रास्ते शायरी स्टेटस | Raste Shayari Status Quotes in Hindi

Raste Shayari Status in Hindi

Raste Shayari Status Quotes Image in Hindi – इस आर्टिकल में बेहतरीन रास्ते शायरी स्टेटस कोट्स इमेज आदि दिए हुए हैं. इन्हें जरूर पढ़े और शेयर करें.

जिन्दगी में मंजिल या कामयाबी पाने का एक रास्ता होता है जिस पर हर कोई चलता है. कुछ रास्ते ऐसे होते है जिन पर चलकर हम अपनी मंजिल तक पहुँचते है. कुछ रास्ते हमारी दिमाग में होते है जिनका अनुकरण करके भी अपनी मंजिल तक पहुचंते है. जीवन का दर्शन समझ पाना बड़ा ही मुश्किल है. शायद इस लाइन से आपको समझे में आये – “यदि रास्ते में दुःख मिलते है तो मंजिल पर आपको ख़ुशी मिलेगी, अगर रास्ते में सुख मिलते है तो मंजिल पर आपको दुःख मिलेगा.”

Raste Shayari

मंजिलें क्या है, रास्ता क्या है,
हौसला है तो फिर फ़ासला क्या है,
वो सजा देकर दूर जा बैठे
किस से पूछूँ की मेरी खता क्या हैं.


बड़े ही अजीब है ये जिंदगी के रास्ते,
अनजाने मोड़ पर लोग अपने बन जाते है,
मिलने की ख़ुशी दें या न दें,
मगर बिछड़ने का गम जरूर दे जाते हैं.


रिश्ते और रस्ते तब खत्म हो जाते है,
जब पाँव नहीं दिल थक जाते है.


Raste Status in Hindi

छोड़ दिया वो रास्ता जो मंजिल की ओर नहीं जाता था,
तोड़ दिया वो ख्व़ाब जो तन्हाई का एहसास दिलाता था.


ना वो मिलती है, ना मैं रूकता हूँ,
पता नहीं रास्ता गलत है या मंजिल.


काटे नहीं कटते है लम्हें इंतजार के,
नजरें बिठाए बैठे है रस्ते पे यार के.


Raste Shayari in Hindi

हर रास्ता एक सफर चाहता है,
हर मुसाफ़िर एक हमसफर चाहता है,
जैसे चाहती है चांदनी चाँद को
कोई है जो तुम्हें इस कदर चाहता है.


जिगर वालों का डर से कोई वास्ता नहीं होता,
हम वहाँ कदम रखते है जहाँ कोई रास्ता नहीं होता.


मुझ में ही नहीं, खुदा में भी फर्क है,
एक रास्ते पर रखा है, एक महँगे पत्थरों में दर्ज है.


Raste Quotes in Hindi

बिन सफर, बिन मंजिलों का एक रास्ता होना चाहता हूँ,
पूरी दुनिया को भूलकर, ख़ुद से वास्ता रखना चाहता हूँ.


कठिन समय में कायर बहाना ढूंढते है,
तो वही बहादुर कोई नया रास्ता ढूंढ़ते है.


ख़ुशी कोई मंजिल नहीं, ये तो रास्ता है,
हँसते-मुस्कुराते चलते जाओ, इसी में जीवन की दास्ताँ है.


Raste Shayari in Urdu

यहाँ किसी को कोई रास्ता नहीं देता
मुझे गिरा के अगर तुम सँभल सको तो चलो
निदा फ़ाज़ली


क्यूँ चलते चलते रुक गए वीरान रास्तो
तन्हा हूँ आज मैं ज़रा घर तक तो साथ दो
आदिल मंसूरी


सफ़र का एक नया सिलसिला बनाना है
अब आसमान तलक रास्ता बनाना है
शहबाज़ ख़्वाजा


हम आप को देखते थे पहले
अब आप की राह देखते हैं
कैफ़ी हैदराबादी


रास्ते शायरी

जब हमे धोखा मिला प्यार में
तो जीवन में उदासी छा गई,
सोचा था छोड़ देंगे इस रास्ते को
पर मोहल्ले में दूसरी आ गई.


बड़ी सी दुनिया में छोटे-छोटे रास्ते,
हम जी रहे है सिर्फ तेरे वास्ते.


रास्ते ख़ुद ही तबाही के निकाले हमने,
कर दिया दिल किसी पत्थर के हवाले हमने,
हमें मालूम है क्या चीज है मोहब्बत यारों
घर अपना जला कर किये हैं उजाले हमने.


Rasta Shayari

ख्वाहिशों का काफ़िला भी अजीब होता हैं,
वहीं से गुजरता हैं जहाँ रास्ता नहीं होता हैं.


अगर होता हैं इत्तेफ़ाक तो यूँ क्यों नहीं होता,
तुम रास्ता भूलो और मुझ तक चले आओ.


रास्ता शायरी

सफ़र में मुश्किलें आयें तो जुर्रत और बढ़ती हैं,
कोई जब रास्ता रोके तो हिम्मत और बढ़ती हैं.


एक रास्ता यह भी हैं मंजिलों को पाने का,
कि सीख लो तुम भी हुनर हाँ में हाँ मिलाने का.


धार के विपरीत जाकर देखिये,
जिन्दगी को आजमा कर देखिये,
आंधियाँ ख़ुद मोड़ लेंगी रास्ता
एक दीपक तो जला कर देखिये.


Raste Shayari in English

Chhod Diya Wo Rasta Jo Manzil Ki Or Nahi Jata Hai,
Tod Diya Wo Khwab Jo Tanhai Ka Ehsas dilata Hai.


Khwahishon Ka Kafila Bhi Ajeeb Hota Hai,
Wahi Se Guzarta Hai Jahan Rasta Nahi Hota Hai.


Badi Si Duniya Me Chhote-Chhote Raste,
Hum Jee Rahe Hai, Sirf Tere Waste.


राह पर शायरी

हमसफ़र कोई होता तो हम भी बाँट लेते दूरियाँ,
राह चलते लोग भला क्या समझेंगे मेरी मजबूरियाँ.


राह मिलेगी जरूर पहले तू भटक तो सही,
घर से निकल कर किसी मोड़ पर तू अटक तो सही.


राह में खतरे भी है लेकिन ठहरता कौन है,
मौत कल आती है आज आ जाए डरता कौन है,
तेरे लश्कर के मुकाबिल मैं अकेला हूँ
मगर फैसला मैंदान में होगा के मरता कौन है.


राह शायरी

राह यूँ मुझ से न मोड़ो
सफर को अधूरा न छोड़ो,
जो किया था वादा तुमने
वादे को इस कदर न तोड़ो.


राह तकते हुए जब थक गई मेरी आँखें,
फिर तुझे ढूँढने मेरी आँख के आँसू निकले.


राह सीधी ही होती है,
मोड़ तो सारे मन के है.


प्यार की राह में,
इश्क़ की चाह में,
एक दिन जरूर होंगे,
अपने महबूब की बाँह में.


Rasta Shayari in Hindi

मार ठोकर पहाड़ों को
बना के रास्ता निकला जा,
सोने सा चमक उठेगा,
थोड़ा सा मेहनत की आग में जल जा.


दोस्त, किताब, रास्ता और सोच
गलत हो तो गुमराह कर देते है.


अपने कदमों के निशान मेरे रास्ते से हटा दो,
कहीं ये ना हो कि मैं चलते-चलते तेरे पास आ जाऊं.


सोचने से कहाँ मिलते है तमन्नाओं के शहर,
चलना भी जरूरी है मंजिल को पाने के लिए.


रास्ता इश्क़ का चुना तो है,
देखिये जान कब निकलती है.


इसे भी पढ़े –