Hanuman Shayari | हनुमान शायरी

Hanuman Shayari in Hindi – इस पोस्ट में भगवान हनुमान जी पर शायरी दे गई हैं. इसे जरूर पढ़े और अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे. इस शयरी को आप Hanuman Jayanti के शुभ अवसर पर सबको भेजें.

Hanuman, Hanuman Jayanti Shayari | हनुमान, हनुमान जयंती शायरी

सब के राम तपस्वी राजा,
तिनके काज सकल तुम साजा,
और मनोरथ जो कोई लावै,
सोई अमित जीवन फल पावै.


राम का हूँ भक्त मैं, रूद्र का अवतार हूँ
अंजनी का लाल हूँ मैं, दुर्जनों का काल हूँ
साधुजन के साथ हूँ मैं, निर्बलो की आस हूँ
सद्गुणों का मान हूँ मैं, हां मैं हनुमान हूँ.


हनुमान है नाम महान,
हनुमान करे बेडा पार,
जो जपता हैं नाम हनुमान,
होते सब दिन एक समान.


पवनतनय संकट हरन, मंगल मूरति रूप
राम लखन सीता सहित, हृदय बसहु सुर भूप.


मेरे तन मन में राम हैं,
मेरे रोम-रोम में राम हैं,
मेरे मन में भी
राम का ही नाम हैं.


जय हनुमान ज्ञान गुन सागर,
जय कपीस तिहूँ लोक उजागर,
राम दूर अतुलित बल धामा,
अंजनिपुत्र पवन सूत नाम.


सहनकर सुवन केशरी नन्दन,
तेज प्रताप महा जग वन्दन,


भूत-पिशाच निकट नही आवै,
महावीर जब नाम सुनावै,
नासै रोग हरै सब पीरा,
जपत निरंतर हनुमत बीरा.


सुबह-सुबह ले हनुमान जी का नाम,
सिद्ध करेंगे तुम्हारे सब काम.