बिल्ली की कविता | Cat Poem in Hindi

Cat Poem in Hindi

Cat Poem in Hindi ( Poem on Cat in Hindi – बिल्ली पर कविता ) – इस आर्टिकल में बेहतरीन बिल्ली की कविता और बिल्ली की शायरी दी गई है जरूर पढ़े.

गाँवों में घर पर बिल्ली के आने से लोग परेशान रहते है, क्योंकि वो खाने के सामग्री को जूठा कर देती है या खा लेती है. शहरों में बहुत से लोग बिल्ली को पालते है. बिल्ली से उनकी इतनी अच्छी दोस्ती हो जाती है कि उन्हें उसके साथ खेलना, बाते करना, खाना खिलाना और उसे साथ लेकर घूमने जाना बेहद पसंद आता है.

टॉम एंड जेरी ( Tom and Jerry ) चूहे-बिल्ली पर आधारित विश्व प्रसिद्ध कार्टून और कॉमेडी शोर्ट फिल्म है. जिसे बच्चे बड़े ही चाव से देखते है. इसमें बिल्ली और चूहे की नोक-छोक दिखाई गई है. बच्चों को चूहे और बिल्ली की कवितायें भी खूब पसंद आती है जो कि इस पोस्ट में दी गई है.

Cat Poem in Hindi

वहम था मेरा
या थी सच्चाई
उस कमरे में कुछ तो है भाई
तभी तो दिखी उसकी परछाई
पास जाने को आतुर हुआ
भय से मैं भी शातिर हुआ
चमेली मरी थी दो दिन पहले
कही आत्मा तो न भटकी शमशान से अकेले
मुझको तो अब श्लोक भी याद नहीं आता
पता नही बार-बार मन क्यों घबराता
मैंने अपना मन पक्का कर लिया
एक डंडा और साथ में माचिस को रख लिया
बढ़ाता गया कदम को मैं थाम के
टूटे फूटे ही सही, मन्त्र फिर निकले किताभी ज्ञान के
कमरे में जाकर दीपक जलाया
एक बिल्ली बैठी खिड़की पर
अरे उस बिल्ली ने मुझको डराया
फिर गुस्से से मैंने डंडा उठाया
हवा में उसे घुमा कर मार भगाया.


बिल्ली की कविता

मक्खी पर चूहा बैठा था,
चूहे पर बैठी थी बिल्ली,
उड़ते-उड़ते पहुँच गये वे
पल भर में ही दिल्ली.

दिल्ली वालो ने तीनो की
खूब उड़ाई खिल्ली
तीनो गुस्से से चिल्लाये
बोले ये दिल्ली बड़ी निठल्ली.

दिल्ली को हम कर देंगे
दो पल में पिल्ली-पिल्ली,
गिरा-गिरा कर विकेट धड़ा-धड़
उड़वा देंगे गिल्ली.

यह सुनकर दिल्ली वालो के
नीचे की जमीन हिल्ली,
डर के मारे दिल्ली वाले
बन गये भीगी बिल्ली.


बिल्ली पर कविता

काली काली गोल मटोल
मेरी बिल्ली बड़ी अनमोल
जब से घर में आई है
उधम खूब मचाई है.

बरनी नीचे, फैली दाल
किचन का हुआ है खस्ताहाल,
माँ कहती है इसे भगाओ
वापस घर में, न इसको लाओ.

देख के मोटा डंडा
भीगी बिल्ली बन जाती है,
म्याऊ म्याऊ कर
बिल्ली मेरी डर जाती है.


Poem on Cat in Hindi

बिल्ली बना रही जतन से खीर,
चूहे भी खाने को हो रहे अधीर,
बिल्ली मौसी, जाओ दिल्ली
कह चूहे उड़ाने लगे खिल्ली.

बिल्ली को आया बेहद गुस्सा,
उनपर दौड़ी ताने कसकर घूँसा
भागे चूहे अपनी जान बचा के
पर बिल्ली के कदम नही रुके.

धमाचौकड़ी चूहों ने खूब मचाई,
गिरी खीर पतीले से नीचे आई,
खीर-खीर की रट चूहों ने लगाई,
पर बिल्ली ने खीर अकेले खाई.
नवीन कुमार ‘नवेंदु’


Cat Song in Hindi

यह गीत फिल्म शराबी के एक गाने का हिस्सा है. जिसमें चूहे-बिल्ली पर कुछ बेहतरीन लाइन दिए है. जरूर पढ़े.

वन ओ’क्लॉक इन माय हाउस
थेर वॉस ए कैट ( There was a cat )
थेर वॉस ए माउस ( There was a mouse )
खेल रहे थे डंडा गिल्ली
चूहा आगे पीछे बिल्ली
चूहे को पड़ गए जान के लाले
बोला मुझको कोई बचा ले
चूहा आगे पीछे बिल्ली
पीछे बिल्ली चूहा आगे
चूहा आगे पीछे बिल्ली
पीछे बिल्ली चूहा आगे
चूहा आगे पीछे बिल्ली
पीछे बिल्ली चूहा आगे
हां!

बंद झरोका बंद थी खिड़की
बिगड़ी हुई थी हालत उसकी
मेरे पास था भरा गिलास
पि गया चूहा सारी व्हिस्की
कड़क के बोला कहाँ है बिल्ली
दुम दबाके बिल्ली भागी
चूहे की फूटी किस्मत जगी
दुम दबाके बिल्ली भागी
चूहे की फूटी किस्मत जगी
दुम दबाके बिल्ली भागी
चूहे की फूटी किस्मत जगी


इसे भी पढ़े –