,
हमने ख़ुदा से कभी शिकायत नहीं की.


वो मेरी शिकायत भी करता है खुदा से
सज़ा में एक मुलाकात और माँगता है.


सोचता हूँ शिकायत करूँ उसकी ख़ुदा से
मगर वो ख़ुदा भी उसका चाहने वाला निकला।


Shikayat Chup Rehna Shayari

न लड़ना न झगड़ना,
न रोना न शिकायत करना,
सबसे खतरनाक संकेत है
रिश्तों में कड़वाहट का,
एक का हंसना,
दुसरे का चुप रहना।


इश्क़ होता तो यह जान लेते,
चुप रहना भी इक शिकायत है.


हम शिकायत नहीं करते चुप हो जाते है,
इसी कशमकश में हम खुश हो जाते है,
जो लोग चुप रहना नहीं सीखते है
तजुर्बा है मेरा एक दिन बूत हो जाते है.


जब कोई समझे ना तो चुप रहना
शिकायत करने से बेहतर होता है.


Narazgi Shikayat Quotes

ना ही है नाराज़गी, ना ही है बेरूख़ी
ना ही अब शिक़ायत बची कोई
ज़िन्दगी ने अब जाकर जाना
इस क़दर ग़ैर भी हो सकता है कोई।


तुमसे नहीँ कोई शिकायत,
क्या नाराजगी जताऊँ,
ख़ुद से ख़फा हूँ इन दिनो,
यह किस तरह बताऊँ.


खफा हों तो खुल के
नाराज़गी का इजहार करों,
यूं उधर मुंह फेर के
शिकायत ना हजार करों।


करनी थी शिकायत मगर इबादत हों गई
नाराज़गी थी मगर तेरी आदत हों गई।


Heart Touching Shikayat Shayari

Heart Touching Shikayat Shayari
Heart Touching Shikayat Shayari | हार्ट टचिंग शिकायत शायरी

इबादत कर लिया है,
तो फिर बगावत क्या करना,
जब मोहब्बत कर लिया है
तो फिर शिकायत क्या करना.


ऐसे दौर में रोने से
कोई पिघलता नहीं है,
शिकायत करने से
कोई बदलता नहीं है.


Shikayat Quotes in Hindi

जिंदगी को ख़ुशी से जीने
का एक ही तरीका है.
हमेशा मेहनत करते रहो
फिर शिकायत करने की
जरूरत नहीं पड़ेगी।


जब रिश्तों में नाराजगी और शिकायत
खत्म हो जाती है तो समझ लो कि वो
रिश्ता भीतर से मर चुका है.


इस दुनिया में सबसे खूबसूरत शिकायत एक छोटे से बच्चे की होती है. जब वो अपनों की शिकायत मासूमियत के साथ करते है तो लोग अपनी हंसी और ख़ुशी को छुपा नहीं पाते है. सबसे ज्यादा शिकायत लोग इश्क़ और मोहब्बत में करते है. मोहब्बत में की गयी शिकायतें भी कुछ हद तक मासूमियत से भरी होती है. एहसास ही जिंदगी होती है.

आशा करता हूँ यह लेख Complaint ( Shikayat ) Shayari Status Quotes Image Photo in Hindi आपको जरूर पसंद आया होगा। इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर साझा करें।

इसे भी पढ़े –

Latest Articles